scriptSri Sri Ravi Shankar's 'I Stand for Peace' campaign for global peace a | युक्रेन युद्ध के बीच वैश्विक शांति के लिए श्री श्री रविशंकर का ‘आई स्टैंड फॉर पीस’ अभियान | Patrika News

युक्रेन युद्ध के बीच वैश्विक शांति के लिए श्री श्री रविशंकर का ‘आई स्टैंड फॉर पीस’ अभियान

आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर ने वैश्विक स्तर पर ‘आई स्टैंड फॉर पीस’ अभियान शुरू कर पूरी दुनिया को शांति के प्रयासों में एकजुट होने की अपील की है। युरोप में इस अभियान को हजारों लोगों का समर्थन मिल रहा है। अब इसे अमेरिका के कई शहरों में शुरू किया जाएगा।

नई दिल्ली

Published: April 28, 2022 08:43:36 pm

युद्ध और उथल-पुथल के बीच शांति, प्रेम और सद्भाव के मानवीय मूल्यों पर ध्यान केंद्रित करने के उद्देश्य से श्री श्री रविशंकर ने संयुक्त राष्ट्र के जिनेवा स्थित मुख्यालय से वैश्विक अभियान 'आई स्टैंड फॉर पीस' की शुरुआत की है। विभिन्न देशों में हजारों लोग इस अभियान में शामिल हो रहे हैं। अगले महीने अभियान अमेरिका में 30 से अधिक शहरों में चलाया जाएगा।

अपने शांति प्रयासों के लए मिलान विश्वविद्यालय में डॉक्टरेट की उपाधि हासिल करते श्री श्री रविशंकर
अपने शांति प्रयासों के लए मिलान विश्वविद्यालय में डॉक्टरेट की उपाधि हासिल करते श्री श्री रविशंकर

युक्रेन युद्ध के बीच शांति के इस अभियान को आगे बढ़ाने के लिए रविशंकर ने संयुक्त राष्ट्र जिनेवा की महानिदेशक तातियाना वालोवाया सहित विभिन्न नीति निर्माताओं और राजनयिकों से मुलाकात की। इनमें संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी प्रतिनिधि इंदिरा मणि पांडे भी शामिल हैं।

महामारी के बाद की दुनिया जो रूस-यूक्रेन युद्ध जैसे वैश्विक संघर्षों का सामना कर रही है, वैश्विक आध्यात्मिक नेता रविशंकर ने वैश्विक ताकतों और जागरूक व्यक्तियों से शांति के लिए एकजुट होने की अपील की। उन्होंने कहा कि वे सभी इस घड़ी में हाथ मिलाएं और सद्भाव, मानवीय मूल्यों के निर्माण की दिशा में काम करें तथा समाज से अंधकार और अविश्वास को दूर करें।

संयुक्त राष्ट्र में IAHV (इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर ह्यूमन वैल्यूज़) और भारत के स्थायी मिशन की ओर से “महामारी के बाद की दुनिया में एकता और सहयोग” विषय पर आयोजित कार्यक्रम में रविशंकर ने कहा, “लोग एक साथ तब आते हैं जब कोई संकट आता है, जब उन्हें खतरा महसूस होता है या जब वे अति बुद्धिमान होते हैं। मेरा एक सवाल है - क्या लोग किसी ऐसी चीज के लिए एक साथ नहीं आ सकते जो सकारात्मक हो, कुछ ऐसा जो समाज के भीतर सद्भाव पैदा कर सके?” कार्यक्रम में संयुक्त राष्ट्र महानिदेशक तातियाना वालोवाया; इंद्र मणि पांडे, संयुक्त राष्ट्र और डब्ल्यूआईपीओ में भारत की राजदूत/स्थायी प्रतिनिधि शामिल थीं।

श्वास, ध्यान और राहत कार्य के माध्यम से कोविड -19 महामारी के दौरान लाखों लोगों की मदद करने में रविशंकर के प्रयासों की सराहना करते हुए, वालोवाया ने कहा, “श्री श्री रविशंकर द्वारा बनाई गई संरचनाएं दुनिया भर में लाखों लोगों की मदद करने में बहुत सक्रिय हैं। COVID-19 के नकारात्मक प्रभाव से निपटने के लिए कई राहत कार्यक्रम शुरू किए गए हैं। मेरा दृढ़ विश्वास है कि एकता और सहयोग न केवल महामारी के प्रभावों पर बल्कि अन्य वैश्विक चुनौतियों पर काबू पाने के लिए भी अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के सबसे शक्तिशाली उपकरण हैं।”

अपने तूफानी यूरोपीय दौरे के दौरान रविशंकर ने नीति निर्माताओं, राजनयिकों और हजारों आर्ट ऑफ लिविंग स्वयंसेवकों से मुलाकात की। उन्होंने पोलैंड के वारसॉ में आर्ट ऑफ लिविंग सेंटर में शरणार्थी बच्चों से मुलाकात की और उन्हें ईस्टर उपहार भी दिए। हजारों लोग सीओएस तोरवार स्टेडियम, वारसॉ में शांति ध्यान के लिए एकत्र हुए और #IStandForPeace का संकल्प लिया, जिसमें कई अन्य गणमान्य व्यक्तियों के बीच यूरोपीय संसद के पूर्व वीपी, श्री रेज़र्ड चरनेकी तथा पोलैंड और यूक्रेन में भारतीय राजदूत शामिल हुए।

सुरक्षित, हिंसा मुक्त और तनाव मुक्त विश्व का निर्माण करने के अपने दृष्टिकोण को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने रेड क्रॉस की अंतरराष्ट्रीय समिति (आईसीआरसी) के उपाध्यक्ष गिल्स कार्बोनियर से भी मुलाकात की। कार्बोनियर ने ट्वीट किया, "हमने वर्तमान संघर्षों में मानवीय और शांति प्रयासों, मानवीय सिद्धांतों और विविध धार्मिक उपदेशों के बीच समानता और भविष्य के आदान-प्रदान की संभावना पर चर्चा की।"

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Azam Khan Release: दो साल बाद जेल से रिहा हुए आजम खान, दोनों बेटों ने किया रिसीव, शिवपाल भी पहुंचेGyanvapi Masjid Case: ज्ञानवापी में शिवलिंग के दावे के बीच आज सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई, वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई कोExclusive: ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट मेंJammu Kashmir: रामबन में जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा ढहा, 7 लोग फंसे, रेस्क्यू ऑपरेशन जारीभाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: नड्डा ने दिया एकजुटता का संदेश, आज पीएम मोदी बताएंगे जीत का फॉर्मूलाGood News: AIIMS दिल्ली में अब 300 रुपए तक के टेस्ट होंगे मुफ्तIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारत के विदेश मंत्री जयशंकर ने उठाया आतंकवाद का मुद्दा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.