UN प्रोग्राम का मॉडर्ना के साथ करार, 50 करोड़ कोरोना वैक्सीन की डोज से इन देशों को मिलेगा लाभ

यूएन समझौते के तहत इसके जरिए गरीब देशों को वैक्सीन का लाभ मिल सकेगा।

By: Mohit Saxena

Published: 03 May 2021, 07:21 PM IST

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र (UN) ने जरूरतमंद देशों तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए मॉडर्ना एवं टीका प्रवर्तक गावी के साथ सौदे का ऐलान किया है। इसके तहत दवा कंपनी 2022 के आखिर तक मध्यम आय वाले देशों को 50 करोड़ कोरोना टीके की डोज को पहुंचाने की कोशिश करेगी। यूएन समझौते के तहत इसके जरिए गरीब देशों को वैक्सीन का लाभ मिल सकेगा।

Read More: Pfizer-BioNtech ने EMA से बच्चों के लिए कोरोना टीका अधिकृत करने का किया अनुरोध

मॉडर्ना टीके को आपात मंजूरी

सोमवार को घोषित इस अग्रिम खरीद समझौते से महज कुछ दिन पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कुछ सप्ताह पहले मॉडर्ना टीके को आपात मंजूरी देने की घोषणा की थी। इससे संयुक्त राष्ट्र समर्थित कोवैक्स कार्यक्रम को प्रारंभ करने का रास्ता साफ हो गया।

46.6 करोड़ खुराक अगले साल तक होगी तैयार

गौरतलब है कि इस साल की आखिरी तिमाही से पहले टीकों की आपूर्ति शुरू नहीं हो पाएगी और सौदे के तहत खुराकों का बड़ा हिस्सा यानी 46.6 करोड़ खुराक के अगले साल तक तैयार होने की योजना है। वहीं बाकी 3.4 करोड़ खुराक इस वर्ष तक मिल जाएगी। सौदे की वित्तीय शर्तों का खुलासा नहीं हो पाया है।

Read More: दुनिया के कई देश वैक्सीन पासपोर्ट पर कर रहे चर्चा, विदेशों में आनेजाने वाले लोगों के लिए बड़ी समस्या

कई विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना वायरस का संकट अब तेज होता है, खासकर भारत में मामले अप्रत्याशित रूप से बढ़ रहे हैं। मॉडर्ना टीका (कोरोना वायरस की) भारत में फैल रहे नए वैरिएंट से निपटने में अब तक सबसे प्रभावी साबित हुआ है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned