scriptBig news: चार साल पहले ही हुई थी शहीद कबीरदास की शादी, बहन के लिए बनवाया पक्का मकान | BMartyr Kabir Das was married only four years ago, built a concrete house for his sister | Patrika News
समाचार

Big news: चार साल पहले ही हुई थी शहीद कबीरदास की शादी, बहन के लिए बनवाया पक्का मकान

वे अपने परिवार का एकमात्र सहारा थे।

छिंदवाड़ाJun 12, 2024 / 03:14 pm

ashish mishra

छिंदवाड़ा. जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमले में छिंदवाड़ा का लाल सीआरपीएफ जवान 35 वर्षीय कबीर दास उइके शहीद हो गए। कबीर दास छिंदवाड़ा जिला मुख्यालय से लगभग 60 किमी दूर बिछुआ विकासखंड के पुलपुलडोह गांव के रहने वाले थे। सूचना जैसे ही छिंदवाड़ा पहुंची, हर तरफ शोक की लहर दौड़ गई। जिले का लाल भारत माता की रक्षा करते हुए शहीद हो गया। कबीरदास मंगलवार रात को आतंकियों के साथ मुठभेड़ में घायल हो गए थे। उनके साथ ही पांच अन्य जवान भी घायल हो गए थे। कबीर ने बुधवार देर रात अस्पताल में अंतिम सांस ली। वे अपने परिवार का एकमात्र सहारा थे। उनके छोटे भाई अमीर उइके ने बताया कि सुबह लगभग तीन बजे फोन आया था। जिसमें भाई के शहीद होने की सूचना दी गई। मंगलवार रात को करीब 8 बजे कठुआ जिले के हीरानगर स्थित सैदा सुखल गांव में आतंकवादी हमला हुआ था। अचानक हुए इस हमले में सीआरपीएफ के कांस्टेबल कबीरदास घायल हो गए थे। इलाज के दौरान बुधवार देर रात शहीद हो गए। यह खबर सुनकर मां, पत्नी बेसुध हैं। छोटे भाई को अब तक यकीन ही नहीं हो पाया है।
गांव के बाहर बनवाया पक्का मकान
ग्रामीणो ंके अनुसार कबीरदास को देश सेवा का जुनून बचपन से ही था। वर्ष 2011 में उन्होंने सीआरपीएफ ज्वाइन कर लिया था। पिता की मृत्यृ काफी समय पहले ही हो गई थी। घर में दो बहन एवं दो भाईयों में सबसे बड़े कबीरदास ही थे। सभी लोग गांव में ही बने कबेलू में रहते थे। कबीर ही परिवार का एक मात्र सहारा था। एक छोटी बहन की शादी करने के बाद अपनी शादी वर्ष 2021 में की। कबीरदास के कोई बच्चे नहीं हैं। कुछ वर्ष पहले कबीरदास ने गांव के बाहर पक्का मकान बनवा लिया था। दूसरी छोटी बहन की शादी इसी मकान से धूमधाम से की थी। कबीर के छोटे भाई अमीर उइके ने बताया कि भैया कुछ दिन पहले ही छुट्टी पर घर आए थे। भैया ने बताया था कि पोस्टिंग भोपाल हो गई है। जल्द ही ज्वाइन कर लेंगे। कबीरदास के छोटे अमीर गांव में ही खेती का काम देखते हैं। साथ ही पढ़ाई भी कर रहे हैं।
दो माह में जिले के दो लाल शहीद
छिंदवाड़ा के नोनिया करबल के रहने वाले विक्की पहाड़े भी 5 मई को शहीद हो गए थे। वे जम्मू कश्मीर के पुंछ में हुए आतंवादी हमले में शहीद हुए थे। वायसेना में कार्पोरल के पद पर तैनात थे।
अब बिछुआ के कबीरदास उइके ने देश के लिए अपने प्राण न्योक्षावर कर दिए।
13 जून को आएगा पार्थिव शरीर
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सीआरपीएफ में तैनात जवान सेवकलाल उइके कबीरदास का पार्थिव शरीर जम्मू से दिल्ली ला रहे हैं। इसके बाद नागपुर पार्थिव शरीर लाया जाएगा।

सांसद, मेयर ने बंधाया ढांढस
सूचना मिलते ही सांसद विवेक बंटी साहू, महापौर विक्रम अहके शहीद के गांव पहुंचे। उन्होंने परिवार को ढांढस बंधाया। वहीं पूर्व सांसद नकुलनाथ ने भी ट्वीट कर शोक संवेदना व्यक्त की।

Hindi News/ News Bulletin / Big news: चार साल पहले ही हुई थी शहीद कबीरदास की शादी, बहन के लिए बनवाया पक्का मकान

ट्रेंडिंग वीडियो