scriptRahul Gandhi should increase his religious knowledge, take education | राहुल गांधी बढ़ाएं अपना धार्मिक ज्ञान, आवश्यक समझे तो मुझसे ले शिक्षा - सुमेधानंद | Patrika News

राहुल गांधी बढ़ाएं अपना धार्मिक ज्ञान, आवश्यक समझे तो मुझसे ले शिक्षा - सुमेधानंद

- धार्मिक भावनाओं पर बोलने से पहले राहुल करें अध्ययन

नई दिल्ली

Published: December 18, 2021 04:55:49 pm

नई दिल्ली। भाजपा सांसद स्वामी सुमेधानन्द ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए हिन्दू और हिंदुत्व पर शिक्षा ग्रहण करने की बात कही। उन्होंने कहा कि अगर राहुल गांधी को कोई आचार्य नहीं मिले तो वे शिक्षा देने के लिए तैयार है।
सुमेधानंद ने शनिवार को कहा कि राहुल गांधी को गुड़ और शक़्कर में अंतर् नहीं पता है, वे हिन्दू और हिंदुत्व में क्या समझेंगे। जिस तरह व्यक्ति और व्यक्तित्व में अंतर् नहीं है, वैसे ही हिन्दू और हिंदुत्व में कोई अंतर नहीं है। उन्होंने कहा कि हिन्दू व्यक्ति है और हिंदुत्व एक समूह है जो उसके सिद्धांतों को मानता है। राहुल गांधी को धार्मिक विषयों पर बोलने से पहले अध्ययन करना चाहिए।
सुमेधानंद ने कहा कि रामप्रसाद बिस्मिल को जब गोरखपुर जेल में बंद किया और फांसी की सजा मिली थी, तब उनसे जेलर ने अंतिम इच्छ पूछी तो बिस्मिल ने कहा अपनी मां के दर्शन करना चाहता हूं। मरने से पहले हवन यज्ञ करना चाहता हूं। बिस्मिल के साथ अशफाक उल्ला खान, रोशन सिंह और राजेंद्र नाथ लाहरी को भी फांसी हुई थी। सुमेधानंद ने कहा कि स्मृति और बलिदान पर यह हवन कार्यक्रम रखा है। कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी, वरिष्ठ पत्रकार वैद प्रताप वैदिक और सांसद सत्यपाल सिंह भी शामिल हुए।

mp_sumedhanand_2.jpg

प्रदेश सरकार के तीन साल के कार्यकाल को बताया फ्लॉप शो -
सुमेधानंद ने कहा कि राजस्थान की गहलोत सरकार ने झूठ बोलकर शासन हथियाया था और किसान, नौजवान, महिला समेत सभी वर्ग दुखी है। किसानों को कर्जा माफ़ी का वायदा कर शासन में आए थे तीन साल बीत गए लेकिन किसानों का इंतजार बना हुआ है। उन्होंने कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सच्चाई से वाकिफ नहीं है। उनकी उलटी गिनती शुरू हो चुकी है। कम्प्यूटर शिक्षक और संविदाकर्मियों से किया वायदा आजतक पूरा नहीं हुआ। इस सरकार ने गायों के नाम का पैसा खा लिया।

समाप्त
विवेक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.