सोशल मीडिया की तानाशाही पर लगाम लगाने की तैयारी में सरकार, जल्दी आ सकता है कानून!

सोशल मीडिया पर कुछ भी लिखने और बोलने वालों की अब खेर नहीं।
क्योंकि सोशल मीडिया पर नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार कानून लाने जा रही है।

By: Shaitan Prajapat

Updated: 22 Feb 2021, 09:00 AM IST

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर कुछ भी लिखने और बोलने वालों की अब खेर नहीं। अब अगर कोई ऐसा वैसा लिखेंगा या बोलेगा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। क्योंकि सोशल मीडिया पर नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार कानून लाने जा रही है। भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सीनियर नेता राम माधव ने इसकी जानकारी दी है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता माधव ने कहा कि सोशल मीडिया पर नियंत्रण बहुत जरूरी है। ये बहुत ज्यादा ताकतवर हो गया है और लोकतंत्र के लिए भी खतरा बन रहा है। यहां तक कि किसी सरकार को भी आज के समय में सोशल मीडिया गिरा सकता है। जिसके चलते अराजकता पैदा हो सकती है और लोकतंत्र कमजोर हो सकता है। उन्होंने कहा कि इससे निपटने के लिए संवैधानिक ढांचे के तहत समाधान ढूंढने की जरूरत है।

सरकार को गिरा सकता है सोशल मीडिया
राम माधव ने 'क्योंकि इंडिया पहले आता है' (Because India Comes First) नाम की किताब की लॉन्चिंग के समय कहा कि लोकतंत्र तनाव के दौर से गुजर रहा है और नई चुनौतियों जैसे 'अपोलिटिकल' और 'नॉन-स्टेट' ताकतों के उभार का सामना कर रहा है। राम माधव ने कहा कि आज सोशल मीडिया इतना ताकतवर बन गया है कि यह सरकारों को गिरा सकता है। अराजकता पैदा कर सकता है और लोकतंत्र के लिए खतरा पैदा कर सकता है। ऐसे में संवैधानिक ढ़ांचे में इससे निपटने के लिए समाधान खोजने की जरूरत है।

सरकार और ट्विटर के बीच चल रहा है विवाद
बीजेपी वरिष्ठ नेता माधव ने कहा कि वर्तमान समय के कानून सोशल मीडिया को हैंडल करने के लिए अपर्याप्त हैं। उन्होंने आगे कहा कि इसके लिए हमें नए नियमों और कानूनों की जरूरत है। सरकार इस दिशा में पहले से काम कर रही है। आपको बता दें कि राम माधव का यह बयान ऐसे वक्त पर आया है जबकि सरकार और ट्विटर के बीच में विवाद चल रहा है। जिसमें सूचना मंत्रालय ने कुछ ट्विटर एकाउंट्स को ब्लॉक करने के लिए कहा था और ट्विटर ने मना कर दिया था। आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का अकाउंट भी सस्पेंड कर दिया गया है। इस प्रकार कई बड़े दिग्गज नेताओं को इस प्रकार परेशानी का सामना करना पड़ा था।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned