फोरलेन पर बच्चों से भरा स्कूल वाहन छोड़कर फरार हो गया चालक

फोरलेन पर बच्चों से भरा स्कूल वाहन छोड़कर फरार हो गया चालक

Subodh Kumar Tripathi | Publish: Jul, 20 2019 12:57:54 PM (IST) Neemuch, Neemuch, Madhya Pradesh, India

फोरलेन पर बच्चों से भरा स्कूल वाहन छोड़कर फरार हो गया चालक

नीमच/कनावटी. नई आबादी सगराना से स्कूल के बच्चे भरकर ले जा रहे टेम्पों की जोरदार भिड़ंत शुक्रवार सुबह फोरलेन पर तेज रफ्तार से जा रही कार से हो गई। दुर्घटना होते ही चालक मौके से फरार हो गया, ऐसे में ग्रामीणों द्वारा बच्चों को टेम्पों से निकाककर सुरक्षित परिजनों को सौंपा, वहीं कार में सवार लोग गंभीर रूप से घायल होने पर उन्हें उपचार के लिए भेजा गया।


ग्रामीण लखन धनगर ने बताया कि स्वामी विवेकानंद विद्या मंदिर सुवाखेड़ा में चंगेरा और सगराना के बच्चे पढऩे जाते हैं। जिसके चलते प्रतिदिन विद्यालय का स्कूल वाहन पहले चंगेरा फिर सगराना के बच्चों को लेकर गांव से करीब छह किलोमीटर दूर स्थित स्कूल पहुंचता है। धनगर ने बताया कि प्रतिदिन के अनुसार स्कूल का टेम्पों शुक्रवार सुबह करीब 9.15 बजे गांव से बच्चों को लेकर निकला और गांव के कच्चे रास्ते से होकर जैसे ही वह फोरलेन पर एक रोड क्रास कर दूसरे पर जाने लगा, उसी दौरान लापरवाही के चलते करीब 09.25 मिनट पर इंदौर की ओर से सांवरिया सेठ दर्शन के लिए तेज रफ्तार से जा रही अल्टो कार से जोरदार भिडं़त हो गई। दुर्घटना होते ही टेम्पों का चालक तुरंत भाग गया, उसने बच्चे भी नीचे नहीं उतरे। चूकि उस दौरान हम वहीं समीप स्थित चाय की दुकान पर खड़े थे तो हमने तुरंत बच्चों को टेम्पों से बाहर निकाला और परिजनों को फोन करके उनके सुपूर्द किया। हालांकि बच्चों को किसी प्रकार की गंभीर चोट नहीं आई। लेकिन अल्टो कार क्रमांक एमपी 09, सी क्यू, 9472 में सवार दो महिला, एक पुरूष और एक बच्चे को चोटें आई। जिन्हें सिर में चोटें आने के कारण उपचार के लिए एंबुलेंस की सहायता से अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं टेंपों को थाने ले जाया गया। उक्त टेंपों में करीब 10-11 बच्चे थे। ग्रामीणों ने बताया कि इस बारे में जानकारी देने के बाद भी विद्यालय स्टॉफ काफी देर बाद पहुंचा। यह तो अच्छा हुआ कि ग्रामीण उपस्थित थे, इस कारण मौके से बच्चो को सुरक्षित घर पहुंचा दिया गया। लखन धनगर ने बताया कि मेरी ३ साल की बच्ची भी टेंपों में थी, इस दौरान बच्चों को निकालने में रविंद्र सिंह, पदम धनगर, श्यामलाल मीणा आदि का सहयोग रहा।


चालक की लापरवाही आई सामने
उक्त दुर्घटना में चालक की लापरवाही साफ झलक रही है। क्योंकि उसे फोरलेन पर रोड क्रास करते समय काफी सवाधानी और सतर्कता बरतनी थी, लेकिन उसने लापरवाही करते हुए रोड क्रास किया, यह तो अच्छा रहा कि उस दौरान अन्य कोई वाहन नहीं निकल रहा था, अन्यथा यह दुर्घटना एक बड़े हादसे का रूप ले लेती। बताया जा रहा है कि दुर्घटना के बाद टेंपों चालक फोरलेन के बीच डिवाईडर पर ही बच्चों से भरा टेंपों छोड़कर भाग गया, ऐसे में कहीं दूसरा वाहन ठोककर चला जाता तो क्या होता। वाहन में करीब 3 से 5 साल के बच्चे बैठे हुए थे। दुर्घटना में कार भी काफी क्षतिग्रस्त हो गई।


स्कूल वाहन द्वारा रोड क्रास करते समय स्पीड में आ रही कार से टक्कर हो गई। जिसमें करीब 10-11 बच्चे थे, बच्चों को किसी को भी चोटें नहीं आई है। चालक द्वारा बच्चों को सुरक्षित निकाला गया, आसपास के लोगों ने भी मदद की, जिसके बाद ग्रामीणों के आक्रोश के चलते चालक निकल गया, चालक परफेक्ट है दोनों पक्षों की थोड़ी थोडी गलती की वजह से दुर्घटना हुई। लेकिन बच्चे सभी सुरक्षित हैं किसी को चोट नहीं आई।
-तुलसीराम मेघवाल, प्राचार्य

इस मामले में किसी भी पक्ष द्वारा कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई गई है। इस संबंध में कोई प्रकरण दर्जन नहीं किया गया है।
-अजय सारवाना, थाना प्रभारी कैंट

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned