scriptWater reached 19 meters below the ground | जमीन से 19 मीटर नीचे पहुंच गया पानी, ये ही हालात रहे तो सूखे रह जाएंगे कंठ | Patrika News

जमीन से 19 मीटर नीचे पहुंच गया पानी, ये ही हालात रहे तो सूखे रह जाएंगे कंठ

गर्मी का कहर बढऩे के साथ साथ जमीन के अंदर जल का स्तर पर गिरने लगा है, पिछले एक दो माह में ही भू-जलस्तर में करीब 8 मीटर तक की गिरावट आंकी गई है, वर्तमान में अधिकतर जिलों में पानी की त्राही-त्राही मची है.

नीमच

Published: April 24, 2022 08:04:32 pm

नीमच. प्रदेश में भू-जलस्तर में लगातार गिरावट आती जा रही है, गर्मी का कहर बढऩे के साथ साथ जमीन के अंदर जल का स्तर पर गिरने लगा है, पिछले एक दो माह में ही भू-जलस्तर में करीब 8 मीटर तक की गिरावट आंकी गई है, वर्तमान में अधिकतर जिलों में पानी की त्राही-त्राही मची है, अगर ऐसे ही जल स्तर में गिरावट आई तो निश्चित ही लोगों को कंठ गिला करने के लिए पैसों से पानी खरीदना पड़ेगा।

जमीन से 19 मीटर नीचे पहुंच गया पानी, ये ही हालात रहे तो सूखे रह जाएंगे कंठ
जमीन से 19 मीटर नीचे पहुंच गया पानी, ये ही हालात रहे तो सूखे रह जाएंगे कंठ

जिले में गत दिनों से लगातार पड़ रही भीषण गर्मी के कारण भूजलस्तर गिरने लगा है। एक माह के भीतर यह 4 मीटर तक गिरकर 19 मीटर पर पहुंच गया है। दो से तीन दिनों से मौसम में बदलाव के कारण बादल छाने व हल्की हवा चलने के बावजूद रविवार को तापमान 38 डिग्री से ज्यादा रहा है। सूरज की रोज तपन के करण जलसंकट की आहट भी सुनाई देने लगी है, क्योंकि ग्रामीण क्षेत्रों के 90 से ज्यादा हैंडपंप सूखने के साथ कुओं का जलस्तर भी गिरने लगा है।

आपको बता दें पिछले साल के मुकाबले इस बार औसत से ज्यादा बारिश होने के साथ जनवरी व फरवरी तक जिले के कई क्षेत्रों में बारिश व ओलावृष्टि हुई है। अच्छी बारिश होने के कारण पिछले साल के मुकाबले इस साल जनवरी में जिले का भूजल स्तर भी काफी अच्छा होकर 12.95 मीटर था, जो कि 8.14 मीटर ज्यादा था, लेकिन फरवरी के बाद इसमें तेजी से गिरावट दर्ज की गई है। जो कि लगातार देखने को मिल रही है। सबसे ज्यादा गिरावट मार्च में रही। जिले में भूजल स्तर का आंकड़ा 4 मीटर नीचे गिरकर 18.78 मीटर तक पहुंच गया है, जबकि पिछले महीने फरवरी में यह आंकड़ा 14.85 मीटर था।

विभागीय जानकारी के अनुसार सूरज की तपन के कारण पारा निरंतर बढ़ रहा है। इससे पानी वाष्प बनकर तो उड़ता है, जमीन भी जल सोखती है। दूसरी तरफ जिले में सब्जी के साथ किसान अन्य फसल भी ले रहे हैं। इस कारण पानी की जरूरत होने से किसानों ने कुओं व ट्यूबवेल से पानी लेकर फसलें सींची हैं। अप्रेल में तेज गर्मी के कारण तापमान कम होने का नाम नहीं ले रहा है। दो से तीन दिन में नीमच के मौसम में आए परिवर्तन के कारण तापमान में कुछ गिरावट आई है।

यह भी पढ़ें : पत्नी की सुपारी चबाने की लत ने खड़ा किया विवाद

जमीन से 19 मीटर नीचे पहुंच गया पानी, ये ही हालात रहे तो सूखे रह जाएंगे कंठ

पिछले साल के मुकाबले बेहतर है

जिले में इस बार में बारिश अच्छी होने के कारण भूजल स्तर पिछले साल के मुकाबले बेहतर है। मार्च में तेज गर्मी बढऩे से एकाएक अधिक भूजल स्तर गिरावट दर्ज हुई है। अभी स्थिति अच्छी है। कुछ हैंडपंप जरूर सूखे हैं। प्रशासन की भूजलस्तर पर लगातार नजर है।
-एम. पाटीदार, कार्यपालन यंत्री पीएचई नीमच

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: बीजेपी ऐसे भिखारियों का हाथ पकड़कर खुद को बता रही महाशक्ति.. ‘सामना’ के जरिए फिर शिवसेना ने कसा तंजकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: शिंदे के गढ़ ठाणे में निषेधाज्ञा लागू, 30 जून तक खुलेआम लाठी-डंडे, हथियार लेकर चलना व पोस्टर जलाना प्रतिबंधितMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारीकर्नाटक के बेलागवी जिले में कनस्तर में मिले 7 भ्रूण, स्वास्थ्य विभाग ने दिए जांच के आदेश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.