यहां रायल्टी चोरी का हो रहा खुला खेल

यहां रायल्टी चोरी का हो रहा खुला खेल

harinath dwivedi | Publish: Feb, 15 2018 01:05:07 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

जिम्मेदारों की आंख से काजल चुरा ले जा रहे टै्रक्टर संचालक

नीमच. राजस्थान में रेत खनन पर प्रतिबंध लगा हुआ है। नीमच जिले में रेत खनन नहीं होता। बावजूद इसके जिला मुख्यालय पर अवैधानिक रूप से ट्रैक्टरों के माध्यम से रेत बेची जा रही है। इसकी जानकारी प्रशासन को भी है, लेकिन आंखे मूंद बैठा है। जिम्मेदार कुंभकर्णीय नींद से जाग नहीं रहे हैं। रायल्टी चोरी का खुला खेल हो रहा है।

खनिज विभाग की उदासीनता के चलते जिला मुख्यालय पर ट्रैक्टर संचालक मनमानी कर रहे हैं। राजस्थान में रेत खनन पर रोक लगी है। बावजूद इसके जिला मुख्यालय पर ट्रैक्टर संचालक अवैधानिक रूप से रेत परिवहन कर रहे हैं। बिना रायल्टी चुकाए ट्रैक्टर संचालक रेत परिवहन कर शासन का चूना लगा रहे हैं।
खनन पर प्रतिबंध तो कहा से आ रही रेत!
चौकाने वाली बात यह है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद राजस्थान में रेत खनन पर रोक लगी है। बावजूद इसके जिला मुख्यालय पर बेरोकटोक ट्रैक्टरों के माध्यम से रेत का परिवहन हो रहा है। अब यह रेत आ कहा से रही है इस बारे में न खनिज विभाग और न ही जिला प्रशासन ने किसी प्रकार की जांच कराई है। आश्चर्य इस बात पर भी हो रहा है जिला मुख्यालय के सबसे व्यस्त मार्ग पर खड़े होकर अवैधानिक रूप से रेत बेची जा रही है। न इन ट्रैक्टर संचालकों के पास रायल्टी की रसीद है न ही रेत परिवहन से संबंधित किसी प्रकार के आवश्यक दस्तावेज। इतना होने के बाद भी खनिज विभाग कुंभकर्णीय नींद में सो रहा है। अवैधानिक रूप से बेची जा रही रेत पर रोक लगाने के लिए खनिज विभाग की ओर से केवल कागजी कार्रवाई की जाती है। इससे इनके हौंसले और बुलंद हो गए हैं।
हजारों रुपए की कर रहे रायल्टी चोरी
खनन पर रोक होने के बाद भी ट्रैक्टरों से जो रेत का परिवहन किया जा रहा है नि:संदेह अवैधानिक रूप से हो रहा है। पूर्व में प्रत्येक ट्रैक्टर से ८०० रुपए एक बार की रायल्टी वसूली जाती थी। जब से खनन पर प्रतिबंध लगा है वैध तरीके से रेत का परिवहन हो ही नहीं रहा है। ऐसे में कोई भी ट्रैक्टर संचालक रायल्टी का भुगतान भी नहीं कर रहा है। वर्ततान में एक ट्रैक्टर जिसमें १५० फीट रेत भरी है उसका साढ़े ७ से ८ हजार रुपए तक राशि ली जा रही है। ८० से ८५ फीट रेत के ४००० से ४२०० रुपए लिए जा रहे हैं। पहले १५० फीट रेत के ५५०० से ६००० और ८० फीट के २८०० से ३००० रुपए तक लिए जा रहे थे। इन बढ़े दामों से भी इस बात की पुष्टि होती है कि रेत का अवैधानिक रूप से खुलेआम परिवहन किया जा रहा है। इतना ही नहीं जिला मुख्यालय पर खड़े होकर खेत की बिक्री कर खनिज विभाग को चुनौती दी जा रही है।
जांच उपरांत करेंगे कार्रवाई
नीमच जिले में रेत का खनन नहीं होता है। ट्रैक्टर चालक रेत कहा से लेकर आ रहे हैं इसकी जांच कराएंगे। खुलेआम रायल्टी चोरी कर रेत बेचने पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।
- आदित्य शर्मा, एसडीएम नीमच

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned