scriptएक पौधे को बनाएं अपने परिवार का सदस्य बनाकर घर के बाहर रोपे : महेंद्र प्रताप तिवारी | Patrika News
समाचार

एक पौधे को बनाएं अपने परिवार का सदस्य बनाकर घर के बाहर रोपे : महेंद्र प्रताप तिवारी

जुलाई माह के शुरुआत के साथ सोमवार को पत्रिका के हरित प्रदेश अभियान का आगाज हो गया। सुबह 8 बजे हायर सेकेण्डरी इमानुअल स्कूल में बड़ी संख्या में लोग पौधे लगाने एकजुट हुए।

सागरJul 03, 2024 / 12:46 pm

रेशु जैन

photo_2024-07-

photo_2024-07-

पत्रिका के हरित प्रदेश अभियान का हुआ आगाज, इमानुअल स्कूल में पौधे रोपकर लिया रक्षा का संकल्प

सागर. जुलाई माह के शुरुआत के साथ सोमवार को पत्रिका के हरित प्रदेश अभियान का आगाज हो गया। सुबह 8 बजे हायर सेकेण्डरी इमानुअल स्कूल में बड़ी संख्या में लोग पौधे लगाने एकजुट हुए। बच्चे से लेकर बुर्जुग तक पौधरोपण के लिए उत्साहित थे। अभियान के पहले दिन स्कूल परिसर में नीम, अमरूद, आम, पीपल, आंवला सहित विभिन्न प्रकार के फलदार पौधों का रोपण किया। कार्यक्रम में मुख्यअतिथि के रूप में उपस्थित रविशंकर स्कूल के प्राचार्य डॉ. महेंद्र प्रताप तिवारी ने कहा कि हर पौधा अपने आप में विशेष होता है। प्रकृति की इस रचना में छिपे रहस्यों को हम नहीं जान सकते हैं, लेकिन इनकी उपयोगिता हमें उनकी महत्ता का एहसास कराती है। हर परिवार एक पौधे को सदस्य बनाए और हर घर के सामने एक पेड़ होना चाहिए। ये स्वयं शिव के रूप हैं जो पेड़ पौधों के रूप में हमारे समक्ष रहकर हमारी रक्षा करते हैं। ऐसा कोई पूजन बताएं जिसमें बिना प्राकृतिक चीजों के भगवान का अर्चन किया जाता हो, ऐसा संभव ही नहीं है। इसलिए शिव रूपी पौधों को पेड़ बनाकर उनकी छांव में रहना चाहिए।
पत्रिका द्वारा पूरे प्रदेश में रोपे जाएंगे पौधे
इस मौके पत्रिका के संपादक प्रवेंद्र तोमर ने कहा कि हर वर्ष मानसून में पत्रिका द्वारा हरित प्रदेश अभियान चलाया जाता है। यह अभियान पूरे देश में चलाया जा रहा है। पत्रिका के प्रधान संपादक बाबुजी गुलाब कोठरी की प्रेरणा से इस अभियान शुरू हुआ है। उन्होंने कहा कि सागर में इस वर्ष विकास के नाम पर सैकड़ों पेड़ काट दिए गए हैं, अब अधिक से अधिक पौधे लगाने का संकल्प लें। इस मौके पर सर्कुलेशन विभाग के हेड रमेश मीणा ने अभियान की जानकारी दी।
हमारा वजूद पेड़ों से है
स्कूल के प्राचार्य आनंद गुप्ता ने कहा कि जल और जंगलों के कारण ही जमीन जिंदा है। जहां इन दोनों का वजूद नहीं होता, वहां की जमीन भी बंजर हो जाती है। फिर इंसानों से लेकर पशु पक्षियों तक के जीवन पर संकट आ जाता है। पेड़ पौधों से जल की उपस्थिति बनी रहती है और ये दोनों मिलकर जमीन को भी उपजाऊ बनाए रखते हैं। पौधे रोपना सबसे बड़ा पुण्य का कार्य है। इससे बड़ा कोई और पुण्य नहीं हो सकता है। हमारा आज सौभाग्य है कि पत्रिका के हरित प्रदेश अभियान के तहत हम पौधरोपण के लिए यहां एकजुट हुए हैं।
इन्होंने रोपे पौधे
कार्यक्रम में डॉ. विजय लक्ष्मी दुबे, वंदना जूडा, एमएल तिवारी, सविता सेन, जानकी पटेल, जरीना खान, मेघना दुबे, मीना यादव, आरजी सोनी, आशीष नेमा, अमरनाथ, पुष्पेंद्र साहू, नितीन सोनी, राकेश सोनी, दीपक नेमा, एलएन राव, प्रशांत नामदेव, संतोष राय, राकेश सेन, बृजेश सोनी, फिरोज अंसारी, राजेंद्र भदौरिया, आरएम डेविड, डॉ. तारेंद्र सिंह ठाकुर, रमेश सुहाने, बसंत श्रीवास्तव, राजेंद्र चौबे, जर्नादन दुबे, गुरुकांत तिवारी, नरेंद्र चौरसिया, पुष्पेंद्र साहू, मोहन अग्रवाल, ओपी श्रीवास्तव, अशोक जैन, श्रद्धा शुक्ला, राकेश श्रीवास्तव, अनीसा बानो, आशा साहू, राजीव शुक्ला, जितेंद्र विल्थरे,संगीत तिवारी,बी डी मौर्य, गणेश श्रीवास्तव, सलीम खान, रशीद खान, आर एन चढ़ार, संध्या मिश्रा, गीता चौरसिया, विनीत चौबे, अनिल लोधी, जेपी सोनी, मुकेश नेमा, धनीराम लडिय़ा एवं अवधेश उपाध्याय आदि मौजूद रहे।

Hindi News/ News Bulletin / एक पौधे को बनाएं अपने परिवार का सदस्य बनाकर घर के बाहर रोपे : महेंद्र प्रताप तिवारी

ट्रेंडिंग वीडियो