scriptउपचुनाव…कभी किसी एक दल पर नहीं टिका अमरवाड़ा का मतदाता | Patrika News
समाचार

उपचुनाव…कभी किसी एक दल पर नहीं टिका अमरवाड़ा का मतदाता

13 चुनाव में सर्वाधिक चार बार विधायक बनने का रिकार्ड प्रेम नारायण ठाकुर के नाम

छिंदवाड़ाJun 12, 2024 / 01:39 pm

manohar soni

छिंदवाड़ा.अमरवाड़ा विधानसभा में उपचुनाव की घोषणा होने के बाद राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। इस विधानसभा का गठन वर्ष 1967 में हुआ था। तब से अब तक 13 चुनाव में कांग्रेस 9 बार और जनसंघ-भाजपा 3 बार जीती। गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने एक बार अपनी ताकत का एहसास कराया। उसके बाद अपनी उपस्थिति से प्रमुख दलों की जीत-हार में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।
देखा जाए तो अमरवाड़ा विधानसभा क्षेत्र की प्रमुख जनसंख्या 358199 है। इनमें 2.56 लाख मतदाता है। इनमें स्त्री-पुरुष अनुपात 993 है। इस विधानसभा को पूरे जिले में सबसे जागरूक माना जाता है। पिछले विधानसभा चुनाव 2023 में मतदान का सर्वाधिक रिकार्ड 89.07 प्रतिशत अमरवाड़ा से ही दर्ज किया गया है। हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत में इस विधानसभा की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका रही। जब तीन बार के विधायक रहे कमलेश शाह से कांग्रेस और विधानसभा की सदस्यता छोड़ी और भाजपा को ज्वाइन किया। तब भाजपा इस विधानसभा से 15 हजार वोट के अंतर से जीती और सांसद बंटी साहू की जीत का आधार बनी। अब विधानसभा उपचुनाव की वजह से सुर्खियों में हैं।

जनसंघ के विधायक से हुई थी शुरुआत
इस विधानसभा के 1967 में हुए चुनाव में पहले विधायक जनसंघ के शंकर सिंह ठाकुर थे। उसके बाद चार चुनाव तक कांग्रेस का प्रभुत्व रहा। फिर 1990 में भाजपा के मेहमान शाह चुने गए। फिर दो बार कांग्रेस के बाद 2003 में गोंडवाना के मनमोहन शाह बट्टी विधायक चुने गए। फिर 2008 में भाजपा आईं। वर्ष 2013 से अब तक कांग्रेस के कमलेश शाह ही विधायक रहे। उनके विधानसभा सीट से त्यागपत्र के बाद उपचुनाव की स्थिति बनी।

कांग्र्रेस को नए चेहरे की तलाश

पिछले 15 साल में कमलेश शाह के कांग्रेस में रहते अमरवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में कोई नई नेतागिरी नहीं आ सकी। अब जब शाह कांग्रेस से निकल गए। तब कांग्रेस को नए चेहरे की तलाश करने की मशक्कत करनी पड़ रही है। इसके लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने दो प्रभारी सुनील जायसवाल और सुखदेव पांसे की नियुक्ति की है। इन पदाधिकारियों को अपनी रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस को देनी होगी, जहां से उम्मीदवार घोषित होगा।
विधायक में सबसे ज्यादा प्र्रेमनारायण का रिकार्ड
वर्ष विधायक पार्टी
1967 शंकरसिंह ठाकुर जनसंघ
1972 उदयभान सिंह कांग्रेस
1977 दक्कन सिंह ठाकुर कांग्रेस
1980 प्रेमनारायण ठाकुर कांग्रेस
1985 शैलकुमारी देवी कांग्रेस
1990 मेहमान शाह उइके भाजपा
1993 प्रेम नारायण ठाकुर कांग्रेस
1998 प्रेम नारायण ठाकुर कांग्रेस
2003 मनमोहन शाह बट्टी गोंगपा
2008 प्रेमनारायण ठाकुर भाजपा
2013 कमलेश शाह कांग्रेस
2018 कमलेश शाह कांग्रेस
2023 कमलेश शाह कांग्रेस
……
सीएम से मिलने पहुंचे अमरवाड़ा के पूर्व विधायक शाह
अमरवाड़ा सीट पर उपचुनाव की घोषणा के अगले ही दिन मंगलवार को भाजपा में सियासी हलचल तेज हो गई। पूर्व विधायक कमलेश शाह सीएम डॉ. मोहन यादव से मुलाकात करने भोपाल पहुंचे। उनके साथ छिंदवाड़ा के नवनिर्वाचित सांसद विवेक बंटी साहू और जिलाध्यक्ष शेषराव यादव एवं अन्य पदाधिकारी भी मौजूद रहे। सीएम से चुनावी तैयारियों को लेकर चर्चा हुई।
टिकट की दौड़ में शाह-कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा संसदीय क्षेत्र में सेंध लगवाने में अहम भूमिका निभाने वाले कमलेश शाह को भाजपा चुनाव मैदान में उतारने की योजना बना रही है। इससे पहले क्षेत्रीय नेताओं से समन्वय बनाया जाएगा। इसे लेकर जल्द ही भाजपा प्रभारी नियुक्त कर सकती है। सीएम की प्राथमिकता में भी अमरवाड़ा विधानसभा सीट आ जाएगी। ये सीट कांग्रेस और भाजपा दोनों के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न है।
…..

Hindi News/ News Bulletin / उपचुनाव…कभी किसी एक दल पर नहीं टिका अमरवाड़ा का मतदाता

ट्रेंडिंग वीडियो