आसाराम को है 'टाइगर' जैसी खतरनाक बीमारी

आसाराम को है 'टाइगर' जैसी खतरनाक बीमारी

Kaushlendra Pathak | Publish: Apr, 17 2018 12:52:12 PM (IST) New Delhi, Delhi, India

आसाराम इस खतरनाक बीमारी के शिकार है। इस बीमारी में मरीज आत्महत्या के बारे में सोचने लगता है।

नई दिल्ली। यौन उत्पीड़न मामले में जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद आसाराम के मामले की याचिका पर मंगलवार को हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। जेल में ही फैसला सुनाए जाने की अर्जी पर हाईकोर्ट ने सुनवाई के बाद फिलहाल फैसला सुरक्षित रखा है। हालांकि, आसाराम की जिंदगी के कई किस्से आज तक आपने सुने होंगे।

लेकिन, आसाराम को एक ऐसी बीमारी है, जिसके बारे में शायद आप नहीं जानते होंगे। ये बीमारी इतनी खतरनाक है कि इसमें मरीज आत्महत्या तक करने की सोचने लगता है। इस बीमारी का नाम है 'ट्राइजेमिनल न्यूरोलजिया', यह एक न्यूरोलॉजिकल बीमारी है।

बताया जाता है कि इस बीमारी की वजह से इतना तेज दर्द होता है कि मरीज को आत्महत्या का विचार आने लगता है। इस बीमारी को लेकर डॉक्टर्स का कहना है कि इसमें मरीज किसी भी चीज का तनाव न लें। अन्यथा वो कोमा में भी जा सकता है।

इसके अलावा वो फेसियल डिसऑर्डर के भी शिकार हैं। इस बीमारी में मरीज के चेहरे में काफी तेज दर्द होता है और अचानक झनझनाहट भी शुरू हो जाती है। यहां आपको बता दें कि बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान यानी टाइगर भी इसी बीमारी के शिकार हैं।

2300 करोड़ के मालिक है आसाराम

आसाराम ने पूरे देश में अपना साम्राज्य फैला रखा है। 2016 में इनकम टैक्स विभाग ने आसाराम के 2300 करोड़ रुपए से ज्यादा की अघोषित संपत्ति उजागर की थी। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो आसराम ने करीब 400 ट्रस्ट बनाए थे। इस ट्रस्ट के जरिए ही वो अपने पूरे साम्राज्य पर नियंत्रण रखता था। इन ट्रस्टों में भक्तों का पैसा जमा होता था।

ख्याति बढ़ने के साथ ही आसाराम ने भक्तों द्वारा दिए चंदे के पैसों से अपने ब्रांड की पत्रिकाएं, प्रार्थना पुस्तकें, सीडी, साबुन, धूपबत्ती आदि बेचना शुरू किया था। यही नहीं, आश्रम के नाम पर कई एकड़ जमीन हड़पी गई, जिससे उसका खजाना लगातार बढ़ता गया। बताया जा रहा है कि आश्रम से प्रकाशित दो पत्रिकाओं ऋषिप्रसाद और लोक कल्याण सेतु की 14 लाख कॉपी मासिक बिकती थीं, जिससे सालाना 10 करोड़ रुपए के आसपास होती थी।

Ad Block is Banned