scriptअभिभावकों को ग्रुप पर भेजा किताब-यूनिफार्म के लिए खास दुकान का नाम….प्रशासन की टीम पहुंची जांच करने | bhopal collecter | Patrika News
समाचार

अभिभावकों को ग्रुप पर भेजा किताब-यूनिफार्म के लिए खास दुकान का नाम….प्रशासन की टीम पहुंची जांच करने

ग्रुप्स पर भेजी थी 26 पेज की पीडीएफ जारी किया हुआ है प्रतिबंधात्क आदेश दस फीसदी बढ़ोतरी करने वालों की सूची तैयार – दस फीसदी तक फीस बढ़ोतरी करने वालों की सूची एसडीएम स्तर पर तैयार कर ली गई है। इसमें शहर के 135 निजी स्कूल है। हालांकि कार्रवाई फीस के अनुसार होगी। दस फीसदी […]

भोपालJun 16, 2024 / 11:06 am

देवेंद्र शर्मा

  • ग्रुप पर मैसेज से स्कूल प्रबंधन ने किया इंकार, जिस खास दुकान का नाम बताया वह बंद मिली
    भोपाल.
    खास दुकान से किताब व यूनिफार्म खरीदी करने के मैसेज पर जिला प्रशासन की टीम ने शनिवार को राजीव नगर स्थित क्वीन मैरी स्कूल पहुंचकर जांच की। बताया जा रहा है कि स्कूल की ओर से अभिभावकों के बनाए वॉट्सअप ग्रुप्स पर किताब व यूनिफार्म को लेकर भेजी पीडीएफ में खास दुकान का जिक्र किया गया था। हालांकि स्कूल प्रबंधन ने प्रशासन की टीम के सामने ऐसे किसी भी मैसेज से इंकार किया है। एसडीएम रवीश श्रीवास्तव का कहना है कि गुप पर मैसेज तो मिला हैं। जांच टीम स्कूल द्वारा बताई खास दुकान पर भी पहुंची तो वह बंद मिली। श्रीवास्तव का कहना है कि एक दिन का समय दिया है। दुकान नहीं खुली तो फिर इसपर कार्रवाई का प्रतिवेदन बनाकर दुकान सील की जाएगी। स्कूल पर भी कार्रवाई होगी।
ग्रुप्स पर भेजी थी 26 पेज की पीडीएफ
  • अभिभावकों के वाट्सअप ग्रुप पर 26 पेज की पीडीएफ भेजी गई। इसमें नर्सरी से 12वीं तक की किताबों, उनके प्रकाशकों का जिक्र है। इसमें ही खास दुकान के नाम का भी जिक्र है। इसके बाद ही मामला वायरल हुआ। इसकी जानकारी प्रशासन तक पहुंची तो गोविंदपुरा एसडीएम व उनकी टीम जांच के लिए पहुंचे। मामला सही पाया। बुक व यूनिफार्म शॉप पर पूछताछ बाकी है। इसके बाद आगामी कार्रवाई के लिए मामले को कलेक्टर के पास भेजा जाएगा।
जारी किया हुआ है प्रतिबंधात्क आदेश
  • कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रमसिंह ने स्कूल द्वारा पुस्तक व यूनिफॉर्म व अन्य सामग्री विक्रय कराने पर प्रतिबंधात्मक लागू किया हुआ है। इसकी जांच के लिए आठ टीमें भी बना रखी है। पांच साल में की गई फीस बढ़ोतरी की डिटेल स्कूलों से मांगी है। अतिरिक्त फीस वसूली पर अभी कार्रवाई बाकी है। इसमें अधिक फीस वसूली होने पर उसे अभिभावकों को लौटाई जाएगी।
दस फीसदी बढ़ोतरी करने वालों की सूची तैयार

– दस फीसदी तक फीस बढ़ोतरी करने वालों की सूची एसडीएम स्तर पर तैयार कर ली गई है। इसमें शहर के 135 निजी स्कूल है। हालांकि कार्रवाई फीस के अनुसार होगी। दस फीसदी से अधिक बढ़ोतरी करने वाले स्कूलों की संख्या 40 से अधिक बताई जा रही है। आगामी सप्ताह में इनपर कार्रवाई की तैयारी है।

मालीखेड़ी में कब्जे से मुक्त कराई ढाई हेक्टेयर जमीन

भोपाल. मालीखेड़ी में जिला प्रशासन की टीम ने जमीन से कब्जा हटवाने के लिए कार्रवाई की। यहां मनोज कुशवाह नामक व्यक्ति ने करीब ढाई हेक्टेयर जमीन पर कब्जा कर उसकी प्लॉटिंग शुरू कर दी थी। अवैधतौर पर जमीन विक्रय की जा रही थी, मकान बनाकर बेचने की कोशिश की जा रही थी। इसकी शिकायत भूमि स्वामी धर्मेंद्र कौशल ने की। जांच के बाद मामला सही पाया गया। शनिवार को प्रशासन की टीम जेसीबी लेकर मौके पर पहुंची और यहां कब्जे को हटाया गया। अवैध प्लॉटिंग और निर्माण को प्रतिबंधित किया गया।

एसडीएम से करें शिकायत
  • स्कूल फीस-यूनिफॉर्म मामले ने जिला प्रशासन ने 30 मई को आठ जांच टीम गठित की थी। इन्हें स्कूल में जाकर पांच साल की फीस और पाठ्यक्रम में शामिल किताबों को आइएसबीएन नंबर से जांचना था। टीम का नेतृत्व नजूल एसडीएम कर रहे हैं। यदि स्कूल फीस- यूनिफॉर्म, पाठ्यक्रम को लेकर कोई शिकायत या जानकारी है तो संबंधित नजूल एसडीएम को इसकी शिकायत की जा सकती है।

Hindi News/ News Bulletin / अभिभावकों को ग्रुप पर भेजा किताब-यूनिफार्म के लिए खास दुकान का नाम….प्रशासन की टीम पहुंची जांच करने

ट्रेंडिंग वीडियो