scriptबिगड़ रही कानून व्यवस्था, हमसे फिसला 1500 करोड़ का निवेश | - औद्योगिक क्षेत्रों में मारपीट व फायरिंग से खराब हो रहा माहौल - उद्योगों ने अपना विस्तार रोका, एमपी में लगाए उद्योग | Patrika News
समाचार

बिगड़ रही कानून व्यवस्था, हमसे फिसला 1500 करोड़ का निवेश

– औद्योगिक क्षेत्रों में मारपीट व फायरिंग से खराब हो रहा माहौल
– उद्योगों ने अपना विस्तार रोका, एमपी में लगाए उद्योग

भीलवाड़ाJun 17, 2024 / 10:55 am

Suresh Jain

- औद्योगिक क्षेत्रों में मारपीट व फायरिंग से खराब हो रहा माहौल - उद्योगों ने अपना विस्तार रोका, एमपी में लगाए उद्योग

– औद्योगिक क्षेत्रों में मारपीट व फायरिंग से खराब हो रहा माहौल
– उद्योगों ने अपना विस्तार रोका, एमपी में लगाए उद्योग

केस-1

29 अप्रेल 2024 को रीको फॉर्थ फेज में श्रमिक नेता पन्नालाल चौधरी पर कुछ लोगों ने हथियार से ताबड़तोड़ हमला किया। हवाई फायर कर भागे। 11 जून को रीको में पन्नालाल व तीन साथियों पर फिर फायर किए। गनीमत रही कि सभी बच गए। उद्योगों में असुरक्षा है। घटनाएं नहीं रोकी तो कई इकाइयां उत्पादन बंद कर सकते हैं।
केस-2

6 जून 2024 को चित्तौड़गढ़ रोड पर किंग्स वाटर में कुछ लोगों ने जमकर तोड़फोड़ की व जेसीबी से पार्क को क्षति पहुंचाई। वहां कार्यरत कर्मचारियों पर लाठियों से हमला किया। यहीं नहीं हवाई फायर करके वहां मनोरंजन कर रहे लोगों को दहशत में ला दिया। इस सम्बंध में गंगरार थाने में मामला दर्ज कराया गया।
भीलवाड़ा बिगड़ती कानून व्यवस्था के चलते यहां से उद्योग पलायन करने लगे हैं। हालात नहीं सुधरे तो कई उद्योग बंद हो सकते हैं। रीको एरिया, गुवारड़ी, हमीरगढ रोड, रीको ग्रोथ सेन्टर में उद्योगों में अवैध वसूली, डराने-धमकाने, अनाधिकृत प्रवेश, अधिकारियों एवं कर्मचारियों से मारपीट व तोड़फोड़ की घटनाएं होना मुख्य कारण है।
उद्यमियों का कहना है कि पहले प्रशासन तुरंत कार्रवाई कर घटनाओं पर अंकुश लगाता था। पिछले एक-दो साल से आपराधिक घटनाएं तेजी से बढ़ी है। हमीरगढ रोड पर औद्योगिक इकाइयों में अवैध वसूली के लिए धमकी, मारपीट, कर्मचारियों पर हमला व गैंगवार की घटनाएं हो रही है। भीलवाडा सीमा से सटे चित्तौड़गढ़ के सोनियाणा में रीको ने नया औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया। यहां तीन-चार इकाइयों की स्थापना हुई है लेकिन अवैध वसूली होने लगी है। डेनिम ईकाई में असामाजिक तत्वों ने जबरन प्रवेश कर जेसीबी व ट्रक को जला दिया तथा अन्य प्रोपर्टी में भी तोड़-फोड़ की। एक होटल एवं वाटर पार्क में भी तोड़फोड़़ हुई।
डेढ़ हजार करोड का विस्तार रोका

सोनियाणा में ग्लास फैक्ट्री का विस्तार रोक दिया। उद्योगपति अगला विस्तार अब नीमच में कर रहे हैं। ग्लास फैक्ट्री के विस्तार पर 500 करोड़ व्यय होने थे। एक उद्यमी ने भूमि पूजन के दौरान हुई घटना से परेशान होकर मानस बदल दिया जबकि यहां 1000 करोड़ रुपए का निवेश होना था।
सोलर प्लांट से केबल चोरी

औद्योगिक इकाइयों में रुफटॉप सोलर प्लांट है। कई इकाइयों ने ग्राउंड सोलर प्लांट लगा रखे हैं। कुछ ने सौर व पवन ऊर्जा प्लांट बाडमेर व जैसलमेर में लगा रखे हैं। कुछ माह से इन प्लांट से केबल चोरी की घटनाएं हो रही है। इससे लाखों रुपए की केबल चोरी के साथ प्लांट को भी आर्थिक नुकसान हो रहा है।
घोषणा हुई लेकिन फोर्स नहीं बनी

औद्योगिक क्षेत्रों एवं इकाइयों में कानून व्यवस्था बिगड़ रही है। असामाजिक तत्वों पर नियंत्रण व चोरी की वारदात पर त्वरित कार्रवाई के लिए सीआईएसएफ की तर्ज पर राजस्थान इंडस्टि्रयल सिक्यूरिटी फोर्स के गठन की घोषणा बजट में की थी। अब तक फोर्स का गठन नहीं हुआ। फोर्स का गठन हो तो घटनाओं पर अंकुश लग सकेगा।
आरके जैन, महासचिव मेवाड़चैम्बर ऑफ काॅमर्स

Hindi News/ News Bulletin / बिगड़ रही कानून व्यवस्था, हमसे फिसला 1500 करोड़ का निवेश

ट्रेंडिंग वीडियो