कोरोना पर लगाम लगाने के लिए जर्मनी सख्त, मास्क न पहनने वाले पर 30 हजार रुपये का जुर्माना

Highlights

  • जर्मनी (Germany) में अब मास्क को पहनना कर दिया है अनिवार्य ।
  • जर्मनी अब तक 5000 से ज्‍यादा नागरिकों को गंवा चुका है।
  • चांसलर एंजेला मर्केल (Angela Merkel) का कहना है कि यहां कोरोना के मामले बढ़ सकते हैं।

By: Mohit Saxena

Updated: 28 Apr 2020, 02:34 PM IST

नई दिल्‍ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी रोकने के लिए दुनिया भर में कई देश सख्त नियम बनाने में लगे हुए हैं। इसका पालन न करने वालों के लिए जुर्माने या सजा का प्रावधान भी रखा गया है। कोरोना वायरस के कारण जर्मनी (Germany) अब तक 5000 से ज्‍यादा नागरिकों को गंवा चुका है। यहां मास्‍क न पहनने पर बड़ा जुर्माना (Fine) लगा दिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जर्मनी उन देशों में शामिल हो गया है जहां सभी के लिए मास्क अनिवार्य कर दिया गया है और ऐसा न करने पर जर्माना लगाने का प्रावधान है। जर्मनी ने कोरोना संक्रमण रोकने के लिए मास्‍क पहनना हर आयुवर्ग के लिए जरूरी है। ऐसा न करने वाले पर 5,412 डॉलर का जुर्माना लगाया है। भारतीय मुद्रा के अनुसार ये राशि काफी अधिक है। जुर्माना राशि 30 हजार रुपए से अधिक है।

हालांकि पिछले हफ्ते से ही जर्मनी ने लोगों पर लगाये गये अन्य प्रतिबंंधों को कम करना शुरू कर दिया है। इसमें 8,600 वर्ग फुट से बड़ी सभी दुकानों को दोबारा से खोलने की अनुमति शामिल है। इसके अलावा पूरे देश में सभी कार डीलर और साइकिल स्टोर भी खुल गए हैं।

देश के 16 राज्यों में कोई जुर्माना नहीं लग रहा है, लेकिन बाकी राज्‍यों ने मास्‍क को लेकर विभिन्न प्रकार के जुर्माने लगाए हैं। जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के अनुसार यह सुनिश्चित करने के लिए इस नियम की घोषणा की है। उनका मानना है कि प्रतिबंधों में ढील देने बजाय सख्ती दिखाने पर ही कोरोना वायरस को रोका जा सकता है। नहीं तो देश में फिर से कोरोना वायरस फैल सकता है।

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned