scriptBig news: रेलवे स्टेशन में रात दो बजे तक सैकड़ों यात्रियों का हंगामा, पटरी पर बैठे, पैनल रूम में घुसकर जताया विरोध | Big news: Hundreds of passengers created a ruckus at the railway station till 2 am, sat on the tracks, entered the panel room and protested | Patrika News
समाचार

Big news: रेलवे स्टेशन में रात दो बजे तक सैकड़ों यात्रियों का हंगामा, पटरी पर बैठे, पैनल रूम में घुसकर जताया विरोध

आरपीएफ ने मामला किया शांत, सुबह पातालकोट से किया रवाना

छिंदवाड़ाJun 12, 2024 / 09:33 am

ashish mishra

छिंदवाड़ा. दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे नागपुर मंडल द्वारा यात्री ट्रेनों से पहले मालगाड़ियों को प्राथमिकता देने से यात्रियों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। सोमवार रात नैनपुर से छिंदवाड़ा आने वाली पैसेंजर ट्रेन को दो घंटे तक झिलमिली स्टेशन पर रोक दिया गया। जबकि इस ट्रेन में 200 से अधिक यात्रियों ने पेंचेवेली पैसेंजर में भोपाल और इंदौर तक के लिए यात्रा करने के लिए टिकट ले रखा था। इसमें कई यात्री परीक्षार्थी थे, जिन्हे भोपाल और इंदौर में परीक्षा देनी थी। पेंचवेली ट्रेन छूट जाने से यात्री आक्रोशित हो गए। उन्होंने पहले झिलमिली रेलवे स्टेशन में हंगामा किया, स्टेशन प्रबंधक के ऑफिस में घुस गए और विरोध दर्ज कराया। इसके पश्चात रेलवे स्टेशन छिंदवाड़ा पहुंचने पर नारेबाजी शुरू कर दी। कई यात्री रेलवे ट्रैक पर बैठ गए। रेलवे स्टेशन के प्रथम स्थल पर बने पैनल रूम में घुस गए और जमकर हंगामा किया। रात 2:00 बजे तक हंगामा होता रहा। हालांकि मौके पर पहुंचे आरपीएफ टीम ने किसी तरह से मामला शांत कराया। मंगलवार सुबह सभी यात्रियों को पातालकोट एक्सप्रेस से भोपाल के लिए रवाना किया।
यह है पूरा मामला

प्रतिदिन नैनपुर से पैसेंजर ट्रेन छिंदवाड़ा रात 9.30 बजे पहुंचती है। इस ट्रेन में नैनपुर, सिवनी से सैकड़ों यात्री सीधे भोपाल, इंदौर की टिकट लेते है और पेंचवेली एक्सप्रेस से जाते है। सोमवार रात यह ट्रेन सही समय पर झिलमिली पहुंच गई थी। लेकिन रेलवे ने छिंदवाड़ा से सिवनी की तरफ मालगाड़ी को रवाना कर दिया। इसके बाद इतवारी से रीवा एक्सप्रेस भी पहुंच गई और वो भी छिंदवाड़ा से सिवनी के लिए रवाना कर दिया गया। ऐसे में नैनपुर=छिंदवाड़ा पैसेंजर लगभग दो घंटे झिलमिली स्टेशन पर ही रुकी रही। छिंदवाड़ा रात 11.30 बजे पहुंची। जिससे यात्रियों को पेंचवेली एक्सप्रेस नही मिल पाई। यात्रियों में कई ऐसे भी लोग थे जो परिवार के साथ थे, और कई ऐसे थे जिनकी परीक्षा भोपाल, इंदौर में थी। इतवारी से छिंदवाड़ा पैसेंजर भी देरी से पहुंची इतवारी से प्रतिदिन दोपहर साढ़े तीन बजे पैसेंजर ट्रेन छिंदवाड़ा के लिए रवाना होती है। यह ट्रेन भी सोमवार रात काफी देरी से छिंदवाड़ा पहुंची। ऐसे में इस ट्रेन में भी बैठे यात्रियों को पेंचवेली एक्सप्रेस नही मिल पाई।
दूसरी ट्रेन की सुविधा देने की थी मांग

दोनो ट्रेन से रात साढ़े ग्यारह बजे छिंदवाड़ा पहुंचे आक्रोशित यात्रियों ने छिंदवाड़ा रेलवे स्टेशन में हंगामा मचाना शुरू कर दिया। रेलवे ट्रैक पर बैठ गए। वही कई यात्री परिवार के साथ प्रथम तल पर बने पैनल रूम पहुंच गए। यात्रियों का कहना था की रेलवे की गलती से उनकी ट्रेन छूटी है। इसीलिए रेलवे ही ट्रेन की व्यवस्था करे। रात दो बजे तक हंगामा होता रहे। इसके बाद आरपीएफ ने मोर्चा संभाला। यात्रियों को समझाइश दी। इसके बाद मामला शांत हुआ। रात भर 200 से अधिक यात्री रेलवे स्टेशन में सोए। मंगलवार सुबह उन्हें पातालकोट एक्सप्रेस में भेजा गया। यात्रियों को एक दिन पहले वाली टिकट पर ही सहूलियत दी गई।
यहां हुई चूक

रेलवे स्टेशन छिंदवाड़ा में 5 और 6 नंबर प्लेटफार्म भी है। अगर रेलवे छिंदवाड़ा रेलवे चाहता तो पैसेंजर ट्रेनों को इस प्लेटफार्म पर ले सकता था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। लापरवाही हुई और यात्री आक्रोशित हुए। गनीमत थी की बुधवार को थी परीक्षा विद्यार्थियो की परीक्षा बुधवार को भोपाल और इंदौर में आयोजित है। इस वजह से उनकी समस्या कुछ हद तक कम थी। हालांकि जो परिवार के साथ आए थे उन्हे भारी समस्या का सामना करना पड़ा। रात भर स्टेशन पर रहे।

Hindi News/ News Bulletin / Big news: रेलवे स्टेशन में रात दो बजे तक सैकड़ों यात्रियों का हंगामा, पटरी पर बैठे, पैनल रूम में घुसकर जताया विरोध

ट्रेंडिंग वीडियो