बेटियों को बचाने पहियों पर मुहीम

बेटियों को बचाने पहियों पर मुहीम
NM2117.jpg

vikram ahirwar | Publish: May, 20 2017 11:57:00 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India




नीमच/रतलाम। शनिवार को बेटी बचाओ अभियान के तहत अफीम फैक्ट्री महाप्रबंधक ने एक बार फिर ट्रकों पर स्टीगर लगाकर अभिनव प्रयोग किया। इस विशेष अभियान के तहत लंबी दूरी पर राष्ट्रीय राजमार्गों पर चलने वाले करीब 500 ट्रकों पर बेटी बचाओ के संदेश लिखे स्टीकर मीणा दम्पति ने चस्पा किए।
    शनिवार को अफीम फैक्ट्री के महाप्रबंधक एचएन मीणा और उनकी पत्नी डा. हेमलता मीणा ने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 79 तथा मध्य प्रदेश के राज्यमार्ग 31 पर पहुंचकर करीब 500 ट्रकों पर बेटी बचाओ लिखे स्टीगर चस्पा किए। पिछले 10 वर्षों से जारी बेटियों को बचाने के मीणा दम्पति के विभिन्न अभियानों में से एक 'पहियो पर मुहीमÓ जनवरी 2016 से शुरू हुई थी। इसके पीछे मीणा दंपति का मकसद यह है कि ट्रक संपूर्ण देश में घूमते हैं और उनको बेटियों को बचाने का संदेश देने के लिए एक संदेश वाहक के रूप में उपयोग किया जा सकता है। इनकी इस मुहीम को देशभर में  अच्छी प्रतिक्रिया मिलने के बाद एचएन मीणा ने इस अभियान को अपनी पत्नी के साथ जारी रखने का फैसला लिया। विदित हो कि मीणा दम्पति पिछले 10 वर्षो से अपने वार्षिक वेतन में से एक महीने का वेतन बेटियों को बचाने और समाज में जनजागृति फैलाने के लिए खर्च कर रहे हैं। इस कार्य के लिए वे किसी से कोई चंदा नहीं लेते। अब तक बेटियों को बचाने की मुहिम के लिए मीणा दम्पति करीब 55 हजार किलोमीटर यात्रा कर देशभर में विभिन्न रूपों में अपना अभियान पिछले 10 वर्ष में चला रहे हैं। इसमें टॉपर बेटियों को सम्मानित करना, गरीब निर्धन बेटियों की पढ़ाई में मदद आदि शामिल है। इस मुहीम को मीणा दम्पति ने सोशल मीडिया के माध्यम से भी लोगो के साथ साझा करने व जनजागृति हेतु एक फेसबुक गु्रप और पेज 'अब जीने भी दो बेटियों कोÓ भी बनाया है। इससे देश विदेश के 58 हजार से ज्यादा लोग जुड़े चुके हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned