scriptजावाल के मेले में उमड़ा जनसैलाब, मन्दिर में दर्शन के लिए लगी रही कतारें | Patrika News
समाचार

जावाल के मेले में उमड़ा जनसैलाब, मन्दिर में दर्शन के लिए लगी रही कतारें

श्रद्धालुओं की भीड़ इतनी की लोरियों से पहुंचाई प्रसादी, गुजरने के लिए बाजे का इस्तेमाल …

सिरोहीJun 21, 2024 / 05:36 pm

MAHENDRA SINGH VAGHELA

जावाल. शहर के श्री नीलकंठ ( लीलाधारी) महादेव का 13वॉ व श्री साँचीयाव माता का 19वॉ वार्षिकोत्सव चामुंडा गरबा मंडल के तत्वावधान में शुक्रवार को साधु-संतों के सानिध्य में आयोजित हुआ। इस दौरान मंदिर परिसर में शुभ मुहूर्त में महाभिषेक, महापूजन, महाआरती, ध्वजारोहण समेत दिनभर कई धार्मिक अनुष्ठान आयोजित हुए। मंदिर परिसर में दिनभर दर्शनार्थियों का तांता लगा रहा। मन्दिर में जयकारों से वातावरण भक्तिमय बना रहा। मेले में सिरोही, जालोर व पाली और कई राज्यों के लोग सजधजकर मेले में शरीक हुए। मेले में बाजार, मेला स्थल, पांडाल, हाट बाजार समेत चहुँओर लोगों की भीड़ ही भीड़ नजर आ रही थी। मेले में लगे ब्रेक डांस, नाव, बड़ा झूला ( रेट) , चकरी समेत कई झूलों में बैठकर लोगों ने लुत्फ उठाया।

महाप्रसादी में उमड़े श्रद्धालु

महोत्सव के दौरान महाप्रसादी का आयोजन हुआ। जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने प्रसादी ग्रहण की। महाप्रसादी का आयोजन लाभार्थी माली श्रीमती ओटीबाई धर्मपत्नी अम्बालाल जी पुत्र ओटाजी राठौड़ (रेतरिया) परिवार की ओर से हुआ। मेले में कार्यकर्ताओं को सौंपी अपनी-अपनी जिम्मेदारियों पर सभी खरे उतरते नजर आए ।

संत-महात्माओं का रहा सानिध्य

जालोर के सिरे मन्दिर के प्रेमनाथजी महाराज, जामोतरा के भीमगिरीजी महाराज, जावाल के रामगिरीजी महाराज, लक्ष्मणदासजी महाराज, त्रिवेणगिरिजी महाराज, ईस्वरभारतीजी महाराज व शंकरपुरी धूणी के पूरणगिरिजी महाराज समेत कई संतों का सानिध्य रहा।

राजनेताओं ने मेले में की शिरकत

महोत्सव के दौरान सिरोही सांसद लुम्बाराम चौधरी, उपप्रधान नारायणसिंह समेत कई राजनेताओं का आने का सिलसिला जारी रहा। सांसद ने मंदिर में दर्शन किए।

जगह-जगह की जल व शरबत की व्यवस्था

महोत्सव के दौरान गर्मी के मौसम को देखते हुए लोगों के लिए जगह-जगह पेयजल की व्यवस्था की गई। जिसमें बस स्टैंड पर भामाशाहों की ओर से शरबत व पानी की व्यवस्था भी की गई। ताकि भीषण गर्मी में श्रद्धालुओं को राहत मिल सके।

मेले में पुलिस ने संभाली व्यवस्था

महोत्सव के दौरान शांति और यातायात व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस जाब्ता मुस्तैद रहा। जगह-जगह पुलिसकर्मी तैनात रहकर व्यवस्था संभालते नजर आए।

भजन संध्या में श्रोताओं का झांकियों ने मन मोहा

महोत्सव के पूर्व बुधवार रात को भजन संध्या आयोजित हुई। जिसमें गायक कलाकारों ने गणपति वंदना से शुरुआत कर एक से बढ़कर एक भजनों की प्रस्तुति दी।
दिल्ली के अंतर्राष्ट्रीय कलाकार मनोज रिया शर्मा एन्ड पार्टी ने गणपति, राधा-कृष्णा, खाटूश्याम जी, कृष्णा-सुदामा समेत कई देवी-देवताओं की झांकियों की प्रस्तुति दी। जिसे देखने पांडाल से बाहर तक भीड़ उमड़ पड़ी। झांकियां देखने के लिए देर रात तक भीड़ रही।

दो बीघों में रसोई, हजारों श्रद्धालुओं के लिए बनी महाप्रसादी, भीड़ इतनी की गुजरने के लिए बाजे का किया इस्तेमाल

जावाल के मेले में श्रद्धालुओं की भीड़ इतनी हैं कि कार्यक्रम स्थल पर श्रद्धालुओं को पैर रखने तक को जगह नहीं मिल रही। यहां हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी है। मेले में करीब एक लाख से अधिक लोग शरीक होते हैं। श्रद्धालुओं के लिए महाप्रसादी तैयार करने के लिए दो बीघा क्षेत्र में रसोई बनाई गई हैं।

ऐसे करते हैं संचालन

दरअसल मेले में अलग-अलग श्रद्धालुओं के महाप्रसादी ग्रहण करने के लिए अलग-अलग टैण्ट लगाए गए हैं। इसमें शहरवासियों को महोत्सव से पूर्व अलग-अलग जिम्मेदारी के लिए परिचय पत्र जारी किए गए हैं। ताकि मेले में किसी तरह की अव्यवस्था नहीं फैले।

लोरियों से ले जाते प्रसादी, गुजरने के लिए बाजे का इस्तेमाल

महोत्सव में श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए प्रसादी तैयार की जाती है। यहां एक लाख से अधिक लोग शरीक होते हैं, जिनके लिए दो बीघा में रसोई बनाकर प्रसादी बनाई जाती है। प्रसादी को रसोईघर से पांडाल तक लोरियों में ले जाया जाता है। इस बीच पांडाल में भीड़ इतनी रहती है कि रसोई से पांडाल तक कार्यकर्ताओं को लोरी में महाप्रसादी ले जाने के लिए संकेतक रूप में बाजे का इस्तेमाल करना पड़ता है।

Hindi News/ News Bulletin / जावाल के मेले में उमड़ा जनसैलाब, मन्दिर में दर्शन के लिए लगी रही कतारें

ट्रेंडिंग वीडियो