script“मौसी, तीसरी बार ही तो हारे हैं” | Patrika News
नई दिल्ली

“मौसी, तीसरी बार ही तो हारे हैं”

प्रधानमंत्री मोदी ने शोले की मौसी के बहाने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा- 13 राज्यों में 0 सीटें आईं, पर हीरो तो हैं न

पीएम मोदी ने राहुल गांधी के संबोधन को बताया ‘बालक बुद्धि का विलाप’, बोले- हिंदू समाज को सोचना होगा, ये अपमान संयोग है या प्रयोग

नई दिल्लीJul 03, 2024 / 01:05 pm

Navneet Mishra

नवनीत मिश्र

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को तंज, तर्क और तीखे तेवर के साथ विपक्ष पर लोकसभा में चुन-चुनकर हमला बोला। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का ढाई घंटे तक मैराथन जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के मुंह झूठ का खून लग गया। भाषण के पहले हिस्से में जहां 10 साल की उपलब्धियां गिनाईं, दूसरे पार्ट में विपक्ष के आरोपों का सिलसिलेवार जवाब दिया तो तीसरे पार्ट में विपक्ष के इकोसिस्टम को उसी की भाषा में आगे मुंहतोड़ जवाब देने की चेतावनी भी दी। नेता प्रतिपक्ष राहुल गांधी के संबोधन को बालक बुद्धि का विलाप करार दिया तो फिल्म शोले की मौसी का हवाला देते हुए तंज कसने पर सदन में खूब ठहाके लगे। खास बात रही कि विपक्ष पूरे समय तक वेल में आकर नारेबाजी करता रहा, बावजूद इसके प्रधानमंत्री टस से मस नहीं हुए और चुन-चुनकर वार करते रहे। प्रधानमंत्री मोदी ने हंगामे, नारेबाजी की बाधा के बीच संबोधन पूरा होने के बाद कहा- किसी का कोलाहल सत्य को दबा नहीं सकता। प्रधानमंत्री मोदी ने हिंदू और हिंसा को लेकर दिए बयान पर कहा कि हिंदू समाज को सोचना होगा, ये अपमान संयोग है या प्रयोग?

किस्सों के बहाने साधा निशाना

प्रधानमंत्री मोदी ने किस्सों के जरिए राहुल गांधी का नाम लिए बगैर निशाना साधा। उन्होंने कहा- एक छोटा बच्चा साइकिल से गिर गया तो कोई बड़ा आकर कहता है -देखो चींटी मर गई, चिड़िया मर गई। ऐसे कहकर बड़े बच्चे का मन बहला देते हैं। आजकल बच्चे का मन बहलाने का काम चल रहा है।
फिर प्रधानमंत्री मोदी ने एक और किस्से का जिक्र करते हुए कहा कि 99 मार्क्स लेकर एक बालक घमंड में घूम रहा था और सबको दिखाता था देखो कितने ज्यादा मार्क्स आए हैं तो लोग भी 99 सुनकर शाबासी देते थे। फिर उनके टीचर आए और पूछे- किस बात की मिठाई बांट रहे हो, ये 100 में 99 नहीं लाया 543 में 99 लाया। अब उस बालक बुद्धि को कौन समझाए कि तुमने फेल होने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया है।
तीसरा किस्सा- एक बच्चा स्कूल से आते ही मां के सामने रोने लगा। मां ने पूछा-क्या हुआ, बचचा बोला- मुझे यहां मारा, वहां मारा। बच्चे ने ये नहीं बताया कि उसने किसी की मां को गाली दी थी, किसी की किताब फाड़ दी थी, किसी की टिफिन खा गया था। सदन में कल यही बचकाना हरकत हुई। सिंम्पैथी के लिए नया ड्रामा खेला गया। जो सच्चाई जानते हैं कि ये हजारों करोड़़ रुपये की हेराफेरी में जमानत पर बाहर हैं। ये ओबीसी को चोर बताने के मामले में सजा प्राप्त है।

मौसी, पार्टी की लुटिया डुबोई है

प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव बाद कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी को शोले फिल्म की मौसी से जोड़ा। उन्होंने कहा कि आप सबको शोले फिल्म की वो मौसी जी याद होंगी। तीसरी बार तो हारे हैं पर मौसी ये बात तो सही है पर मौसी मोरल जीत तो है न…। अरे मौसी… 13 राज्यों में जीरो सीटें आई हैं पर हीरो तो हैं न…. अरे पार्टी की लुटिया तो डुबोई है…. अरे मौसी पार्टी अभी भी सांसें तो ले रही हैं…। प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं कांग्रेस के लोगों को कहूंगा जनादेश को फर्जी जीत के जश्न में मत दबाओ। जनादेश को फर्जी जीत के नशे में मत दबाओ। ईमानदारी से देशवासियों के जनादेश को जरा समझने की कोशिश को और उसे स्वीकार करो।

पेपर लीक के दोषियों को छोड़ेंगे नहीं

प्रधानमंत्री मोदी ने देश के युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं होने दी जाएगी। पेपर लीक के दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा। पेपर लीक के खिलाफ कड़ा कानून से लेकर कई कदम उठाए जा रहे हैं।

Hindi News/ New Delhi / “मौसी, तीसरी बार ही तो हारे हैं”

ट्रेंडिंग वीडियो