scriptजिला परिषद कार पार्किंग प्रकरण ने तूल पकड़ा–वकील-कर्मचारी-जनप्रतिनिधि हुए आमने-सामने | Patrika News
समाचार

जिला परिषद कार पार्किंग प्रकरण ने तूल पकड़ा–वकील-कर्मचारी-जनप्रतिनिधि हुए आमने-सामने

सीइओ से कथित दुर्व्यवहार के विरोध में पंचायती राज से जुड़े विभिन्न कर्मचारी संगठनों व जनप्रतिनिधियों ने वकीलों के खिलाफ आक्रोश

श्री गंगानगरJun 21, 2024 / 12:05 pm

Krishan chauhan

  • श्रीगंगानगर. जिला परिषद में कार पार्किंग को लेकर वकील और सीइओ में हुए विवाद प्रकरण ने गुरुवार को तूल पकड़ लिया। सीइओ से कथित दुर्व्यवहार के विरोध में पंचायती राज से जुड़े विभिन्न कर्मचारी संगठनों व जनप्रतिनिधियों ने वकीलों के खिलाफ आक्रोश वक्त किया था। साथ ही पंचायती राज के कर्मचारी और जनप्रतिनिधियों ने सीइओ ऑफिस के बाहर टेंट लगाकर धरना शुरू कर दिया। एक बार तो वकील,कर्मचारी-जनप्रतिनिधि आमने-सामने लेकिन पुलिस दखल के बाद मामला शांत हो गया।
  • सीईओ के समर्थन में धरने की जानकारी जब वकीलों का मिली तो गुरुवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे तक बड़ी संख्या में वकील न्यायालय परिसर में एकत्रित हुए। वहां से कर्मचारियों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जिला परिषद पहुंच गए। जिला परिषद का मुख्य गेट को पुलिस ने बंद कर रखा था। वकीलों ने गेट को धक्का देकर खोला और नारेबाजी करते हुए धरना स्थल की तरफ आगे बढ़ गए। एक बार स्थिति तनावपूर्ण हो गई तथा वकील और कर्मचारी व जनप्रतिनिधि एक-दूसरे के खिलाफ जमकर नारेबाजी करने लगे। पुलिस-प्रशासन ने बीच-बचाव किया। पुलिस ने कर्मचारियों के आगे घेरा बना लिया और वहां से वकीलों को वापस भेज दिया। कर्मचारियों का आरोप था कि वकीलों ने धरना स्थल पर आकर दादागिरी की है और टेंट उखाडऩे की कोशिश की गई। इसको संघर्ष समिति सहन नहीं करेगी।

कार्य बहिष्कार कर शाम पांच बजे तक चलता रहा धरना

  • प्रकरण को लेकर जिला परिषद में कर्मचारी-अधिकारियों का धरना-प्रदर्शन दिन भर चलता रहा। आंदोलन का नेतृत्व पंचायत समिति श्रीगंगानगर प्रधान सुरेंद्र सिंह बराड़, सरपंच यूनियन जिलाध्यक्ष मनीष कुलडिय़ा, राजस्थान राज्य ग्रामीण सेवा जिलाध्यक्ष बीडीओ भंवर लाल स्वामी, ग्रामीण तकनीकी संघ जिलाध्यक्ष एक्सईएन रमेश मदान, अति.विकास अधिकारी, सहायक विकास अधिकारी संघ के जिलाध्यक्ष राजेंद्र कुमार, ग्राम विकास अधिकारी संघ के जिलाध्यक्ष विनोद सुथार व पंचायती राज मंत्रालयिक संघ के जिलाध्यक्ष भूपेंद्र बिश्नोई आदि ने संयुक्त रूप से किया। धरने में श्रीगंगानगर-अनूपगढ़ जिले से कार्मिक व जनप्रतिनिधि शामिल हुए। धरने की वजह से ग्राम पंचायत, पंचायत समिति व जिला परिषद में कार्य बहिष्कार किया गया। शाम को तेज बारिश आ गई। इसके बावजूद कार्मिक धरनास्थल पर डटे रहे। महिला कार्मिक अनिता झोरड़ व भावना भाटिया ने बताया कि धरनास्थल पर बड़ी संख्या में महिला कर्मचारी भी शामिल हुई।

बार संघ की आम सभा,कार्य बहिष्कार किया

  • बार एसोसिएशन श्रीगंगानगर की ओर से गुरुवार को आम सभा हुई। इसमें जिला परिषद में बुधवार को वकील के साथ कार पार्किंग को लेकर जिला परिषद सीइओ के साथ हुए विवाद पर चर्चा की गई। मीटिंग करीब पौने घंटे तक चली तथा वकीलों ने कहा कि इस प्रकरण में सख्त कदम उठाया जाए। वकीलों ने एक दिन का कार्य बहिष्कार करने का निर्णय किया गया। साथ ही वकीलों के खिलाफ कर्मचारियों की तरफ धरना-प्रदर्शन करने, जिला कलक्टर और पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देने की घटना की कड़े शब्दों में निंदा प्रस्ताव पारित किया गया। दिन भर कार्य बहिष्कार की वजह से न्यायालय में काम-काज नहीं हो पाया।

वकीलों ने बनाई 11 सदस्यीय कमेटी

  • बार संघ के जिलाध्यक्ष विजय चावला ने बताया कि इस प्रकरण का लेकर वकीलों की आम सभा में 11 सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया। इसमें एडवोकेट नवरंग सिंह चौधरी, वरिष्ठ एडवोकेट चरणदास कंबोज, ओम रावल, इंद्रजीत बिश्नोई, बार संघ के पूर्व अध्यक्ष जसवीर सिंह मिशन, सीताराम बिश्नोई,अजय मेहता,विजय रिवाड़,वीरेंद्र सिंह,सज्जन सिंह, दलबारा सिंह व दिनेश छाबड़ा आदि को कमेटी में शामिल किया गया। बार संघ के अध्यक्ष चावला ने बताया कि इस प्रकरण को लेकर जिला कलक्टर से मिलकर अवगत करवाया गया है। चावला ने कहा कि कर्मचारी वर्ग की तरफ वार्ता का प्रस्ताव भी आया था लेकिन वार्ता हुई।

Hindi News/ News Bulletin / जिला परिषद कार पार्किंग प्रकरण ने तूल पकड़ा–वकील-कर्मचारी-जनप्रतिनिधि हुए आमने-सामने

ट्रेंडिंग वीडियो