scriptफायर एनओसी का ऑडिट…1200 उद्योग महज 65 के पास ही फायर एनओसी…आज प्रशासन बैठक लेकर समझाएगा अग्रि सुरक्षा कितनी जरूरी | bhopal collecter | Patrika News
समाचार

फायर एनओसी का ऑडिट…1200 उद्योग महज 65 के पास ही फायर एनओसी…आज प्रशासन बैठक लेकर समझाएगा अग्रि सुरक्षा कितनी जरूरी

ऐसी अनियमितताएं काटजू अस्पताल से लेकर मॉल तक में लापरवाही अग्नि सुरक्षा के लिए ये इंतजाम जरूरी

भोपालJun 20, 2024 / 10:54 am

देवेंद्र शर्मा

  • हरदा हादसा, भोपाल गैस ट्रेजेडी की भयावहता दिखाकर उपाय करने का कहेंगे
    भोपाल.
    अग्रि सुरक्षा के इंतजाम करने में हमारा औद्योगिक क्षेत्र पूरी तरह से फैल है। यूं कह सकते हैं कि आग लगे तो बचाव के इंतजाम ही नहीं है। जिला प्रशासन की फायर ऑडिट रिपोर्ट इसका खुलासा करती है। गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र के ही छोटे-बड़े 1200 उद्योगों में से महज 65 के पास ही फायर एनओसी है। ये पांच फीसदी ही है। स्कूल, अस्पताल व अन्य बड़े सार्वजनिक उपयोग के भवनों के भी कमोबेश यही हाल है। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने अग्रि सुरक्षा जांच के लिए टीम बनाई थी, जिसके बाद नजूल स्तर पर एसडीएम की टीम ने जांच की। एसडीएम रवीश श्रीवास्तव का कहना है कि गुरुवार को गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र के उद्यमियों की बैठक आयोजित की है, इसमें अग्नि सुरक्षा के इंतजामों का महत्व व जरूरत समझाएंगे। यहां उद्यमियों को भोपाल गैस ट्रेजेडी से लेकर हरदा हादसे का जिक्र करते हुए समझाया जाएगा कि अग्रि सुरक्षा उद्योग व आमजन के लिए कितना जरूरी है। हाल में शहर के कोचिंग व होटल संचालकों की भी प्रशासन ने बैठक की थी।
ऐसी अनियमितताएं
  1. विमल पैकर्स- बॉक्स का काम होता है। 09 कर्मचारी काम करते हैं। दो फायर सिलेंडर है, जिनपर तारीख अंकित नहीं है। बाहर साइट फायर संबंधी पाइप लाइन नहीं है। फायर सेफ्टी का कोई उपकरण नहीं है।
  2. आकृति इंटीरियर- फर्नीचर का काम होता है। 08 कर्मचारी है। फायर सुरक्षा के कोई उपकरण नहीं है।
  3. राजश्री पान मसाला फैक्ट्री- फायर एनओसी नहीं है। फायर स्प्रिंकिलर हर तल पर उपलब्ध नहीं है। 250 कर्मचारी काम करते हैं।
काटजू अस्पताल से लेकर मॉल तक में लापरवाही
  • 62 अस्पतालों में अग्रि सुरक्षा की जांच, 45 में एनओसी व उपकरण नहीं मिले।
  • 38 मॉल व व्यवसायिक कॉम्प्लेक्स की जांच 28 में एनओसी- उपकरण नहीं
  • 72 स्कूलों में जांच, 55 में इंतजाम अधूरे मिले
  • 42 कोचिंग में से 35 में इंतजाम अधूरे
    नोट- काटजू अस्पताल से लेकर एमपी नगर स्थित मॉल तक में अधूरे रहे इंतजाम।
अग्नि सुरक्षा के लिए ये इंतजाम जरूरी
  • आवाजाही के अलग-अलग दरवाजे, वेट राइजर, होज रील, ऑटोमैटिक स्प्रिंकलर सिस्टम, यार्ड हायड्रेंट, यूजी टैंक व इससे जुड़े कनेक् शन, टेरेस टैंक, फायर पंप, टेरेस पंप, फर्स्ट एड फायर फायटिंग एप्लायंसेज, प्रेशराइजेशन सिस्टम व ऑटोमैटिक डिटेक् शन सिस्टम।

Hindi News/ News Bulletin / फायर एनओसी का ऑडिट…1200 उद्योग महज 65 के पास ही फायर एनओसी…आज प्रशासन बैठक लेकर समझाएगा अग्रि सुरक्षा कितनी जरूरी

ट्रेंडिंग वीडियो