scriptStock market staggered, loss of 5 lakh crores in a single day | शेयर बाजार लडखड़़ाया, एक दिन में ही 5 लाख करोड़ का नुकसान | Patrika News

शेयर बाजार लडखड़़ाया, एक दिन में ही 5 लाख करोड़ का नुकसान

लगातार पांचवें दिन लाल निशान पर बंद बड़ा झटका, अमरीकी बैंक ने ब्याज दर 0.75 फीसदी बढ़ाई

नई दिल्ली

Published: June 16, 2022 10:19:54 pm

नई दिल्ली. अमरीकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की प्रमुख ब्याज दरों में 0.75 फीसदी की भारी वृद्धि के कारण गुरुवार को भारतीय शेयर बाजार में हाहाकार का आलम रहा। सेंसेक्स 1045 अंक और निफ्टी 331 अंक टूटकर बंद हुआ। निफ्टी 52 हफ्ते के न्यूनतम स्तर 15,360 पर चला गया। बीएसई पर 3375 शेयरों में से करीब 2632 निगेटिव ट्रेड कर रहे थे। बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का बाजार पूंजीकरण गिरकर 239 लाख करोड़ रुपए रह जाने से निवेशकों को 5 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। शुरुआती कारोबार के दौरान सेंसेक्स में 500 अंकों से ज्यादा की तेजी आई थी, लेकिन दिनभर के उतार- चढ़ाव के बाद शेयर बाजार लगातार पांचवें दिन लाल निशान पर बंद हुआ।
शेयर बाजार लडखड़़ाया, एक दिन में ही 5 लाख करोड़ का नुकसान
शेयर बाजार लडखड़़ाया, एक दिन में ही 5 लाख करोड़ का नुकसान

अमरीकी फेडरल बैंक ने प्रमुख ब्याज दरों में बुधवार को जो वृद्धि की, वह 28 साल में सबसे ज्यादा है। फेडरल बैंक ने 2022 और 2023 के लिए अमरीका में ग्रोथ अनुमान भी घटा दिया है। हालांकि उसका कहना है कि अमरीका में मंदी नहीं आएगी। फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पॉवेल ने आगे भी ब्याज दरों में बढ़ोतरी के संकेत दिए हैं। पॉवेल के मुताबिक फेड जुलाई में फिर दरों में 0.75 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकता है। अमरीका में महंगाई 40 साल के उच्चतम स्तर पर है।

कई देशों में बाजार की बढ़त पर ब्रैक

मंदी की आशंका के कारण अधिकांश एशियाई स्टॉक्स बढ़त खो चुके हैं। फेड के फैसले के बाद अमरीकी शेयर बाजार में उछाल आया था, लेकिन बाद में डाउ फ्यूचर्स 1.2 फीसदी की गिरावट के साथ ट्रेड करते दिखाई दिए। चीनी शेयर भी गिरावट के साथ बंद हुए, जबकि बैक ऑफ इंग्लैंड की ब्याज दरों में बढ़ोतरी के कारण यूके का ब्लू चिप एफटीएसई 0.5 फीसदी टूट गया। हालांकि जापान का निक्केई चार दिन की लगातार गिरावट के बाद 0.4 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ।
विदेशी निवेशकों की बिकवाली से भी बड़ा झटका
जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी.के. विजय कुमार का कहना है कि विदेशी निवेशकों (एफपीआइ) की लगातार बिकवाली दलाल स्ट्रीट के लिए बड़ा झटका है। विदेशी निवेशक इस कैलेंडर वर्ष में अब तक 19,2104 करोड़ रुपए की इक्विटी बेच चुके हैं। इसमें जून में अब तक की गई 24,949 करोड़ रुपए की बिकवाली शामिल है। गोल्डमैन सैस के कैसर मासरी ने चेतावनी दी कि अगले 3 महीने में उभरते बाजारों से निकासी और खराब प्रदर्शन देखने को मिल सकता है।
मंदी की चिंता

बाजार विशेषज्ञ चितिंत हैं कि फेड की दर वृद्धि योजना महंगाई को नियंत्रित करने में सक्षम होगी या इससे मंदी आएगी। एक सर्वे रिपोर्ट के अनुसार 40 साल की सबसे तेज महंगाई पर काबू पाने के लिए फेड की ओर से बढ़ाई जा रही ब्याज दरों के कारण अमरीकी अर्थव्यवस्था में अगले साल मंदी देखने को मिल सकती है।
ब्याज दर में वृद्धि का भारत पर असर
1. निवेशक भारतीय शेयर बाजार के बदले अब अमरीकी बाजार में निवेश में रुचि दिखाएंगे। इससे भारतीय शेयर बाजार में बिकवाली बढ़ेगी।
2. विदेशी निवेशकों की बिकवाली से शेयर बाजारों में गिरावट और तेज होने की आशंका, घरेलू खुदरा निवेश भी प्रभावित होगा।
3. फेडरल रिजर्व के बाद आरबीआइ पर भी ब्याज दरें बढ़ाने का दबाव बढ़ गया है। इससे देश में सभी तरह के लोन महंगे हो जाएंगे।
4. डॉलर की मजबूती के कारण रुपए में गिरावट आने की आशंका। इससे महंगाई और बढ़ेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Presidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस के निवास पहुंचे एकनाथ शिंदेMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतनMaharashtra Politics: बीजेपी और शिंदे गुट के बीच नहीं आएगी शिवसेना, लेकिन निभाएगी विरोधी की भूमिका, जानें संजय राउत ने क्या कहा?Kangana Ranaut ने Uddhav Thackeray पर कसा तंज, कहा- 'हनुमान चालीसा बैन किया था, इन्हें तो शिव भी नहीं बचा पाएंगे'उदयपुर हत्याकांड: आरोपियों के कराची कनेक्शन पर पाकिस्तान की बेशर्मी, जानिए क्या बोला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.