scriptदमोह रेलवे स्टेशन पर ढाई माह के दुधमुंहे मासूम की थप्पड़ मारकर हत्या | Patrika News
समाचार

दमोह रेलवे स्टेशन पर ढाई माह के दुधमुंहे मासूम की थप्पड़ मारकर हत्या

ढाई माह के दुधमुंहे मासूम की थप्पड़ मारकर हत्या कर दी गई। वारदात को तब अंजाम मिला जब बीमार मासूम को उसकी मां पानी पिला रही थी पत्नी बच्चे को बचा रही थी, तो आरोपी ने उसके साथ मारपीट की रेलवे स्टेशन पर हत्या को अंजाम देने के बाद स्टेशन परिसर में रखी अपनी काले रंग की स्कूटी

दमोहJun 10, 2024 / 06:40 pm

pushpendra tiwari

दमोह. रेलवे स्टेशन पर ढाई माह के दुधमुंहे मासूम की थप्पड़ मारकर हत्या कर दी गई। वारदात को तब अंजाम मिला जब बीमार मासूम को उसकी मां पानी पिला रही थी। इसी बीच अज्ञात व्यक्ति मौके पर पहुंचा और बच्चे को थप्पड़ मारने लगा। मां ने मासूम को बचाने की कोशिश की, तो आरोपी ने उसके साथ मारपीट कर दी। पास में खड़ा पति बच्चे और पत्नी को बचाने दौड़ा, तो आरोपी ने उसे भी पीटा। घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। वहीं बच्चे की मौत हो गई। इधर, बच्चे का पिता लेखराम आदिवासी निवासी घोघरा थाना मडिय़ादो जीआरपी पुलिस से मदद की गुहार लगाता रहा, लेकिन पुलिस ने कोई मदद नहीं की। उल्टा डांट फटकार कर पुलिस ने उसे भगा दिया। पीडि़त ने आरोप लगाया कि जीआरपी पुलिस ने कोई मदद नहीं की। इसके बाद मैंने डायल 100 पर कॉल किया। पुलिस आई और पुलिस ने जांच शुरू की। घटना शनिवार सुबह करीब ४.५२ बजे की है। पीडि़त दंपती गौंडवाना एक्सप्रेस से ढाई माह के मासूम को लेकर सोनीपथ से लौटा था। बच्चा बीमार था, तो दमोह में उसका इलाज कराने के लिए पति पत्नी स्टेशन पर ठहर गए। इसी बीच अज्ञात आरोपी वहां पहुंचा और मासूम को थप्पड़ मारकर उसकी हत्या कर दी। अभी घटना के पीछे की वजह पता नहीं चल सकी। आरोपी के पकड़े जाने के बाद घटना का खुलासा हो सकता है। मामले में जीआरपी डीएसपी सारिका पांडे ने बताया कि मासूम की मौत के मामले में अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। सीसीटीवी कैमरे में आरोपी को देखा गया है, जो घटना को अंजाम देकर मौके से भाग गया। अज्ञात आरोपी काले रंग का कुर्ता और केसरिया धोती पहने हुए था। उसकी तलाश की जा रही है।
काले रंग की स्कूटी से फरार हुआ हत्यारा

ढाई माह के मासूम शिवम पिता लेखराम आदिवासी की हत्या का आरोपी घटना के बाद से फरार है। जबकि सीसीटीवी कैमरों, शहर के विभिन्न स्थानों पर लगे कैमरों में उसे आते जाते देखा गया है। सूत्र बताते हैं कि आरोपी रेलवे स्टेशन पर हत्या को अंजाम देने के बाद स्टेशन परिसर में रखी अपनी काले रंग की स्कूटी पर सवार हुआ और सागर मार्ग की ओर रवाना हुआ। इसके बाद आरोपी ने सागर नाका के आगे टोल प्लाजा से कुछ दूरी पर एक दुकान में चाय पी और फिर अपनी स्कूटी धोई इसके बाद वह आगे निकल गया। इधर पुलिस इस दौरान शहर के नाकों की नाकाबंदी प्रक्रिया भी पूरी नहीं कर पाई। घटना के बाद जीआरपी पुलिस ने शव की पीएम कार्रवाई कराई और शव परिजनों को सौंपकर उन्हें उनके गांव के लिए रवाना कर दिया।
जीआरपी से मदद मांगी, तो हड़काकर भगाया

लेखराम ने आगे बताया कि पत्नी बच्चे को बचा रही थी, तो आरोपी ने उसके साथ मारपीट की। जब मैं दोनों को बचाने दौड़ा, तो आरोपी मुझे भी मारने लगा। जब तक मैंने ईंट उठाई, तो आरोपी भाग गया। वहीं लेखराम ने आरोप लगाया कि पास में ही पुलिस वाला खड़ा था। मैंने उनसे मदद की गुहार लगाई। लेकिन पुलिस वालों ने मेरी मदद नहीं की। उन्होंने हड़काते हुए कहा कि जा तेरा बच्चा मर गया। अब उसे घर ले जा।

Hindi News/ News Bulletin / दमोह रेलवे स्टेशन पर ढाई माह के दुधमुंहे मासूम की थप्पड़ मारकर हत्या

ट्रेंडिंग वीडियो