scriptनेशनल हाइवे निर्माण में 88.90 करोड़ का बंटा मुआवजा, 799 किसानों की जमीन अधिग्रहण, 15 फीसदी बन गया रोड | नेशनल हाइवे निर्माण में 88.90 करोड़ का बंटा मुआवजा, 799 किसानों की जमीन अधिग्रहण, 15 फीसदी बन गया रोड | Patrika News
समाचार

नेशनल हाइवे निर्माण में 88.90 करोड़ का बंटा मुआवजा, 799 किसानों की जमीन अधिग्रहण, 15 फीसदी बन गया रोड

नेशनल हाइवे निर्माण में 88.90 करोड़ का बंटा मुआवजा, 799 किसानों की जमीन अधिग्रहण, 15 फीसदी बन गया रोड

बुरहानपुरJun 20, 2024 / 11:44 am

ranjeet pardeshi

नेशनल हाइवे निर्माण में 88.90 करोड़ का बंटा मुआवजा, 799 किसानों की जमीन अधिग्रहण, 15 फीसदी बन गया रोड

नेशनल हाइवे निर्माण में 88.90 करोड़ का बंटा मुआवजा, 799 किसानों की जमीन अधिग्रहण, 15 फीसदी बन गया रोड

  • फिर भी 54 किसानों को मुआवजे की राशि का इंतजार, कम मुआवजा से नाराज किसान
    बुरहानपुर. शहर से गुजर रहे इंदौर हैदराबाद नेशनल हाइवे के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी होने के बाद भी अभी तक कुछ किसानों को मुआवजा की राशि नहीं मिली। जिले के 11 गांव से हाइवे गुजर रहे है, ऐसे में किसानों की कृषि भूमि अधिक अधिग्रहण हुई। प्रशासन का दावा है कि अभी तक 88 करोड़ 90 लाख 41 हजार से अधिक की राशि मुआवजे के रूप में भू स्वामी के बैंक खातों मे जमा कर दी गईहै। जबकि 54 ऐसे किसान शेष है जिन्हें अभी राशि नहीं मिली। कुछ किसानों का मामला कम मुआवजा की आपत्ति पर अटका हुआ है।
    कलेक्टर भव्या मित्तल ने बुधवार को प्रशासनिक अफसरों की समीक्षा बैठक में राजस्व विभाग के अफसरों से नेशनल हाइवे निर्माण में भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया एवं मुआवजे को लेकर जानकारी ली। बुरहानपुर एवं नेपानगर एसडीएम ने अपने क्षेत्र में हाइवे निर्माण में गई भूमि के स्वामियों की संख्या, अब तक वितरण की गई मुआवजा राशि एवं शेष राशि के संबंध में जानकारी दी। कलेक्टर ने कहा कि जहां पर मुआवजा राशि नहीं मिली है ऐसे प्रकरणों को प्राथमिकता में लेकर इसका निराकरण कराए। शत प्रतिशत भूमि स्वामी को मुआवजा राशि मिलना चाहिए।
    11 गांव से होकर निकल रहा हाइवे
    नेशनल हाईवे आथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा अलग, अलग चरण में हाइवे का निर्माण कराया जा रहा है। जिले के 11 गांव के सीमाओं से होकर हाइवे निकल रहा है। झिरी से लेकर जैनाबाद होते हुए शाहपुर तक हाइवे का काम शुरू हो गया। बुरहानपुर और नेपानगर क्षेत्र की भूमियां शामिल है। यह सीधे इच्छापुर से महाराष्ट्र के मुक्ताईगर तक जुड़ रहा है। जबकि वर्तमान में पुराना हाइवे शहर के बीच से होते हुए निकला है। लेकिन इंदौर से हैदराबाद एक्सप्रेस हाइवे शहर की सीमा से बाहर से गुजर रहा है। झिरी, निंबोला नदी, उमरदा से होते हुए जैनाबाद, खडक़ोद, सुखपुरी, मानसगांव, मोहना पुल, शाहपुर के बाहर से चोपोरा, दापोरा के गांव से भी बाहर होते हुए इच्छापुर से भोटा तक पहुंच रहा है।
    मुआवजा वितरण की प्रक्रिया धीमी
    एनएचएआइ ने लंबे समय से हाइवे निर्माण के लिए भूमियों का अधिग्रहण किया, लेकिन मुआवजा वितरण की प्रक्रिया काफी धीमी होने से आज भूमियों के दाम बढ़ गए है, लेकिन मुआवजा पूरानी दरों से ही मिल रहा है।जिससे किसान कम मुआवजा मिलने से नाराज है। प्रशासन के रिकॉर्ड के अनुसार बुरहानपुर राजस्व सीमा में 52 और नेपानगर सीमा में 02 किसानों को मुआवजा राशि मिलना बाकी है।जिले से सीमा से हाइवे का 50 किमी का हिस्सा गुजर रहा है। बड़े बोरगांव से शाहपुर तक 47 किमी, शाहपुर से मलकापुर तक 30.278 किमी का हाइवे निर्माण होगा।
    फैक्ट फाइल
    पूरे जिले की स्थिति
    699 पात्र हितग्राही
    635 हितग्राहियों को मिला मुआवजा
    88.38 करोड़ राशि
    54 हितग्राही मुआवजे से वंचित
    03 नामांतरण की प्रक्रिया बाकी
    बुरहानपुर क्षेत्र
    536 हितग्राही
    474 हितग्राहियों को मिला मुआवजा
    766338030 राशि
    52 शेष
    नेपानगर क्षेत्र
    163 हितग्राही
    161 हितग्राहियों को मिला मुआवजा
    122703608 राशि
    02 शेष

Hindi News/ News Bulletin / नेशनल हाइवे निर्माण में 88.90 करोड़ का बंटा मुआवजा, 799 किसानों की जमीन अधिग्रहण, 15 फीसदी बन गया रोड

ट्रेंडिंग वीडियो