scriptगर्मी ने बढ़ाए हरी सब्जियों के भाव, घर का बजट गड़बड़ाया | जुलाई माह से सब्जी के दामों में कमी आने की संभावना | Patrika News
समाचार

गर्मी ने बढ़ाए हरी सब्जियों के भाव, घर का बजट गड़बड़ाया

जुलाई माह से सब्जी के दामों में कमी आने की संभावना

भीलवाड़ाJun 14, 2024 / 09:11 pm

Suresh Jain

जुलाई माह से सब्जी के दामों में कमी आने की संभावना

जुलाई माह से सब्जी के दामों में कमी आने की संभावना

भीलवाड़ा एक माह से पड़ रही भीषण गर्मी से सब्जियों के भाव आसमान छूने लगे हैं। इससे घरों का बजट गड़बड़ा गया। लगातार गर्मी और तेज धूप से सब्जियों की पौध झुलस गई। इससे हरी सब्जियों के भाव एक माह में दोगुने हो गए। कुछ सब्जियों के भाव 80 रुपए किलो तक पहुंच गए हैं। दाम बढ़ने से हरी सब्जियां थाली से दूर हो गई हैं। थोक फल-सब्जी मंडी के व्यापारी मथुरालाल माली ने बताया कि गर्मी के चलते खुदरा में अदरक 160, धनिया 100, नींबू 120 रुपए किलो तक बिक रहे हैं। सिर्फ आलू, प्याज व टमाटर हैं, जो अभी 30 से 40 रुपए किलो से कम हैं।
भाव और चढ़ने का अंदेशा

मथुरा माली ने बताया कि गर्मी से फूल, पौधे व बेल झुलस गई। सब्जियों का उत्पादन कम हुआ। जैसे ही बारिश होगी, जमीन की गर्मी बाहर निकलेगी तो सब्जियों उत्पादन घटेगा। ऐसे में मांग के अनुसार ब्जियां नहीं मिलने पर भाव और बढ़ेंगे। जुलाई के अंतिम सप्ताह या अगस्त में सब्जियों की फिर से आवक शुरू होगी, तब जाकर भावों में कमी आएगी।
  • सब्जियों के भाव
  • सब्जियां थोक भाव खुदरा भाव
  • हरी मिर्च 30 से 40 60 से 80
  • लॉकी 30 से 40 40 से 50
  • करेला 25 से 30 40 से 60
  • शिमला मिर्च 30 से 40 50 से 80
  • गोभी 15 से 50 40 से 80
  • पत्ता गोभी 10 से 25 30 से 50
  • आलू 20 से 22 25 से 30
  • भिण्डी 30 से 45 50 से 60
  • ग्वारफली 50 से 70 80 से 90
  • बैंगन 30 से 55 60 से 80
  • धनिया 50 से 110 160 से 200
  • अदरक 100 से 120 125 से 140
  • नींबू 40 से 90 120 से 140
  • भाव रुपए प्रति किलो
सब्जियां खरीदना मुश्किल
पहले 100 से 200 रुपए में 3-4 दिन की सब्जियां आ जाती थी। अब 200 रुपए में एक ही दिन की सब्जी आती है। इसमें यह देखना पड़ता है कि कौन सी सब्जी ले कौन सी नहीं। दालों के भाव तो पहले से ही बढ़े हैं।अब सब्जियों के भावों ने खाने का स्वाद बिगाड़ दिया।
अनिता शाह, गृहिणी

सब्जी में कटौती

सब्जियां के बढ़ते दामों ने घर का बजट बिगाड़ दिया। रसोई का बजट मैनेज करने के चक्कर में दूसरे खर्चों में कटौती करनी पड़ रही है। हरी सब्जियों को छोड़कर आलू, प्याज व टमाटर से ही काम चलाना पड़ रहा है।
रविता जैन, गृहिणी

बेस्वाद हुई सब्जी

सब्जियों के दाम बढ़ने से थाली का स्वाद भी बदल गया है। घर की सब्जी दाले बनाने पहले ही मंहगी हो चुकी है। अब हरी सब्जी खाना भी मुश्किल हो गया है।
मंजू झाबक, गृहिणी

Hindi News/ News Bulletin / गर्मी ने बढ़ाए हरी सब्जियों के भाव, घर का बजट गड़बड़ाया

ट्रेंडिंग वीडियो