भारत में Coronavirus के ताजा आंकड़े, सामने आईं 10 महत्वपूर्ण बातें

  • भारत में लगातार 7 दिनों तक नए कोविड-19 मामले( Coronavirus Cases in India ) 50,000 से भी कम।
  • पिछले पांच हफ्तों से औसत दैनिक नए मामलों में लगातार गिरावट आई है।
  • तापमान में कमी के चलते बढ़ते खतरे के बीच सावधानी बरतना है बहुत जरूरी।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी ( Coronavirus Cases in India ) के बीच बढ़ते वायु प्रदूषण और त्योहारों के मौसम ने इसका खतरा और बढ़ा दिया है। केंद्र सरकार समेत राज्यों द्वारा इस संबंध में जारी दिशानिर्देशों के बावजूद ज्यादातर जगहों पर सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का उल्लंघन होते हुए देखा गया। हालांकि भारत के कोविड-19 से जुड़े ताजा आंकड़े इस बात की ओर इशारा कर रहे हैं कि देश में इस महामारी को काफी हद तक नियंत्रित किया जा चुका है। आइए जानते हैं केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों की 10 महत्वपूर्ण बातें:

WHO ने दी दुनिया को चेतावनी, अगली महामारी के लिए हो जाएं तैयार

1. केंद्र सरकार के आंकड़ों के मुताबिक भारत में सात दिनों तक 50,000 से कम नए कोरोना वायरस के मामले दर्ज किए गए हैं, जो देश में कुल मामलों की संख्या को 90 लाख (88,14,579) के करीब लाते हैं।

2. भारत का एक्टिव केस लोड, जो देश में वर्तमान पॉजिटिव मामलों की संख्या है, भी 5 लाख से नीचे आ गया है, और फिलहाल यह 4,79,216 हो गया है। यानी देश में कोरोना के एक्टिव केस फिलहाल 4.79 लाख हैं और यह आंकड़ा कुल कोरोना केस का 5.44 फीसदी है।

3. पिछले पांच हफ्तों से रोजाना सामने आने वाले औसत नए मामलों में लगातार गिरावट आई है। अक्टूबर की शुरुआत में देश भर में प्रतिदिन के लगभग 73,000 नए कोविड-19 मामलों की तुलना में फिलहाल 49,000 दैनिक मामले दर्ज किए जा रहे हैं।

4. स्वास्थ्य मंत्रालय के बयान के मुताबिक, "नए मामले जनसंख्या के बीच कोविड-19 उपयुक्त व्यवहार को अपनाने और राज्य/केंद्र शासित प्रदेश सरकारों द्वारा प्रभावी रोकथाम उपायों को अपनाने के संकेत देते हुए नीचे की ओर ढलान जारी रखते हैं। पिछले पांच हफ्तों में औसतन रोज नए मामले घट रहे हैं।"

COVID-19 Vaccine बनने में अब बस चंद कदम बाकी, ट्रायल के तीसरे चरण के नतीजे जानकर होगी हैरानी

5. मंत्रालय ने आगे बताया, "इस प्रवृत्ति के चलते आज रिकवरी रेट 93 फीसदी के पार पहुंच गया है। फिलहाल देश भर का रिकवरी रेट बढ़कर 93.09 फीसदी पहुंच गया है। कुल रिकवर्ड केस अब 82,05,728 हो गए हैं।

6. रिकवर्ड केस और एक्टिव केस के बीच का अंतर लगातार बढ़ रहा है। फिलहाल यह बढ़कर 77,26,512 पर पहुंच गया है। वहीं, इस महामारी से अब तक देश में 1,29,635 लोगों की मौत हो चुकी है, जो कुल केस का 1.47 फीसदी है।

7. रोज सामने आने वाले नए एक्टिव केस की तुलना में रिकवर्ड केस की ज्यादा संख्या का चलन 42वें दिन भी जारी है। इससे देश में कोरोना को हराने वालों की बढ़ती तादाद और नए मामले आने में कमी समझी जा सकती है।

कोरोना वैक्सीन देश में सबसे पहले इन्हें मुफ्त में लगाई जाएगी, सरकार ने बनाई 30 करोड़ लोगों की लिस्ट

8. नए रिकवर्ड केस में 75.38 फीसदी का योगदान 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा किया गया है, और इतने ही राज्यों ने नए केस में 76.38 फीसदी का योगदान दिया है।

9. देश में अब तक के सबसे अधिक कोविड-19 मामलों की रिपोर्ट करने वाले 10 राज्यों में दिल्ली, केरल, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश शामिल हैं।

10. स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस समय सावधान रहना महत्वपूर्ण है क्योंकि तापमान में गिरावट से संक्रमण के तेजी से फैलने का खतरा बढ़ जाता है। कुछ राज्यों को छोड़कर, देश में कुल मिलाकर प्रकोप बहुत अधिक नियंत्रण में है। हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि हम सावधानी हटाने का जोखिम उठा सकते हैं। कोविड-19 के उचित व्यवहार का सख्ती से पालन करना बेहद जरूरी है जैसे कि जब भी बाहर निकलें तो फेस मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिंग और बार-बार हाथ साफ करने की आदत जारी रखनी है।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned