वीएचपी ने शुरु किया हिंदुओं के पलायन का देशव्यापी सर्वेक्षण

वीएचपी ने शुरु किया हिंदुओं के पलायन का देशव्यापी सर्वेक्षण
vhp survey on hindu migration

वीएचपी ने मुस्लिम बहुल इलाकों से हिंदुओं के पलायन को चिंताजनक मानते हुए एक सर्वेक्षण शुरू किया है, जिसका ध्येय हिंदुओं को अपने हितों के लिए जागरूक करना है।

नई दिल्ली. विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने पलायन नहीं, पराक्रम नाम से देशव्यापी अभियान शुरू किया है। इसका मकसद मुस्लिम बहुल वाले इलाकों में इस बात का सर्वेक्षण करना कि कितने हिंदू अल्पसंख्यकों को पलायन करने के लिए बहुसंख्यक मुस्लिम समुदायों ने मजबूर किया।




पलायन के लिए मजबूर
उत्तर प्रदेश के कैराना में हिंदुओं के पलायन का मामला सामने आने के बाद इस अभियान की शुरुआत वीएचपी ने की है। वीएचपी के नेताओं का कहना है कि इस तरह की घटनाएं पश्चिम बंगाल, केरल और कश्मीर में देखने को मिलता था, लेकिन अब यह देश भर में फैलता जा रहा है। अब तो ये बातें सामने आ रही हैं कि जहां भी मुस्लिम बहुसंख्यक हैं वहां से हिंदुओं को पलायन के लिए मजबूर किया जा रहा है। यह एक मनोवैज्ञानिक युद्ध है, जिसके तहत जिहाद के नाम पर मुस्लिम बहुल वाले इलाकों रहने वाले हिंदुओं को पलायन करने के लिए मजबूर किया जा रहा है।




संघर्ष की राह ही बेहतर
वीएचपी नेता सुरेंद्र जैन ने बताया कि हिंदुओं को उनके दबाव में पलायन नहीं करना चाहिए और उन्हें फाइट करना चाहिए। उन्होंने बताया है कि जम्मू और कश्मीर में पंडितों को उन्हें अपने ही घर से बेघर होने के लिए मजबूर किया गया। वहां के पंडितों ने बिना संघर्ष किए ही घर छोड़कर पलायन कर गए। लेकिन पूंछ जिले में 20 प्रतिशत हिंदू हैं, उन्होंने पलायन के बदले संघर्ष का रास्ता चुना है। राजौरी में 35 प्रतिशत हिंदू हैं, पर उन्होंने पलायन का रास्ता नहीं चुना। कैराना से लगते जिलों में जहां जाट समुदाय के लोग कम संख्या में हैं, लेकिन उन्होंने संघर्ष का रास्ता चुना है, जबकि कैराना से लोगों ने पलायन शुरू कर दिया। इसलिए जरूरी हो गया है कि हिंदुओं को संघष की राह पर चलने के लिए प्रेरित किया जाए। 



Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned