यहां शासकीय जमीन पर अतिक्रमण कर लगा ली थी ट्यूबवेल

ग्राम पंचायत में अतिक्रमण पर चला 'पंजा'

नीमच. अतिक्रमण हटाओ मुहिम के तहत नीमच जिले में पहली बार किसी ग्राम पंचायत में अतिक्रमणकर्ताओं पर वृहद स्तर पर कार्रवाई की गई है। चौकाने वाली बात तो यह है कि शासकीय जमीन पर कब्जा कर लोगों ने शौचालय निर्माण करने के साथ ट्यूबवेल तक लगा लिए थे। ग्राम पंचायत ने वर्षों पुराने अतिक्रमण को जेसीबी की मदद से नेस्तनाबूत कर दिया।
पिछले एक पखवाड़े से थी क्षेत्र में हलचल
जिला मुख्यालय से लगी ग्राम पंचायत धनेरियाकलां में शनिवार को युद्ध स्तर पर अतिक्रमण हटाओ मुहिम चलाई गई। नगरपालिका सीमा से लेकर धनेरियाकलां पंचायत कार्यालय तक के मार्ग के दोनों ओर के अतिक्रमण पर जेसीबी का 'पंजा' चला। ग्राम पंचायत की ओर से सभी अतिक्रमणकर्ताओं को एक पखवाड़े पहले ही नोटिस थमा दिए गए थे। नोटिस मिलने के बाद से लोग दहशत में थे। प्रारंभ में विरोध तो किया, लेकिन सरपंच द्वारा स्थिति स्पष्ट किए जाने के बाद लोगों ने स्वत: पक्के अतिक्रमण हटाना शुरू कर दिए थे। टीनशेड आदि लोगों ने स्वयं खोल लिए थे। पक्के निर्माण तोडऩे के लिए ग्राम पंचायत कर्मचारियों को मशक्कत करना पड़ी।
किसी ने
शासकीय जमीन पर ट्यूबेल तक खोद लिए
जिला मुख्यालय से लगी ग्राम पंचायत धनेरियाकलां में सड़क के दोनों ओर करीब 10 से 12 फीट तक लोगों ने अतिक्रमण कर टीनशेड, शौचालय, पानी के टैंक यहां तक कि ट्यूबवेल तक लगा लिए थे। सड़क के दोनों ओर अतिक्रमण की वजह से चार पहिया वाहनों के आवागमन में काफी परेशानी होती थी। ग्राम पंचायत की ओर से सड़क दोहरीकरण करने की योजना पर भी काम किया जा रहा है। इसके तहत ही सड़क के दोनों ओर के अतिक्रमणकर्ताओं को नोटिस दिए गए थे। जिन लोगों ने सरकारी जमीन पर पानी के टैंक और शौचालय का निर्माण कर लिया था। उन्हें तोड़ दिया गया। कुछ लोगों ने अतिक्रमण कर पक्का मकान बना लिया था। नोटिस देने के बाद भी अतिक्रमण नहीं हटा रहा था। शनिवार को ग्राम पंचायत कर्मचारियों ने मकान को भी तोड़ दिया। करीब एक दर्जन से अधिक दुकानें भी अतिक्रमण हटाओ मुहिम की चपेट में आई। जिन लोगों ने सरकारी जमीन पर ट्यूबवेल खोद ली है उनके प्रति ग्राम पंचायत नर्म रुख अपना रही है। सरपंच ने स्वयं कहा कि लोगों जलस्त्रोत को प्रभावित नहीं किया जाएगा। जिले की पहली ग्राम पंचायत धनेरियाकला है जहां बिना राजनीतिक भेदभाव के बड़े स्तर पर अतिक्रमण तोड़े गए हैं।
एक किलोमीटर तक का अतिक्रमण किया साफ
ग्राम पंचायत धनेरियाकलां के कर्मचारियों ने नीमच नगरपालिका की सीमा से लगी सड़क के एक ओर से अतिक्रमण शनिवार सुबह 11 बजे से हटाना शुरू किया था। शाम 5.30 बजे तक अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई चली। इस दौरान मार्ग के एक ओर करीब एक किलोमीटर लम्बे हिस्से का अतिक्रमण हटाया गया। इसमें करीब 100 से अधिक दुकानें, मकान, शौचालय आदि को जेसीबी की मदद से तोड़ा गया। इस मार्ग पर 3 से 4 हजार रुपए वर्ग फीट जमीन की कीमत है। इस मान ने ग्राम पंचायत ने करोड़ों रुपए मूल्य की सरकारी जमीन से वर्षों पुराने अतिक्रमण हटाने में सफलता हासिल की। अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई रविवार को भी जारी रहेगी। जिस मार्ग से अतिक्रमण हटाया गया यह मार्ग नीमच को धनेरियाकलां, दुदरसी, भगवानपुरा, दारू, खेड़ादारू, अमावली महल, बिसलवासकलां खुर्द, बामनबर्डी, खेरमालिया, चेनपुरा सहित अंचल से सटे राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रों को जोड़ता है।
एक पखवाड़े पहले दिया था नोटिस
सड़क के दोनों ओर लोगों सरकारी जमीन पर लोगों ने कब्जा कर पक्का निर्माण कर लिया था। नगरपालिका सीमा से लेकर ग्राम पंचायत मुख्यालय तक डबल रोड बनाने का प्रस्ताव है। इसके तहत सड़क चौड़ी की जाना है। मार्ग के दोनों ओर के अतिक्रमणकर्ताओं को एक पखवाड़ा पहले नोटिस दिए गए थे। अधिकांश ने नोटिस के बाद अपने अतिक्रमण हटा लिए थे। जिन्होंने नहीं हटाए या कम हटाए थे उनके शनिवार को जेसीबी की मदद से हटा दिए गए। नीमच जिले में किसी भी ग्राम पंचायत द्वारा वृहद स्तर पर अतिक्रमण हटाने की यह पहली बड़ी कार्रवाई है। जल्द ही ग्राम पंचायत की जनता को उपस्वास्थ्य केंद्र की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी।
- देवकन्या निर्मल राठौर, सरपंच धनेरियाकलां

Show More
Mukesh Sharaiya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned