कहीं आपका भी पैन कार्ड कैंसिल तो नहीं हो गया, सरकार ने 11.44 लाख अवैध पैन कार्ड किया निष्क्रिय

कहीं आपका भी पैन कार्ड कैंसिल तो नहीं हो गया, सरकार ने 11.44 लाख अवैध पैन कार्ड किया निष्क्रिय

Manish Ranjan | Updated: 03 Aug 2017, 01:17:00 PM (IST) New Delhi, Delhi, India

देश भर में 11.44 लाख से भी ज्यादा पैन कार्ड को बंद या निष्क्रिय कर दिया गया हैं। ये उन लोगों के पैन कार्ड है जिन्होने एक से अधिक पैन कार्ड बनवा रखा है

नई दिल्ली। देश भर में 11.44 लाख से भी ज्यादा पैन कार्ड को बंद या निष्क्रिय कर दिया गया हैं। ये उन लोगों के पैन कार्ड है जिन्होने एक से अधिक पैन कार्ड बनवा रखा हैं। ये जानकारी आज राज्य सभा में वित्त राज्य मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने दिया। गंगवार ने कहा कि 27 जुलाई तक लगभग 11,44, 221 पैन कार्ड को रद्द कर दिया गया हैं। ये उन लोगों के पैन कार्ड है जिन्होने एक से अधिक पैन कार्ड बनवा रखा हैं।

 

आपको बता दें कि नियमानुसार एक व्यक्ति को सिर्फ एक ही पैन कार्ड जारी किया जा सकता हैं। गंगवार ने बताया कि 27 जुलाई तक 1556 फर्जी पैन कार्ड की पहचान की गई हैं। ये सारे पैन कार्ड गलत व्यक्तियों के नाम पर आवंटित थे या फिर उस नाम का कोई व्यक्ति है ही नहीं। पैन को हटाने या रद्द करने का सुविधा साफ्टवेयर के माध्यम से अस्सेसिंग ऑफिसर करता हैं।

 

आपको याद दिला दे कि पैन कार्ड और आधार कार्ड को लिंक करने की अवधि को 31 अगस्त तक बढा़ दिया हैंं। आधार को पैन कार्ड से लिंक करना अनिवार्य हैं। ऐसा नही करने पर पैन कार्ड रद्द किया जा सकता हैं। इसके पहले सरकार द्वारा यह क्लियर कर दिया गया था कि बिना पैन कार्ड और आधार कार्ड लिंक किए आयकार रिटर्न नहीं भरा जा सकता हैं। हालांकि बाद में ये भी साफ भी कर दिया गया था कि यदि आधार कार्ड किसी कारण से लिंक नहीं हो पाया हैं तो आयकर रिटर्न भरने वक्त आधार नंबर देना अनिवार्य हैं।



गंगवार ने ऑपरेशन क्लीन मनी को लेकर भी जानकारी दिया। उन्होने बताया कि उन 18 लाख लोगों से ईमेल या एसएमएस से संपर्क किया गया हैं जिनके कैश, लेनदेन, टैक्स प्रोफाइल के मुताबिक नहीं हैं। इससे जुड़े हुए 13.33 लाख खातों के कैश लेनदेन की जानकारी मिली जिनके लेनदेन की राशि 2.89 लाख करोड़ के करीब थी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned