असम हिंसा: राहुल गांधी का सरकार से सवाल, अगर सबको आजादी नहीं तो कैसा अमृत महोत्सव?

असम हिंसा (assam violence) में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस लगातार बीजेपी पर हमलावर है। इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने असम हिंसा की निंदा करते हुए अप्रत्यक्ष रूप से केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा कि जब देश में नफरत का जहर फैलाया जा रहा है तो कैसा अमृत महोत्सव (amrit mahotsav) ?

By: Nitin Singh

Published: 25 Sep 2021, 01:03 PM IST

नई दिल्ली। असम हिंसा (assam violence) में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस लगातार बीजेपी पर हमलावर है। इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी (rahul gandhi) ने असम हिंसा की निंदा करते हुए अप्रत्यक्ष रूप से केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा कि जब देश में नफरत का जहर फैलाया जा रहा है तो कैसा अमृत महोत्सव (amrit mahotsav) ? राहुल गांधी का कहना है कि जो सबके लिए नहीं है उस आजादी का कोई लाभ नहीं।

हिंसा के बाद से इलाके में तनाव

बता दें कि असम के दरांग जिले में पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच गुरुवार को हुई हिंसक झड़प हुई थी। इस दौरान दो लोगों की जान चली गई थी और 9 पुलिसवाले भी घायल हुए थे। बताया जा रहा है कि असम सरकार के अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान यह हिंसा हुई। इस अभियान की वजह से 20 सितंबर से ही असम के कुछ क्षेत्रों में तनाव बना हुआ था।

असम में हिंसा को लेकर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा पर सवाल उठाए थे। कांग्रेस ने पूछा था कि बड़ा भाई CM और छोटा भाई SP तो क्या जिसे चाहेंगे उसे गोली मारेंगे। इसके साथ ही कांग्रेस ने दरांग के DC और SP को निलंबित करने के साथ ही इस पूरे मामले की न्यायिक जांच कराने की मांग पर अड़ी है।

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी का पीएम मोदी पर निशाना, कहा Mr 56 इंच डरता है

गौरतलब है कि आजादी की 75 वीं वर्षगांठ पर सरकार ने अमृत महोत्सव मनाने की घोषणा की है। यह मार्च 2021 में गुजरात के साबरमती आश्रम से शुरू किया गया था। अमृत महोत्सव दो साल तक यानि 2023 तक मनाया जाएगा। इसको लेकर राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ऐसी आजादी का कोई लाभ नहीं जो सबके लिए न हो।

pm modi
Nitin Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned