उम्मीद 2021 - ज्योतिष, अंकशास्त्र, टेरो कार्ड का आकलन, उम्मीदों से भरा नया साल

- नए साल में 4 ग्रहण, तीन भारत में दिखेंगे ।
- 2021 का मूलांक 5 यानी बुध का आधिपत्य रहेगा ।
- समय का पहिया '2021' में आर्थिक मजबूती की राह पर ।

By: विकास गुप्ता

Published: 24 Dec 2020, 10:42 AM IST

बात भविष्यवाणी, ज्योतिष की हो तो खुद, देश-प्रदेश और दुनिया से जुड़े कई सवाल खड़े हो जाते हैं। ऐसे ही यदि 2020 की स्थितियां सामने हों तो सवालों की संख्या स्वत: ही बढ़ जाती है। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार छह ग्रहों के गोल योग में ग्रहों की विपरीत चाल से दुनिया संकट में घिर गई। 2020 का पूरा समय कोरोना महामारी से संघर्ष में बीत गया। महामारी का कठिन काल गया नहीं है, नए वर्ष में भी संघर्ष जारी रहेगा। जनवरी-फरवरी के उत्पाती समय के बीच मंगल के शासन में 2021 में दस्तक दे रहा समय चक्र अपेक्षाओं के साथ मंगल कामना और आर्थिक मजबूती का भविष्य दिखा रहा है।

तारों-सितारों की चाल और गणना का समृद्ध विज्ञान समय चक्र की चुनौतियों पर विजय पाने की राह दिखाते रहे हैं। ज्योतिष गणना के मुताबिक ग्रहों की उलटी चाल ने 2020 को 125 वर्षों की सबसे बड़ी महामारी दी। वहीं, 2021 में मंगल के आधिपत्य में मजबूत अर्थतंत्र की मंगल कामना की जा रही है। जाते और आते साल से जुड़े ज्योतिष, अंकशास्त्री और टेरो कार्ड विशेषज्ञों के कुछ आकलन, जिन्हें केवल दिशा दर्पण समझें। लापरवाही के दुर्योग से बचने का योग हमारे हाथ में ही है...हर काम में खुद पर भरोसा रखें।

125 साल बाद ऐसा असर-
2020 में ग्रहों की चाल का एेसा असर सवा सौ साल बाद नजर आया। राजा बुध और मंत्री चंद्र के साथ प्रमादी संवत्सर 25 मार्च से शुरू हुआ, जो १२ अप्रैल २०२१ को समाप्त होगा। इस साल में गुरु-शनि की गति और राशि परिवर्तन, राहु-केतु का गोचर महामारी का कारण बना। प्रमादी वर्ष यानी आलस्य का साल, नाम के अनुरूप ही फल भी दिया। इस साल कई पंच व षट ग्रही योग रहे, जो राजाओं में संघर्ष का प्रतीक है। इसके फलस्वरूप अमरीका में डॉनल्ड ट्रंप की सत्ता खत्म हुई। मध्य प्रदेश में सरकार बदली, राजस्थान में सत्ता संघर्ष की स्थिति बनी। ऐसे ही हालात कई प्रदेशों में रहे।

सकारात्मक पहलू-
बीते साल में शनि-गुरु की युति के सकारात्मक पहलू रहे। शनि स्थायित्व का प्रतीक है। भारत की विश्व में पहचान मजबूत हुई। निवेश के द्वारा खुले। गुरु धर्म का प्रतीक है। इसके चलते राम मंदिर की नींव रखी गई।
नकारात्मक प्रभाव-
शनि के कारण चीन-पाकिस्तान से संबंधों में खटास आई। वैश्विक आर्थिक मंदी के हालात बने। मिथुन राशि में राहु ने महामारी की परिस्थितियों को जन्म दिया। छलकपट की राजनीति हुई।

नया साल, नई संभावनाएं -
2021 में सितारों के राजा और मंत्री दोनों मंगल रहेंगे। राक्षस संवत्सर होगा, जो 13 अप्रैल 2021 से शुरू होकर 1 अप्रैल 2022 को समाप्त होगा। नए साल-2021 के दो महीने जनवरी-फरवरी उत्पाती माह होंगे। 14 जनवरी से 11 फरवरी के बीच स्थितियां विपरीत रहेंगी। इस दौरान मकर राशि में गुरु-शनि के साथ बुध-शुक्र-सूर्य का पंचग्रही योग रहेगा, यह फरवरी में 9 से 11 के बीच षटग्रही योग बनाएगा। विश्व में उथल-पुथल रहेगी। अप्रत्याशित घटनाएं होंगी। चीन और पाकिस्तान की सीमाओं पर उत्पात के योग बनेंगे। अप्रैल में गुरु, मकर राशि से कुंभ राशि में अतिचारी हो कर जाएंगे। इस दौरान कोरोना से राहत मिलना शुरू होगी।

सकारात्मक पहलू-
अप्रैल में शनि-गुरु की युति टूटेगी और राहत मिलेगी। कोरोना की चुनौती से २०२२ तक दुनिया उबरेगी। चंद्र, मंगल की समता से लक्ष्मीनारायण योग से अर्थ तंत्र मजबूत होगा। बुध के प्रभाव से पर्यटन-सर्विस इंडस्ट्री रफ्तार पकड़ेगी।
नकारात्मक प्रभाव-
मंगल से भय की स्थिति बनी रहेगी। जनवरी-फरवरी में पंच और षट ग्रही योग बनने से कोरोना संक्रमण बढ़ेगा। राक्षस संवत्सर से उथल-पुथल वाला साल होगा। हिंसात्मक प्रवृत्ति और असंतोष रहेगा।

नए साल में 4 ग्रहण, तीन भारत में दिखेगा-
बीते साल में 6 ग्रहण लगे हैं, जबकि 2021 में दो चंद्र व दो सूर्य ग्रहण होंगे। इसमें 3 ग्रहण भारत में दिखाई देंगे, जिसमें एक सूर्य व 2 चंद्र ग्रहण होंगे। पहला सूर्य ग्रहण 10 जून को, दूसरा सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर को होगा। 26 मई को साल का पहला चंद्र ग्रहण लगेगा। यह उपच्छाया ग्रहण की तरह देखा जाएगा। दूसरा चंद्र ग्रहण 19 नवंबर को होगा।

2021 का मूलांक 5 यानी बुध का आधिपत्य -
अंक ज्योतिष के अनुसार 2021 का मूलांक 5 है। इसका आधिपत्य ग्रह बुध है, बुद्धिजीवियों का महत्त्व बढ़ेगा।
ज्योतिषीय आकलन अनुसार ग्रहों की चाल वक्री न होने से शुभ प्रभाव रहेंगे।
बीते साल सूर्य, बुध, गुरु, शनि, केतु, धनु राशि में थे। एेसा दुर्लभ संयोग 1723 में 296 साल पहले बना था। अब यह 500 साल बाद बनेगा।

Show More
विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned