चलती ट्रेन में ही महिला ने बच्चे को दिया जन्म, रेल कर्मियों और यात्रियों ने की मदद

शनिवार को महिला अपने ससूर के साथ भागलपुर जा रही थी इसी दौरान ट्रेन में ही उसे प्रसव पीड़ा हुई जिसके बाद रेलवे कर्मचारियों को इसकी सूचना दी गई।

By: Anil Kumar

Published: 09 Sep 2018, 03:26 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे के कर्मचरियों ने शनिवार को एक मिसाल कायम की है। दरअसल चलती ट्रेन में एक महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई, जिसके बाद रेलवे कर्मचारियों ने प्रसूता को चलती ट्रेन में ही सुरक्षित प्रसव कराया। ट्रेन जब टूंडला स्टेशन पर पहुंची तो रेलवे अधिकारियों ने बच्चे और महिला की जांच डॉक्टरों से कराई। दोनों पूरी तरह से स्वस्थ हैं। बता दें कि शनिवार को महिला अपने ससूर के साथ भागलपुर जा रही थी इसी दौरान ट्रेन में ही उसे प्रसव पीड़ा हुई जिसके बाद रेलवे कर्मचारियों को इसकी सूचना दी गई। रेलवे कर्मचारियों ने फौरन ही जरूरी सामान व्यवस्थित किया और फिर चलती ट्रेन में ही महिला का प्रसव कराया। महिला का नाम शीलू देवी है।

दिल्ली: बारिश के बीच एक मकान की छत गिरी, सो रही मां व दो बेटी गंभीर रूप से घायल

अगले स्टेशन टूंडला में डॉक्टरों ने की जांच

आपको बता दें कि शीलू देवी अपने ससूर के साथ गाड़ी संख्या 12368 विक्रमशिला एक्सप्रेस से भागलपुर जा रही थी। इन दोनों ने आनंद विहार टर्मिनल से ट्रेन पकड़ी थी। एस-8 कोच में ये दोनों अपने निर्धारित सीट पर बैठे थे। तभी कुछ समय बाद अचानक महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। यात्रियों ने इसकी सूचना तत्काल ट्रेन में तैनात कानपुर मुख्यालय के टीटीई सुरेश कोरी को दी कि कोच एस-8 के बर्थ संख्या 24 पर बैठी महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई है। इस पर टीटीई ने अगले स्टेशन टूंडला में नियंत्रण कक्ष को इसकी सूचना दी और मदद मांगी। इधर धीरे-धीरे महिला की हालत बिगड़ती जा रही थी। इस बीच ट्रेन में सवार महिला यात्रियों ने ही सुझबूझ के जरिए ट्रेन में ही प्रसूता का प्रसव कराया। इसके लिए टीटीई ने प्रसव के लिए जरूरी सामान चादरें, पैंट्री कार से साफ पानी, बाल्टी, मग समेत अन्य सामानों की व्यवस्था कराई। टीटीई ने महिला यात्री की मदद के लिए अपने पास से और कोच में मौजूद यात्रियों के सहयोग से 6 हजार रुपए की आर्थिक मदद की। इसके बाद जब गाड़ी टूंडला स्टेशन पर पहुंची तो रेलवे डॉक्टर अभिषेक सिंह ने महिलाऔर नवजात शिशु का परीक्षण किया। महिला और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। जांच के बाद रेलवे कर्मियों ने उनलोगों को दूसरी गाड़ी में बिठाकर रवाना किया। इस कार्य के लिए उत्तर-मध्य रेलवे के जीएम रतन लाल ने टीटीई और रेलवे कर्मचारियों की सराहना की है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned