जिला कलेक्टर के आदेशों के भी ऊपर रेत खनन माफिया की दंबगाई

जिला कलेक्टर के आदेशों के भी ऊपर रेत खनन माफिया की दंबगाई

By: Virendra Rathod

Updated: 29 Jun 2020, 08:50 AM IST

नीमच। शहर से मात्र 15 किलोमीटर दूर मोड़ी गांव के समीप खेड़ा गांव के नदी और खाल में अवैध रेत का खनन धड़ल्ले से चल रहा है। हालात यह है कि जिला कलेक्टर ने सभी प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों को जीरो टालरेंस पर रेत माफिया पर कार्रवाई करने के आदेश दे रखे है। लेकिन उसके बाद भी शहर के पास के गांव के नदी और खालो में अवैध रेत का खनन होने के बाद शहर में रेत बिकने के लिए पहुंच रही है और सड़क किनारे रेत की मंडी लग रही है। लेकिन इन सभी बातों से खनिज विभाग और पुलिस अनजान बनी हुई है। शहर के हर गुजरने वाले को यह अवैध कारोबार नजर आ रहा है, लेकिन प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की आंखे इस पर बंद है। वहीं गांव के कुछ दबंगो को न तो पुलिस का खौफ है और न ही खनिज अधिकारी डर उन्होंने बेखौफ होकर तालाब से रेत का खनन कर अपने खेत व घर के आगे काफ ी मात्रा में रेत एकत्रित कर ली है और दिनभर बाजार में सप्लाई करने लगे रहते हैं। पत्रिका ने पूरे मामले को अपने कैमरे में कैद कर स्टिंग किया है।

जिला कलेक्टर के आदेशों के भी ऊपर रेत खनन माफिया की दंबगाई

खेड़ा गांव के लोगों ने दबी जुबां में बताया कि गांव के कुछ गिनती के चार पांच दबंग है। जिन्होंने गांव के तालाब को हर तरह से खोखला कर दिया है। रेत और मिट्टी का अवैध खनन लगातार जारी है। जिसकी शिकायत सरवानिया महाराज चौकी और कलेक्टर कार्यालय पर दी गई है। लेकिन एक दो ट्रॉली रेत की जब्त करने के बाद फिर से रेत खनन शुरू हो गयाा हैै। फि र इन दंबगों से खुलकर कोई पंगा नहीं लेना चाहता है। इसीलिए सामने आकर विरोध नहीं करते हैं। हालात यह है कि रोजाना १५-२० ट्रोली रेत का यहां से सप्लाई कर रहें है। एक ट्रोली बाजार में चार से साढ़े चार हजार की बेच रहें हैं। जहां तालाब और खालक को नुकसान पहुंचा रहे है। वहीं राजस्व को लाखों का नुकसान पहुंचा रहें हैं। खासकर गांव के रेत खनन करने वाले दबंगों में मुकेश पिता फूलचंद बावरी, घनश्याम पिता मदन बावरी, कन्हैयालाल पिता रामनारायण बावरी, शौकिन पिता मोहन बावरी और अनिल पिता दिनेश बावरी है। जो कि लगातार गांव में धमकाकर अवैध रेत खनन कर बिकने के लिए शहर के बाजारों में पहुंचा रहें हैंं।

जिला कलेक्टर के आदेशों के भी ऊपर रेत खनन माफिया की दंबगाई

घरों और खेतों में अवैध खनन कर बना दिए रेत के टीले
बारिश आने के पहले लगातार गांव के इन दबंगों द्वारा लगातार खनन कर घर व खेतों में काफी मात्रा में रेत एकत्रित कर ली गई है। जिसे मौका पाकर रोजाना सुबह में ट्रोली भरकर बेचने को रवाना होतें हैं। खासकर गांव के मुकेश बावरीए रमेश सहित अन्य चार.पाचं का यही कारोबार है। जिनकी पुलिस से सांठगांठ होने के कारण इन पर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती है और खनिज विभाग ने अभी तक यहां पहुंचकर कोई सुध नहीं ली है।

एसडीएम और तहसीलदार करें कार्रवाई
रेत खनन में पुलिस का काम नहीं है, इसके लिए खनन विभाग और एसडीएम और तहसीलदार कार्रवाई करें है। उनके द्वारा ही जुर्माना बड़ा लगता है।
- रामपाल सिंह राठौर, प्रभारी सरवानिया चौकी

निश्चित कार्रवाई की जाएगी
अगर किसी भी प्रकार से कोई क्षेत्र में अवैध खनन कर रहा है तो निश्चिततौर पर कार्रवाई की जाएगी। मैं जानकारी लेकर कार्रवाई करवाता हूं।
- पीएल देवड़ा, एसडीएम जावद ।

Virendra Rathod Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned