अब यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्टे्रशन कार्ड बनना शुरू

अब यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्टे्रशन कार्ड बनना शुरू

By: Virendra Rathod

Updated: 01 Mar 2020, 12:42 PM IST

नीमच। आरटीओ विभाग अब यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस-रजिस्ट्रेशन कार्ड बनाने जा रहा है, जिसके बाद वाहन चेकिंग में अब ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन का रजिस्ट्रेशन कार्ड स्कैन करते ही जांच अधिकारी को पता चल जाएगा कि गाड़ी चोरी की तो नहीं है। वहीं यह भी जानकारी मिल जाएगी कि वाहन चालक का कितनी बार चालान कट चुका है।

आरटीओ विभाग में नई व्यवस्था के तहत यूनिफाइड ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन रजिस्ट्रेशन कार्ड बनेंगे। जिसमें आवेदक की आयु प्रमाण पत्र के तौर पर दसवीं की अंकसूची, आधार कार्ड, पासपोर्ट में से काई एक दिखाना होगा। पते के प्रमाण के लिए शासकीय दस्तावेज, बिजली बिल या पासपोर्ट जरूरी होगा। शुरू की गई नई व्यवस्ािा में आवेदक को मूल दस्तावेज लेकर आने होंगे। यूनिफाइड व्यवस्था में वाहन रजिस्ट्रेशन शुल्क दरें ७०० रुपए से एक हजार रुपए और लाइसेंस फीस एक हजार रुपए होगी। जबकि चार सौ रुपए में लाइसेंस का नवनीकरण किया जाएगा। यूनिफाइड कार्ड में लगी कॉपर चिप में ये भी दर्ज होगा कि वाहन कितना प्रदूषण फैलता है और चालक ने मृत्यु के बाद अंगदान करने का संकल्प पत्रक भरा है या नहीं। हादसे या जांच के अवसर पर कार्ड को मौके पर ही रीडर मशीन के जरिए स्कैन कर ट्रांसपोर्ट विभाग के एेप पर जानकारियों सहित पढ़ा जा सकेगा।

यह है पूरी प्रक्रिया
- नए वाहनों का रजिस्ट्रेशन 700 रुपए दस्तावेज शुल्क के साथ होगा। पेट्रोल दो पहिया वाहन की कुल कीमत का आठ प्रतिशत और डीजल पर दस प्रतिशत रजिस्ट्रेशन शुल्क होगा।
- चार पहिया नए वाहन का यूनिफाइड रजिस्ट्रेशन दस्तावेज शुल्क एक हजार ही रहेगा। चार पहिया वाहन पेट्रोल पर कीमत का आठ से १४ और डीजल वाहन पर दस से 16 फीसदी शुल्क रहेगा।
- नए ड्राइविंग लाइसेंस के लिए 200 रुपए शुल्क लगेगा। पक्का लाइसेंस ३०० रुपए दस्तावेज शुल्क एवं 300 रुपए दो पहिया श्रेणी का अनुमति शुल्क। चार पहिया के लिए 300 रुपए एवं भारी वाहन की क्षमता के हिसाब से ३०० रुपए प्रति श्रेणी दरें हैं। छात्राओं एवं महिलाओं के लिए ये निशुल्क है।

परसो से शुरू हो गई सेवा
यूनिफाइड सॉफ्टवेयर से लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की जानकारी देने के लिए अतिरिक्त काउंटर लगाया गया है। परसो से ही कार्ड के लिए आवेदन शुरू कर दिया गया है। जरूरी दस्तावेजों की सत्यापित फोटो कॉपी की मूल प्रतियों की जांच उपरांत प्रकरण मंजूर होंगे।
- विक्रम सिंह राठौर, आरटीओ नीमच।

Virendra Rathod Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned