तीन साल हो गए नहीं मिला मुआवज

तीन साल हो गए नहीं मिला मुआवज
Neemuch

vikram ahirwar | Publish: Apr, 18 2017 11:42:00 PM (IST) neemuch

हमेरिया बांध के डूब प्रभावितों ने किया प्रदर्शन, मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया


नीमच/रतलाम। विगत तीन वर्षों से मुआवजे और मूलभूत सुविधाओं की मांग कर रहे हमेरिया बांध के डूब प्रभावित ग्रामीणों ने मंगलवार को कलेक्टोरेट में जोरदार प्रदर्शन किया। प्रभावित ग्रामीणों का कहना था कि उन्हें हर बार आवेदन देने पर मुआवजे की कार्रवाई जारी होने का आश्वासन दिया जाता है, आखिर मुआवजा कब मिलेगा।

65 किसानों की डूब में आई भूमि
मंगलवार दोपहर लगभग 12 बजे हमेरिया बांध के डूब प्रभावित गावों के ग्रामीण कलेक्टोरेट में पहुंचे। हाथों में तख्तियां लेकर वे न्याय की मांग कर रहे थे। ग्रामीणों ने सरकारी लेतलाली के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान प्रभावितों ने कहा कि 65 किसानों की डूब में आई भूमि के मुआवजे की कार्रवाई चलने का आश्वासन विगत 3 वर्षों से दिया जा रहा है। प्रभावित ग्रामीणों के आवासीय क्षेत्र में पाइ पलाइन, टंकी, कुआं, रोड़, नाली, श्मसान जैसी मूलभूत सुविधाएं भी नहीं है।145 विस्थापित परिवारों को भी आधे अधूरे लाभ दिए गए हैं। जो भूखंड दिए गए वे भी परिवार के सदस्यों की संख्या के मान से छोटे हैं।

4 गुना मुआवजा मिलना चाहिए
जिन किसानों की जमीन डेम के किनारे है उनके खेतों में फसल नष्ट होती है लेकिन बीमा लाभ तक नहीं दिया जा रहा है। पूर्व में 23 मकान डूब में लिए गए थे, बाद में उन्हें डूब की श्रेणी से हटा दिया गया। उन मकानों की फिर से जांच कर डूब में शामिल कर मुआवजा दिया जाए। प्रभावित जिन किसानों को मुआवजा दिया गया है वह 2 गुना है जबकि नियमानुसार 4 गुना मुआवजा मिलना चाहिए। विस्थापितों के लिए न तो सामुदायिक भवन हैऔर न ही बच्चों के लिए खेलने का मैदान।इन गावों में कृषि भूमियां भी पूर्वमें सर्वे में शामिल की गई और बाद में हटा ली गई। कुछ किसानों की संपूर्ण भूमि डूब में चली गई। उन परिवारों के सदस्यों को रोजगार दिया जाए। किसानों ने कहा कि इस समस्या को लेकर लगातार जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन दिए जा रहे हैं, लेकिन कोईसुनवाईनहीं हो रही है।उन्होने चेतावनी दी कि यदि अब समस्या का निराकरण नहीं किया गया तो क्रमबद्ध आंदोलन किया जाएगा। ज्ञापन देने वालों में गोपाल गुर्जर, सुरेश मेघवाल, सुरेंद्रसिंह, रूपसिंह, हिम्मतसिंह, कारूलाल, हरिओम, कंवरलाल,अमरसिंह गुर्जर, शिवनारायण, नंदलाल सहित बड़ी संख्या में प्रभावित किसान शामिल थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned