आम चुनाव की तैयारियों में जुटी AAP, 3 लाख कार्यकर्ताओं को अभियान से जोड़ने की तैयारी

आम चुनाव की तैयारियों में जुटी AAP, 3 लाख कार्यकर्ताओं को अभियान से जोड़ने की तैयारी

Anil Kumar | Publish: Sep, 10 2018 04:36:01 PM (IST) New Delhi, Delhi, India

AAP लोकसभा चुनाव में दिल्ली में कम से कम चार सीटों पर जीत दर्ज करने के लिए रणनीति तैयार कर रही है। इसके तहत आम आदमी पार्टी ने दो चरण के वृहत अभियान में तकरीबन तीन लाख कार्यकर्ताओं के जरिए मतदाताओं तक पहुंचने का फैसला किया है।

नई दिल्ली। आगामी आम चुनाव 2019 की तैयारियों को लेकर सभी राजनीतिक दल सक्रिय हो गई है। जहां एक ओर सत्ता पक्ष तमाम तरह की योजनाओं के जरिए मतदाताओं को रिझाने के लिए जुट गई है वहीं दूसरी ओर विपक्षी दल सरकार की विफलताओं को गिनाते हुए जनता के बीच अपनी जगह बनाने की कोशिश में लगी हुई है। इसी कड़ी में आम आदमी पार्टी (आप) ने भी लोकसभा चुनाव के लिए अपनी कमर कस ली है। बता दें कि बीते लोकसभा चुनाव में दिल्ली से आम आदमी पार्टी को एक भी सीट नहीं मिली थी। हालांकि पहली बार आम चुनाव लड़ रहे AAP ने पंजाब में अप्रत्याशित रूप से चार सी़टें जीतने में कामयाब रही थी।

दो चरणों में घर-घर अभियान चलाया जाएगा: गोपाल राय

आपको बता दें कि इस बार बिना कोई गलती किए हुए AAP लोकसभा चुनाव में दिल्ली में कम से कम चार सीटों पर जीत दर्ज करने के लिए रणनीति तैयार कर रही है। इसके तहत आम आदमी पार्टी ने दो चरण के वृहत अभियान में तकरीबन तीन लाख कार्यकर्ताओं के जरिए मतदाताओं तक पहुंचने का फैसला किया है। इस संबंध में दिल्ली इकाई के संयोजक और श्रम मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली की सातो संसदीय क्षेत्र के मतदाताओं तक पहुंचने के लिए नवंबर-दिसंबर और मार्च-अप्रैल में घर-घर तक अभियान चलाने की योजना है। उन्होंने कहा कि यदि समय से पहले ही चुनाव होने की घोषणा हो जाती है तो फिर दूसरे चरण का अभियान जनवरी-फरवरी में होगा।

मिशन 2019: भाजपा ने रखा जीत का मंत्र 'सुरक्षित', पीएम मोदी वडोदरा से लड़ सकते हैं आगामी लोकसभा चुनाव

AAP की रणनीति

आपको बता दें कि बीते लोकसभा चुनाव में AAP को दिल्ली में कामयाबी नहीं मिली थी। इस बात से सबक लेते हुए इस बार एक नई रणनीति के तहत चुनाव लड़ने की योजना बनाई जा रही है। आम आदमी पार्टी ने सभी सातों सीटों के लिए प्रभारी के नामों की घोषणा कर दी है लेकिन अभी उम्मीदवारों के नाम का एलान बाकी है। ऐसा कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रभारी ही लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी होंगे। इधर नई रणनीति के तहत AAP मोदी सरकार की नाकामियों को रेखांकित करते हुए घर-घर तक उसे पहुंचाएगी। इसके अलावे पार्टी 2.5 लाख कार्यकर्ताओं को ब्लॉक प्रमुख के तौर पर नियुक्त करने की योजना पर काम कर रही है। गोपाल राय ने कहा कि हर एक ब्लॉक प्रमुख एक मतदान केंद्र पर कम से कम 25 घरों तक पार्टी की योजना और केंद्र सरकारी विफलताओं को पहुंचाने का काम करेगा। इन सभी ब्लॉक प्रमुखों की नियुक्ति नवंबर में की जाएगी।

Ad Block is Banned