दुष्कर्म मामले में चिराग पासवान के भाई प्रिंसराज को राहत, कोर्ट में मंजूरी की अग्रिम जमानत

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के भाई और लोजपा सांसद प्रिंसराज को आज दुष्कर्म मामले में बड़ी राहत मिली है। दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने दुष्कर्म मामले में प्रिंसराज की अग्रिम जमानत दे दी है। इसके साथ ही कोर्ट ने प्रिंस को इस मामले की जांच में पुलिस का सहयोग करने का आदेश दिया है।

By: Nitin Singh

Published: 25 Sep 2021, 04:22 PM IST

नई दिल्ली। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के भाई और लोजपा सांसद प्रिंसराज को आज दुष्कर्म मामले में बड़ी राहत मिली है। दरअसल, दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने दुष्कर्म मामले में प्रिंसराज की अग्रिम जमानत दे दी है। सुनवाई के दौरान कोर्ट ने प्रिंस को इस मामले की जांच में पुलिस का सहयोग करने का आदेश दिया है। इस पर लोजपा सांसद प्रिंसराज ने सहमति जताई है।

युवती ने लगाया था दुष्कर्म का आरोप

बता दें कि बिहार के समस्तीपुर से लोजपा सांसद प्रिंसराज पर दिल्‍ली में दुष्कर्म के आरोप में मुकदमा दर्ज हुआ था। एक युवती ने दिल्ली स्थित कनाट प्लेस थाने में उनके खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत कर मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले में प्रिंस ने गिरफ्तारी से बचने के लिए दिल्‍ली के राउज एवेन्‍यू कोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका दाखिल की थी, जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने आज उन्हें राहत दी है।

लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी से जुड़ी थी युवती

इस मामले में दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती का कहना है कि वो 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान पार्टी से जुड़ी थी और सोशल मीडिया के जरिए उसका प्रिंस से परिचय हुआ था। युवती का कहना है कि मार्च 2020 में प्रिंस ने उसे दिल्‍ली के वेस्टर्न कोर्ट में बुलाकर नशीला पदार्थ पिला दिया, फिर दुष्कर्म किया, इसके बाद कई बार प्रिंसराज ने उसके साथ दुष्कर्म किया।

प्रिंसराज ने युवती पर लगाया ब्लैकमेल करने का आरोप

वहीं इस मामले में प्रिंस ने युवती के खिलाफ उन्हें ब्लैकमेल करने और रुपए मांगने का मुकदमा दर्ज कराया था। प्रिंस का आरोप है कि युवती उनसे 1 करोड़ रुपए मांग रही थी, वहीं प्रिंस ने उसे ढाई लाख रुपए दिए भी थे। इसके चलते ही फिलहाल इस मामले में अब तक प्रिंस की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पुलिस का कहना है कि पहले मामले की जांच की जा रही है, इसके बाद ही मामले में कोई गिरफ्तारी या अन्य कोई कदम उठाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: जातिगत जनगणना पर विपक्ष को एकजुट करने में जुटे तेजस्वी यादव

गौरतलब है कि युवती के आरोप के आधार पर दर्ज एफआइआर के बाद अब प्रिंस राज की मुश्किलें बढ़ गईं हैं। उन्‍होंने दिल्‍ली के राउज एवेन्‍यू कोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका दाखिल कर दी है। इसपर आज कुछ ही देर में को सुनवाई शुरू होगी। बता दें कि प्रिंस राज एलजेपी के पशुपति पारस गुट के बिहार प्रदेश अध्‍यक्ष हैं।

Show More
Nitin Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned