बाबा साहब के जीवन से लें प्रेरणा

बाबा साहब के जीवन से लें प्रेरणा

harinath dwivedi | Publish: Dec, 07 2017 01:35:52 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

अंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर जिले में विभिन्न आयोजन
अम्बेडकर प्रश्नोत्तर प्रतियोगिता प्रवीण मालवीय रहे टॉपर

नीमच. बाबा साहब अम्बेडकर का जीवन प्रेरणाओं से भरा रहा है। विपरित हालतों में भी उन्होंने संघर्ष कर देश को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ संविधान दिया। आज हमारा देश बाबा साहब अम्बेडकर के संविधान के बदौलत चल रहा है। वंचित वर्ग के लिए उन्होंने जो लड़ाई लड़कर हक अधिकार दिलाए प्रेरणा भरे हैं।
यह बात पुलिस अधीक्षक तुषारकांत विद्यार्थी ने कही। एसपी विद्यार्थी बरसते पानी के बीच अम्बेडकर सर्कल पहुंचे और अम्बेडकर प्रश्नोत्तर प्रतियोगिता के प्रतियोगियों का पुरस्कार वितरण किया। इस अवसर एसपी विद्यार्थी ने कहा बाबा साहब अम्बेडकर हमारे उन महापुरुषों में शामिल है जिन्होंने देश को शिखर तक पहुंचाया। अम्बेडकर प्रश्नोत्तर प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्रवीण नानूराम मालवीय ने प्राप्त किया। दूसरे स्थान पर मनोज नंदलाल मेघवाल और तृतीय स्थान पर कृति अनिलकुमार जैन रही। इनके अलावा दस टॉपटेन परीक्षार्थी चुने गए। इनमें कला रामलाल बोहरा, अरविंदकुमार श्रीराम मालवीय, मोहनलाल हुकमीचंद, पूरणचंद चेनराम बैरावा नवोदय, चेतन खींची, लोकेश सुरेश यादव, अजीत मालवीय, मनीष गोपाल लक्ष्कार, महिमा प्रहलाद डांगी, प्रवीण जगदीश कछावा, राधाराम पाल सोलंकी रहे। कार्यक्रम को अम्बेडकर विचार मंच के जिलाध्यक्ष रतनलाल निर्वाण, प्रतियोगिता संयोजक राकेश सोन, अजाक्स जिलाध्यक्ष राजू सोलंकी, जेएस कोड़ावत, प्रेमचंद्र कलोसिया, सूरजमल बैरवा और आरएल मालवीय ने भी संबोधित किया। प्रतियोगिता संयोजक राकेश सोन ने बताया कि दो चरणों में चली प्रतियोगिता में 984 परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया था। इसमें से तीन परीक्षार्थियों को प्रथम, द्वितीय और तृतीय चुनकर शिल्ड व नकद राशि से सम्मानित किया गया। टॉप टेन प्रतिभाओं को सात्वना पुरस्कार दिए गए। कार्यक्रम का संचालन रामलाल मालवीय ने किया। आभार प्रेमचंद्र कलोसिया ने माना।
बहुजन समाज पार्टी ने मनाया परिनिर्वाण दिवस
बहुजन समाज पार्टी ने बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर प्रतिमा पर माल्यार्पण कर नारों के साथ शिद्दत से याद किया। बाबा साहेब ने समता समानता बंधुत्व की भावना को ध्यान में रखकर 2 साल 11 माह 18 दिन में विश्व का सबसे बड़ा लिखित संविधान दिया। इस संविधान की प्रस्तावना हम भारत के लोग से प्रारंभ कर सर्वसमाज विशेषकर महिलाओं कमजोर वर्ग के साथ ही भारत देश की एकता अखंडता ध्यान में रखकर सुनियोजित तरीके से संसद और विधान मंडल की कार्यप्रणाली सर्वसमाज हित के लिए नियमित किया। डा. अम्बेडकर उस समय के सबसे ज्यादा डिग्रियों ओर उपाधियों प्राप्त करने वाले प्रथम भारतीय थे। हमेशा अगड़े पिछड़ों के हितों के लिए सक्रिय भूमिका निभाई। हिन्दू कोड बिल यानी की महिलाओं की आजादी के लिए बाबा साहेब को भारी विरोध का सामना करना पड़ा और दुखी मन से कानूनमंत्री से इस्तीफा दे दिया था। परिनिर्वाण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बसपा के माधवसिंह सिसोदिया राधेश्याम कमांडर, जिलाप्रभारी कृष्णचंद्र नरेला, कारूलाल मेघवाल, लक्ष्मण परमार, मनोहर सिनम आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।
कार्यक्रम की अध्यक्षयता जगदीश पेंटर जिलाध्यक्ष ने की।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned