देखें क्यों नगरपालिका ने काटे २०० से २००० के चालान

देखें क्यों नगरपालिका ने काटे २०० से २००० के चालान

harinath dwivedi | Publish: Feb, 15 2018 01:19:54 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

-स्वच्छता सर्वेक्षण में चंद दिनों की दूरी
-अंतिम दौर में नपा अमला जुटा दिन रात जी जान से

नीमच. स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर को नंबर वन बनाने के लिए जमीन से लेकर कागजों तक की तैयारी हो चुकी है। जो कमियां पिछले सर्वेक्षण में रह गई थी, उन्हें भी एक एक कर दूर कर लिया है। स्वच्छता सर्वेक्षण टीम जिन तीन पाईंटों पर सर्वे करेगी, उसमें नगरपालिका ने अपनी जिम्मेदारी पूरी कर ली है। अब शहरवासियों की बारी है, वे स्वच्छता टीम को जितना अच्छा फीडबैक देंगे। शहर उतने ही ऊंचे स्थान पर नजर आएगा।
बतादें की स्वच्छता सर्वेक्षण दिल्ली की टीम इस माह में २० फरवरी या उसके आसपास पहुंचने वाली है। टीम द्वारा जमीनी हकीकत, दस्तावेजों व आमजन का फीडबैक इन तीनों आधार पर सर्वेक्षण किया जाएगा। जिसके चलते नगरपालिका द्वारा सबसे अधिक ध्यान जमीनी हालात पर दिया गया है। जिसमें आधुनिक ट्रेचिंग ग्राउंड, दिन के साथ रात्रिकालीन सफाई, चप्पे चप्पे पर डस्टबीन, रात के समय सड़कों की सफाई के साथ धुलाई, कचरे व मंदिरों से निकले फूलों से खाद् बनाना, शहर के नाले से जलकुंभी निकालकर उससे भी विशेष प्रकार खाद् बनाना, ट्रेचिंग ग्राउंड पर कचरे की छटनी के लिए तीन विशेष प्रकार की मशीनें लगाना, शहर के तालाबों और पार्कों का सौंदर्यीकरण करना, शहर के प्रमुख सर्कलों को संवारना आदि कार्य किए गए हैं। इन सभी कार्याे के नियमितीकरण के चलते शहर भी स्वच्छता की कसौटी पर खरा उतर रहा है। जिससे यह उम्मीद की जा रही है कि निश्चित ही शहर इस बार स्वच्छता सर्वेक्षण की दौड़ में नंबर वन आएगा।
२५ किलो अमानक पॉलिथीन जब्त कर किया जुर्माना
नगरपालिका अमले द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण में नंबर वन आने के लिए जहां एक और शहर में दिन रात साफ सफाई की जा रही है। वहीं बुधवार को अमानक पॉलिथीन का उपयोग करने व बेचने वाले दुकानदारों पर चलानी कार्रवाई की गई।
इस अभियान के तहत नपा अमले ने शहर के घंटा घर, नया बाजार , फ्रूट मार्केट सहित अन्य प्रमुख पर छोटे बड़े दुकानदारों सहित थोक विक्रेताओं की दुकानों पर दबिश दी। जिसमें करीब १४ दुकानदारों के चालान बनाए गए।
जानकारी देते हुए ऋषि कलोसिया ने बताया कि बुधवार को पॉलिथीन प्रतिबंध के तहत चलाए गए अभियान में टीम के साथ शिव पार्चे, गोपाल नरवले, विक्रम खोकर व विकास सरसवाल द्वारा करीब ९ दुकानों पर पॉलिथीन का उपयोग करते पाए जाने पर २००-२०० रुपए के चालान बनाए, वहीं १ थोक विक्रेता का २ हजार रुपए का चालान व ४ दुकानदारों के ५००-५०० रुपए के चालान बनाकर करीब २५ किलो अमानक पॉलिथीन जब्त की गई। उन्होंने बताया कि इसी के साथ शहर के बगीचा क्षेत्र में अवैधानिक रूप से किए गए अतिक्रमण को हटाने के साथ ही जवाहर नगर में वीनू वाटिका में किए गए अतिक्रमण को भी हटाया गया।
नाश्ते की दुकानों पर होगी आज जांच
पॉलिथीन प्रतिबंध व अखबार में नाश्ता नहीं देने के चलते नाश्ते के दुकानदारों द्वारा पोहे, समोसे, कचौरी आदि के दाम ५ रुपए से बढ़ाकर सीधे १० रुपए कर दिए थे, जिसके पीछे उनका कहना था कि हम कपड़े की थैलियों का उपयोग करने सहित ही ऐसे कागज में नाश्ता देंगे, जो स्वास्थ्य और प्रकृति के लिए किसी प्रकार से नुकसान दायक नहीं होगा। लेकिन दाम बढ़ाने के कुछ ही दिन बाद दुकानदार पुराने ढर्रे पर ही आ गए, आज शहर की अधिकतर नाश्तों की दुकानों पर पॉलिथीन का उपयोग करने के साथ अखबार की रद्दी में ही नाश्ता परोसा जा रहा है। ऐसे में उपभोक्ता स्वयं को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। क्योंकि जिस कागज में नाश्ता नहीं देने की बात के चलते दाम बढ़ाए थे, उन्हीं कागजों और पॉलिथीन में नाश्ता दिया जा रहा है। इस संबंध में ऋषि कलोसिया ने बताया कि हमारी टीम गुरुवार को नाश्तों की दुकानों पर जांच करेगी, जहां लापरवाही पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।
वर्जन.
स्वच्छता सर्वेक्षण २०१८ में नंबर वन आने के लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम आने की कोई निश्चित तिथि नहीं है, लेकिन करीब २० फरवरी के आसपास टीम पहुंचेगी। वर्तमान में शहर की स्थिति स्वच्छता और सुदंरता के क्षेत्र में काफी बेहतर है। जिससे निश्चित ही शहर नंबर वन की दौड़ में अव्वल रहेगा।
-राकेश पप्पू जैन, अध्यक्ष, नगरपालिका

Ad Block is Banned