scriptहादसे के बाद नशेड़ी रईसजादे पर मेहरबान पुलिस, हवालात में वीआइपी सुविधा दे रहे | After the accident, the police are kind to the drug addict rich boy, giving him VIP facilities in the lockup | Patrika News
समाचार

हादसे के बाद नशेड़ी रईसजादे पर मेहरबान पुलिस, हवालात में वीआइपी सुविधा दे रहे

चार लोगों की जान लेने वाले नशेड़ी रईसजादे को नरयावली थाना पुलिस द्वारा वीआइपी सुविधा दिए जाने के आरोप लग रहे हैं। आरोप हैं कि पुलिस थाने में आरोपी को गर्मी न लगे इसके लिए हवालात में कूलर की सुविधा दी गई।

सागरJun 21, 2024 / 12:27 pm

Madan Tiwari

एक साथ जली तीन चिताएं

एक साथ जली तीन चिताएं

गोरा गांव में एक साथ जली तीन चिताएं, यहां नाराज ग्रामीणों ने फोरलेन पर शव रखकर किया चक्काजाम

सागर. चार लोगों की जान लेने वाले नशेड़ी रईसजादे को नरयावली थाना पुलिस द्वारा वीआइपी सुविधा दिए जाने के आरोप लग रहे हैं। आरोप हैं कि पुलिस थाने में आरोपी को गर्मी न लगे इसके लिए हवालात में कूलर की सुविधा दी गई। घटना शाम चार बजे के आसपास की होने के बाद भी आरोपी अमन बिड़ला का शराब व अन्य चिकित्सीय परीक्षण रात 12 बजे के बाद कराया गया। पुलिस द्वारा आरोपी को विशेष सुविधाएं मुहैया कराने को लेकर नरयावली विधायक प्रदीप लारिया ने पुलिस अधीक्षक के सामने आपत्ति जताई है।

– उग्र आंदोलन की चेतावनी

विधायक ने आरोपी पर धारा 304 के तहत मामला दर्ज कर कठोर कार्रवाई के लिए बोला है। विधायक लारिया की बात का समर्थन करते हुए भाजपा नेता अशोक सिंह बामोरा ने भी चेतावनी दी है कि यदि पुलिस ने आरोपी पर धारा 304 दर्ज न कर लाभ पहुंचाने का प्रयास किया तो वह पीडि़त पक्ष के साथ उग्र आंदोलन करेंगे। क्षत्रिय समाज के अध्यक्ष हरिराम सिंह कहा यदि अगले 24 घंटे में पुलिस मामला दर्ज नहीं करती है तो उग्र आंदोलन के साथ समाजजन के साथ सड़क पर उतरकर चक्काजाम भी किया जाएगा। अंतिम संस्कार के दौरान उपस्थित सभी लोगों का कहना था कि पीडि़त परिवार के साथ हर हाल में न्याय होना चाहिए और आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

– हर देखने वाले की आंख हुई नम

गुरुवार को बंडा क्षेत्र के गौरा गांव में मातम छाया रहा। पोस्टमार्टम के बाद एक ही घर पर तीन शव एक साथ पहुंचे तो चीख-पुकार मच गई। इसके बाद तीन पीढिय़ों मां, बेटे और पोती की एक साथ जलती तीन चिताओं के देख वहां मौजूद हर व्यक्ति की आंख नम हो गई। दरअसल बुधवार को गौरा गांव निवासी 40 वर्षीय रामनरेश पुत्र सहेंद्र सिंह उनकी 60 वर्षीय मां शारदा बाई और 13 साल की बेटी महिमा की सड़क हादसे में मौत हो गई थी।

– गुस्साए ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

सड़क हादसे में मोकलपुर गांव निवासी 25 वर्षीय एमआर झूलन विश्वकर्मा की भी मौत हुई थी। गुरवार को पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव लेकर गांव पहुंचे और ग्रामीणों के साथ सागर-नरसिंहपुर फोरलेन पर चक्काजाम कर दिया। दोपहर में करीब दो घंटे तक परिजन व ग्रामीण सड़क पर बैठे रहे। उनकी मांग थी कि लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाने वाले नशेड़ी के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाए और पीडि़त परिवार को उचित मुआवजा दिया जाए। चक्काजाम की सूचना के बाद पुलिस व प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और समझाइश व आश्वासन देकर जाम समाप्त कराया।

– यह है मामला

बुधवार को नशेड़ी रईसजादे अमन बिड़ला ने जरुआखेड़ा के पास एक के बाद एक दो मोटर साइकिलों को टक्कर मारी थी। जिसमें तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि एक घायल युवक ने अस्पताल पहुंचने के पहले ही दम तोड़ दिया था। हादसा इतना भीषण था कि मोटर साइकिल के परखच्चे उड़ गए थे तो लग्जरी कार का भी अलग हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रसत हो गया था।

– सख्ती से कार्रवाई होगी

शिकायत आई थी, लेकिन आरोपी को किसी प्रकार का वीआइपी ट्रीटमेंट नहीं दिया जाएगा। उसके खिलाफ नियमानुसार जो भी धाराएं हैं कार्रवाई होगी।

अभिषेक तिवारी, पुलिस अधीक्षक

Hindi News/ News Bulletin / हादसे के बाद नशेड़ी रईसजादे पर मेहरबान पुलिस, हवालात में वीआइपी सुविधा दे रहे

ट्रेंडिंग वीडियो