मानव अधिकार आयोग पहुंचा पीडि़त किसान

bhuvanesh pandya

Publish: Oct, 13 2017 10:02:47 (IST)

Neemuch, Madhya Pradesh, India
मानव अधिकार आयोग पहुंचा पीडि़त किसान

आप और कांग्रेस ने मोहनलाल धानुक का मामला रखा आयोग के समक्ष
बिना प्रकरण दर्ज किए १८ घंटे थाने पर बैठाया था किसान को

नीमच. जीरन तहसील के ग्राम कुचड़ोद के किसान मोहनलाल धानुक को कैंट थाने पर अकारण १८ घंटे बैठाकर रखने का मामला शुक्रवार को राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के समक्ष गूंजा। आयोग के समक्ष पीडि़त किसान के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव, पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन और आम आदमी पार्टी के जिला सहसंयोजक अशोक सागर इस दौरान उपस्थित थे। आयोग ने मामले को संज्ञान में लेते हुए उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।
समस्या उठाने पर किया था किसान का प्रताडि़त
विदित हो कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनांतर्गत खरीफ फसल बीमा दावा राशि के प्रमाण पत्र वितरण के लिए जिला मुख्यालय पर १९ सितंबर को हायर सेकेंडरी स्कूल क्रमांक २ परिसर में जिला स्तरीय किसान सम्मेलन में आयोजित किया गया था। सम्मेलन में जीरन तहसील के ग्राम कुचड़ोद के किसान मोहनलाल धानुक भी मौजूद थे। उन्होंने सम्मेलन में नीमच विधायक दिलीपसिंह परिहार के भाषण के दौरान सार्वजनिक रूप से खड़े होकर सम्मेलन में व्याप्त समस्याओं और फसल बीमा की राशि को लेकर आवाज बुलंद की थी। सार्वजनिक रूप से कार्यक्रम के बीच समस्या उठाने पर एसडीएम आदित्य शर्मा उसके समीप जाकर बैठ गए थे और उसे शांत कराया था। बाद में सादी वर्दी में आए पुलिसकर्मी मोहनलाल को अपने साथ बाईक पर बैठाकर ले गए थे। इसके बाद उसे कैंट थाने पर बिना प्रकरण दर्ज किया करीब १८ घंटे तक बैठाए रखा गया। २० सितंबर १७ को सुबह करीब पौने नौ बजे आम आदमी पार्टी के जिला सहसंयोजक अशोक सागर कैंट थाने पहुंचे और मोहनलाल को छुड़ाकर लाए थे। बिना किसी अपराध के किसान को १८ घंटे तक कैंट थाने पर बैठाकर रखने का मामला राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में छाया था।
शुक्रवार को आयोग से मिला पीडि़त किसान
शुक्रवार को नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के समक्ष पीडि़त किसान मोहनलाल धानुक अपने साथी तुलसीराम मेघवाल के साथ मिलने पहुंचे। आम आदमी पार्टी के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य नवीन अग्रवाल ने बताया कि मंदसौर संसदीय क्षेत्र की पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन ने पीडि़त किसान का मुद्दा राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के समक्ष रखने के लिए समय लिया था। इसके लिए उन्होंने पीडि़त किसान मोहनलाल धानुक को साथ ले जाने की बात कही थी। धानुक ने कहा था कि मुझे आशोक सागर ने थाने से छुड़ाया है। यदि आप के पदाधिकारी साथ जाएंगे और आयोग के समक्ष मेरे पक्ष में बयान देने का उन्हें अवसर मिलेगा तो मैं दिल्ली जाने का तैयार हूं। इसके बाद गुरुवार को नीमच से कांग्रेस जिलाध्यक्ष नंदकिशोर पटेल, जीरन के वरिष्ठ कांगे्रस नेता तरूण बाहेती, आप के अशोक सागर, तुलसीराम मेघवाल आदि दिल्ली के लिए रवाना हुए थे। वहां शुक्रवार सुबह पूर्व सांसद नटराजन और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव के साथ पीडि़त किसान मोहनलाल धानुक ने आयोग के समक्ष अपने बयान दर्ज कराए।
ेसुनवाई नहीं हुई तो यहां आना पड़ा
राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के सदस्य शरदचंद्र सिन्हा के समक्ष उपस्थित हुए पीडि़त किसान मोहनलाल धानुक की ओर से उन्हीं के गांव के किसान और आप के पदाधिकारी तुलसीराम मेघवाल ने पक्ष रखा। मेघवाल ने बताया कि पुलिस ने बिना अपराध के मोहनलाल को १८ घंटों में कैंट थाने पर बंद करके रखा गया। यहां तक परिजनों से बात तक नहीं करने दी गई। अपने साथ हुई घटना को लेकर संबंधित पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई के लिए आवेदन भी दिए थे, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई। यहां तक कि 'आपÓ की ओर से प्रदेश और राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग, मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को भी किसान उत्पीडऩ के संबंध में लिखित शिकायत रजिस्टर्ड डाक से भेजी गई थी। फिर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके उलट पुलिस प्रशासन को क्लीन चिट दे दी गई। जब सब दूर से निराशा हाथ लगी तो मजबूरी में यहां आकर अपनी व्यथा बताना पड़ी। आयोग के सदस्य सिन्हा ने पीडि़त किसान को आश्वस्त किया कि वे इस मामले को संज्ञान में लेकर अवश्य उचित कार्रवाई करेंगे।
आयोग के समक्ष टीकमगढ़ का मामला भी उठा
प्रदेश युंका सचिव और जीरन के वरिष्ठ कांग्रेस नेता तरूण बाहेती ने बताया कि मध्यप्रदेश कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में शुक्रवार को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में मानवाधिकार आयोग के सदस्य शरद चंद्र सिन्हा से मध्यप्रदेश में किसानों पर हुए अत्याचार के मामलों में मुलाकात की। नीमच के किसान मोहनलाल धानुक को थाने बैठाने और टीकमगढ़ के किसानों को थाने में कपड़े उतार कर पीटने का मामला आयोग के समक्ष रखा। प्रतिनिधि मंडल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव की अगुवाई में पहुंचा था। प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव मप्र प्रभारी संजय कपूर, राष्ट्रीय सचिव जुबेर खान, वरिष्ठ नेता पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन, विधायक यादवेन्द्र सिंह, कांग्रेस नीमच जिलाध्यक्ष नंदकिशोर पटेल, पूर्व जनपद अध्यक्ष सत्यनारायण पाटीदार, ब्लॉक अध्यक्ष जीरन विनोद दक सहित कई किसान उपस्थित थे। लगभग एक घंटे चली इस बैठक में शिकायती शपथ पत्र दिए गए। इस दौरान मानवाधिकार आयोग में मंदसौर में किसानों का गोलीकांड भी चर्चा में रहा। बाहेती ने बताया कि मध्यप्रदेश में किसानों पर हो रहे अत्याचारों को लेकर शुक्रवार शाम ४ बजे अखिल भारतीय कांग्रेस कार्यालय में राष्ट्रीय मीडिया की प्रेस कॉफ्रेंस भी आयोजित की गई। इसमें कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अभिषेक मनु संघवी, प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, राष्ट्रीय सचिव प्रभारी मध्यप्रदेश संजय कपूर, मप्र प्रभारी जुबेर खान, पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन उपस्थित थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned