देखें क्यों मंडी के बाहर गुजारी अन्नदाता ने रात

देखें क्यों मंडी के बाहर गुजारी अन्नदाता ने रात

harinath dwivedi | Publish: Mar, 14 2018 01:52:42 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

- बंपर आवक के चलते सौ से अधिक किसानों को करना पड़ा इंतजार
- नीलामी के लिए एक से-दो दिन बिताना पड़ रहे मंडी में

नीमच. जैसे जैसे रबी सीजन की फसलें कट रही है। वैसे वैसे कृषि उपज मंडी में विभिन्न प्रकार की उपजों की बंपर आवक हो रही है। जिसके चलते मंगलवार को लहसुन सहित गेहूं, धनिया, सोयाबीन आदि उपजों की बंपर आवक रही, ऐसे में लहसुन की सबसे अधिक आवक आंकी गई। क्योंकि जहां मंडी के अंदर १५ से १७ हजार बोरी लहसुन के ढेर लगे थे, वहीं मंडी के बाहर भी १०० से अधिक लहसुन से लदे वाहन खड़े थे। ऐसे में किसानों को अपनी उपज खासकर लहसुन बेचने के लिए एक से दो रात मंडी में गुजारनी पड़ रही है।
बतादें की नई लहसुन, गेहूं, धनिया आदि उपज का उत्पादन किसान ने प्राप्त कर लिया है। किसान जैसे जैसे फसल काट रहे हैं। वैसे वैसे वे बेचने के लिए मंडी में पहुंचने लगे हैं। इस कारण वर्तमान में नीमच की कृषि उपज मंडी में बंपर आवक नजर आ रही है। क्योंकि किसान को फसल कटने के साथ ही मजदूर से लेकर अन्य लोगों को पैसे देने होते हैं, इस कारण वे ही किसान उपज कटने के बाद रोककर रख पाते हैं। जो किसान आर्थिक रूप से सक्षम होते हैं। लेकिन वे किसान उपज को कटते ही तुरंत बेचने पहुंचते हैं जो आर्थिक रूप से कमजोर होते हैं। क्योंकि उन्हें उपज की बोवनी करने से लेकर कटाई तक करने वाले मजदूरों को भुगतान करना पड़ता है।
एक सप्ताह पूर्व जैसे जैसे खेतों में उपज की कटाई शुरू हुई थी, वैसे ही कृषि उपज मंडी में आवक प्रभावित हो गई थी, लेकिन अब खेत खेत कटाई का काम चलने के कारण मंडी में उपज की बंपर आवक हो रही है।
मंगलवार की आवक पर एक नजर
उपज का नाम आवक बोरी में
लहसुन १८०००
धनिया ३०००
मैथी १२००
सोयाबीन ३०००
ईसबगोल १२००
कलौंजी ५००
रायड़ा १०००
औषधि १०००
प्याज १००० कट्टे
उड़द १०००
चना ५००
इस प्रकार सभी प्रकार की उपज की बंपर आवक होने के कारण कृषि उपज मंडी में मंगलवार को पैर रखने की जगह भी नजर नहीं आ रही थी, वहीं लहसुन मंडी के बाहर लहसुन से लदे वाहनों की कतार दूर तक नजर आ रही थी, ऐसे में शाम को लहसुन मंडी में लगे ढेर तुलने के बाद बाहर खड़े वाहनों को प्रवेश दिया गया। चूकि नीमच मंडी में मध्यप्रदेश सहित राजस्थान के दूर दराज के जिले से भी काफी संख्या में किसान अपनी उपज बेचने आते हैं। इस कारण जो किसान सोमवार देर रात नीमच पहुंचे उन्हें मंडी गेट के बाहर ही अपनी उपज लेकर मंडी में प्रवेश मिलने का इंतजार करना पड़ा, क्योंकि मंडी के अंदर लगे ढेर से लहसुन मंडी में भी पैर रखने की जगह नहीं बची थी। इसी के चलते किसानों को सोमवार रात तो मंडी के बाहर ही गुजारनी पड़ी, वहीं मंगलवार रात मंडी के अंदर, अब बुधवार सुबह उनकी लहसुन नीलाम होगी, तब जाकर वे बुधवार शाम तक नीमच से लौटेंगे।
हम सोमवार देर रात नीमच पहुंच गए थे, लेकिन मंडी के अंदर जगह नहीं बची थी, ऐसे में बाहर ही खड़ा होना पड़ा, मंगलवार दिनभर बाहर खड़े रहे, जिसके बाद शाम को मंडी प्रांगण खाली होते ही प्रवेश दिया गया। अब हमारी उपज बुधवार को ही नीलाम होगी।
-केसरीमल नागदा, झालावाड़
हम उपज लेकर मंगलवार अलसुबह आ गए थे, लेकिन जब देखा की मंडी के बाहर लहसुन से भरे वाहनों की कतार लगी है तो हम भी कतार के पीछे खड़े हो गए। दिनभर मंडी के बाहर ही निकाला, अब शाम को जाकर मंडी में प्रवेश मिला है तो निश्चित ही नीलामी बुधवार को होगी।
-लालसिंह धाकड़, टकरावद

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned