इस्तीफे के बाद नवजोत सिंह सिद्दू का सख्त रवैया, पंजाब की नई सरकार में कई नियुक्तियों पर उठाए सवाल

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू का रुख कांग्रेस के प्रति सख्त नजर आ रहा है। उन्होंने एक वीडियो मैसेज साझा कर पंजाब की नई सरकार में हुई कई नियुक्तुयों पर सवाल उठाए हैं।

By: Nitin Singh

Published: 29 Sep 2021, 12:42 PM IST

नई दिल्ली। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू का बड़ा बयान सामने आया है। नवजोत सिंह सिद्धू का कहना है कि मैंने हमेशा पंजाब के लोगों की जीवन को बेहतर बनाने का प्रयास किया है। अपने इस्तीफे को लेकर उन्होंने कहा कि मेरा इस्तीफा पंजाब के हितों और नैतिकता के सवाल पर है, जिनसे मैं कतई समझौता नहीं कर सकता। इसके साथ ही उन्होंने पंजाब की नई सरकार में कुछ नियुक्तियों पर सवाल उठाए हैं।

सिद्धू बोले- अंतिम सांस तक जारी रहेंगी लड़ाई

दरसअल, कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो मैसेज साझा किया है। सिद्धू का कहना है कि मेरे लिए कोई पद मायने नहीं रखता था और न ही आगे किसी पद का महत्व पंजाब के हित से ऊपर होगा। उन्होंने कहा कि पंजाब के हित के लिए, यहां के लोगों की जिंदगी बेहतर बनाने के लिए मैं अंतिम सांस तक लड़ता रहूंगा।

इस वीडियो मैसेज में सिद्धू ने अपने इस्तीफे के बाद से उठ रहे कई सवालों के जवाब भी दिए। सिद्धू ने कहा कि मेरा मकसद चुनाव से पहले पार्टी को संकट में डालना नहीं है और न ही में कांग्रेस नेतृत को गुमराह कर रहा हूं। मैं क्या कांग्रेस आलाकमान को कोई गुमराह नहीं कर सकता, लेकिन मैं पंजाब के हितों और नैतिकता से समझौता भी नहीं कर सकता। आगे में अपने गुरूओं के आदर्शों और उनके द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलने का प्रयास करूंगा।

यह भी पढ़ें: नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा

इसके साथ ही सिद्धू ने पंजाब के नए एडवो‍केट जनरल (AG) और कार्यवाहक डीजीपी की नियुक्ति पर सवाल भी उठाए हैं। उन्‍होंने कहा कि जिन लोगों ने बेदअदबी के लिए दोषी लोगों को सुरक्षा दी और उनके केस लड़े उनकी नियुक्तियां हो रही हैं। ऐसे में पंजाब के हालातों में कोई बदलाव नहीं होने वाला, राज्य के हालात वहीं रहेंगे जो कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के समय थे। इससे साफ हो रहा है कि सिद्धू नए सरकार को लेकर लिए गए कुछ फैसलों से खुश नहीं है। अब लोगों की नजर इसपर टिकी है कि सिद्धू का अगला कदम क्या होगा। हालांकि वो कह रहे हैं कि मैं पार्टी के साथ जुड़ा रहूंगा।

Nitin Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned