Coronavirus की मार से कैसे बचा Vietnam, संक्रमण से अब तक कोई भी मौत का मामला नहीं

Highlights

  • इस देश की आबादी 9.7 करोड़ के आस पास है। इसके बाद भी यहां पर अब तक 328 कोरोना पॉजिटिव (Coronapositive) मामले सामने आए हैं।
  • वियतनाम ( vietnam) में अधिकतर लोग निचले आए वर्ग में आते हैं। इसके साथ स्वास्थ सेवाओं में भी वह कई देशों से पिछड़ा है।

By: Mohit Saxena

Updated: 30 May 2020, 09:02 PM IST

हनोई। कोरोना वायरस (Coronavirus) ने दुनिया भर में तबाही मचाई है। कई देशों में इसने लाखों लोगों की जीवन लीला समाप्त कर दी। मगर एक ऐसा भी देश है जहां पर मौत का एक भी मामला सामने नहीं आया है। कोरोना के कहर से बचने के कारण वियतनाम (Vietnam) की प्रशंसा पूरी दुनिया कर रही है। इस देश की आबादी 9.7 करोड़ के आस पास है। इसके बाद भी यहां पर 328 कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) मामले सामने आए हैं। जिसमें से 279 मामले सही हो चुके हैं।

वियतनाम में अधिकतर लोग निचले आए वर्ग में आते हैं। इसके साथ स्वास्थ सेवाओं में भी वह कई देशों से पिछड़ा है। मगर कोरोना के संक्रमण मामले में वह अमरीका, दक्षिण कोरिया समेत कई देशों से बहुत नीचे है। एक अनुमान के अनुसार, वियतनाम में 10 हजार लोगों पर केवल आठ डॉक्टर हैं।

शुरू से ही जागरूक रही सरकार

वियतनाम में कोरोना वायरस को लेकर शुरू से ही जागरुकता अभियान चलाया गया। सरकार ने चीन से लगती सीमा और लोगों के एक देश से दूसरे देश में आवाजाही को देखते हुए तीन सप्ताह के कड़े लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान कर दिया था। मगर अप्रैल के अंत में यहां स्थिति की समीक्षा करने के बाद लॉकडाउन को हटा लिया गया। वियतनाम में अब स्कूलों को फिर से खोला जाएगा।

vietam111.jpg

चीन से लगी सीमाएं की सील

WHO ने जब पहली बार कोरोना वायरस के खतरों को लेकर ऐतियात बरतने को कहा था, तब से वियतनाम अपने यहां पर लॉकडाउन का कड़ाई से पालन रहा है। सभी सीमाओं को उसने तभी सील कर दिया था। इसके साथ लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी गई थी। इसके साथ सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर भी लोगों में जागरूकता फैलाई।

निर्देश से पहले शुरू की तैयारी

WHO के दिशा निर्देशों के आने से पहले ही वियतनाम ने इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर थर्मल स्क्रीनिंग की सुविधा कर दी। जनवरी के शुरुआत से ही हनोई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर वुहान से आने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग को अनिवार्य कर दिया गया। जिन लोगों का तापमान ज्यादा दिखाई दिया उन्हें 14 दिने के क्वारंटाइन में भेज दिया गया।

चीन से तोड़ा संपर्क

गौरतलब है कि वियतनाम में सबसे पहला मामला 23 जनवरी को सामने आया था। इसके बाद से सरकार ने यहां से आने वाली सभी विमान सेवाओं को बंद कर दिया। यहां तक की लूनर न्यू ईयर के मौके पर भी यहां पर लॉकडाउन को नहीं खोला गया। देश के सभी सार्वजनिक स्थानों पर थर्मल चेकिंग शुरू की गई। पीएम ने कोरोना वायरस के संक्रमण को काबू में लाने के लिए एक राष्ट्रीय संचालन समिति का गठन भी किया।

विदेशियों के प्रवेश पर रोक

शुरूआती दौर में ही 1 फरवरी को वियतनाम ने कोरोना वायरस को राष्ट्रीय महामारी घोषित कर दिया। इस समय तक वियतनाम में केवल 6 मामलों की ही पुष्टि हुई थी। इसके बाद तुरंत यहां के प्रशासन ने चीनी नागरिकों के वीजा को निलंबित कर दिया। वियतनाम ने मार्च के अंत तक में सभी विदेशियों के प्रवेश पर रोक लगा दी थी।

सस्ता कोरोना टेस्ट किट भी तैयार

वियतनाम ने एक सस्ता कोरोना टेस्ट (Corona test) किट भी तैयार किया। टेस्ट किट से ज्यादा से ज्यादा लोगों की जांच की गई। जो लोग कोरोना वायरस से संक्रमित मिले,उनके संपर्क में आए हुए सभी लोगों की जांच की गई। लोगों को जबरन 14 दिनों तक अनिवार्य क्वारंटीन किया गया।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned