scriptनया खतरा: अमीबिक मेनिंगोएन्सेफ्लाइटिस संक्रमण को लेकर ईपीएस ने स्टालिन सरकार को किया अलर्ट | Patrika News
समाचार

नया खतरा: अमीबिक मेनिंगोएन्सेफ्लाइटिस संक्रमण को लेकर ईपीएस ने स्टालिन सरकार को किया अलर्ट

Kerala new Virus

चेन्नईJul 08, 2024 / 03:25 pm

PURUSHOTTAM REDDY

Keral new Virus

चेन्नई. केरल में मस्तिष्क के दुर्लभ संक्रमण अमीबिक मेनिंगोएन्सेफ्लाइटिस संक्रमण से तीन लोगों की मौत के बाद अन्नाद्रमुक महासचिव एडपाडी के. पलनीस्वामी ने कहा है कि सरकार को तमिलनाडु में इस तरह के प्रकोप से बचने के लिए सावधानी से काम करना चाहिए। इस संबंध में प्रकाशित उनकी एक्स पर पोस्ट में लिखा है केरल राज्य में अमीबा फैलने से मस्तिष्क क्षति के कारण तीन लोगों की मौत की खबर चिंताजनक है। चूंकि यह सूक्ष्मजीव दूषित पानी से फैलता है, इसलिए बच्चों को संक्रमित करने का खतरा अधिक होता है, इसलिए मैं मुख्यमंत्री से लोगों की जान बचाने के लिए एहतियाती उपायों पर अधिक ध्यान देने का आग्रह करता हूं।

क्या है अमीबा?
मेडिकल विशेषज्ञों ने बताया कि मुक्त रहने वाले गैर परजीवी अमीबा के बैक्टीरिया जब दूषित पानी से नाक के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर जाते हैं तो यह संक्रमण होता है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने लोगों को ‘अमीबिक मेनिंगोएन्सेफ्लाइटिस’ को लेकर सावधानी बरतने की सलाह दी है। इससे पहले यह बीमारी 2023 और 2017 में राज्य के तटीय अलप्पुझा जिले में देखी गई थी।

क्या है बचाव के उपाय?
यदि आप पानी में कूदते या गोता लगाते हैं तो नाक पर क्लिप का उपयोग करें या अपनी नाक बंद रखें। गर्म झरनों और अन्य प्राकृतिक रूप से गर्म पानी में अपना सिर पानी से ऊपर रखें। इसके अलावा उथले, गर्म ताजे पानी में तलछट को उछालने से बचें, क्योंकि नेगलेरिया फाउलरी के झीलों, तालाबों और नदियों के तल पर तलछट में पाए जाने की अधिक संभावना है।

Deadly 'brain-eating' amoeba cases

Hindi News/ News Bulletin / नया खतरा: अमीबिक मेनिंगोएन्सेफ्लाइटिस संक्रमण को लेकर ईपीएस ने स्टालिन सरकार को किया अलर्ट

ट्रेंडिंग वीडियो