धारदार छुरा लहराने वाले आरोपी को एक वर्ष का सश्रम कारावास

300 रुपए जुर्माने

नीमच/मनासा. न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी मनासा द्वारा आरोपी कमलेश को पेट्रोल पंप के सामने धारदार छुरा लहराने के आरोप का दोषी पाकर एक वर्ष के सश्रम कारावास एवं 300 रुपए जुर्माने से दंडित किया।
अभियोजन मीडिया सेल को एडीपीओ अरविंद सिंह ने बताया कि घटना लगभग 7 वर्ष पूर्व दिनांक 15 सितंबर 2013 को दोपहर 4 बजे मूंदड़ा पेट्रोल पंप ग्राम लोड़किया थाना मनासा की हैं। पुलिस थाना मनासा के एएसआई केएल दायमा सैनिक ओमकार लाल को साथ लेकर विभागीय कार्य हेतु ग्राम लोड़किया गए थे। तब रास्ते में मूंदड़ा पेट्रोल पंप के सामने आमरोड पर एक व्यक्ति अपने हाथ में धारदार छुरा लेकर प्रदर्शन कर रहा था। इससे जनता भयभीत हो रही थी। आरोपी को मय पंचान व पुलिस द्वारा घेराबंदी कर पकड़ा गया। छुरे के लाईसेंस के बारे में पूछा तो उसके पास लाईसेंस नहीं होने से उसके कब्जे से धारदार छुरे को जब्त कर व उसको गिरफ्तार कर उसके विरुद्ध थाना मनासा में अपराध क्रमांक 357/2013, धारा 25 आम्र्स एक्ट के अंतर्गत पंजीबद्ध कर शेष विवेचना उपरांत चालान मनासा न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। अभियोजन की ओर से अरविंद सिंह, एडीपीओ द्वारा न्यायालय में जप्तीकर्ता अधिकारी, पंचसाक्षी सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान कराकर अपराध को प्रमाणित कराकर दंड के प्रश्न पर तर्क दिया कि आरोपी सार्वजनिक स्थान पर अवैध रूप से हथियार अपने कब्जे में रखे हुए था। उक्त छुरे को लहराकर आम जनता को भयभीत कर रहा था। अगर उसे सही समय पर पकड़ा नहीं जाता तो कोई बड़ी घटना हो सकती थी। इसलिए आरोपी को कठोर दंड से दंडित किया जाए। न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी मनासा मनीष पांडेय द्वारा आरोपी कमलेश पिता मांगीलाल बावरी (30) निवासी मनासा जिला नीमच को धारा 25 आम्र्स एक्ट (अवैध हथियार रखना) में 1 वर्ष के सश्रम कारावास व 300 रुपए जुर्माने से दंडित किया।

Show More
Mukesh Sharaiya Bureau Incharge
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned