दिल्ली नगर निगम बैठक को आप-भाजपा पार्षदों ने बना दिया अखाड़ा, फंड को लेकर आपस में भिड़े

पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सदन की बैठक को भाजपा और आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने चर्चा के बजाए एक राजनीतिक अखाड़ा बना दिया। बैठक के दौरान दोनों दलों ने फंड के मामले में एक-दूसरे को कटघरे में खड़ा किया। Delhi Municipal Corporation's meeting was organized by AAP-BJP councilorsदिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए पहली जुलाई से आम आदमी पार्टी की जंग

By: Anil Kumar

Published: 24 Jul 2018, 09:12 PM IST

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली की सियासत में हर दिन कोई न कोई मुद्दा गरम रहता है और सरकार तथा विपक्षी दलों के बीच टकराव का कारण बनता है। मंगलवार को पूर्वी दिल्ली नगर निगम के सदन की बैठक को भाजपा और आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने चर्चा के बजाए एक राजनीतिक अखाड़ा बना दिया। बैठक के दौरान दोनों दलों ने फंड के मामले में एक-दूसरे को कटघरे में खड़ा किया। बैठक में ही भाजपा पार्षदों ने दिल्ली सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पास किया,जिस पर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कड़ा ऐतराज जताया। इसके बाद दोनों पार्टियों के पार्षद आपस में भिड़ गए और फिर जमकर हंगामा हुआ।

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए पहली जुलाई से आम आदमी पार्टी की जंग

आरोप - प्रत्यारोप

आपको बता दें कि बैठक आरंभ होते ही आम आदमी पार्टी के पार्षद दल के नेता कुलदीप कुमार ने भाजपा पर आरोप लगाने शुरू कर दिए। तो भाजपा पार्षदों ने आरोप लगाकार हंगामा करने लगे कि दिल्ली सरकार फंड नहीं दे रही है। हंगामे के बीच दोनों ही पार्टी के पार्षद एक-दूसरे के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इसी दौरान आप पार्षद रेखा त्यागी ने बैठक के एजेंडे की प्रति फाड़ दी। इस मौके पर कुलदीप कुमार ने भाजपा पर आरोप लगाया कि बीजेपी 11 वर्ष से निगम में सत्ता में काबिज है लेकिन उसके पार्षदों ने कोई कार्य नहीं किया। इस कारण नगर निगम की आर्थिक स्थिति दयनीय है। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार ने अबतक निगम को सबसे ज्यादा फंड दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने नगर निगम से लोन की राशि भी लेनी बंद कर दी है। दूसरी और नेता सदन निर्मल जैन ने कहा कि अदालत में भी नगर निगम को दिल्ली सरकार से फंड नहीं देने की बात साबित हो चुकी है। जिसके बाद हाईकोर्ट ने फंड देने के आदेश भी दिये हैं। लेकिन दिल्ली सरकार नगर निगम को फंड नहीं दे रही है। बता दें कि बीते दिनों पूर्वी दिल्ली नगर निगम की स्थायी समिति की बैठक में भी भाजपा पार्षदों ने फंड नहीं देने का आरोप लगाते हुए दिल्ली सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पास किया था।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned