scriptप्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय में शिक्षकों की कमी के कारण लटक रहा ताला | Patrika News
समाचार

प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय में शिक्षकों की कमी के कारण लटक रहा ताला

अभिभावकों ने जताई चिंता, टीसी एवं अंकसूची के लिए भटक रहे विद्यार्थीडिंडौरी. विकास खंड डिंडौरी अन्तर्गत छिंदगांव में संचालित माध्यमिक एवं प्राथमिक शाला में नियमित शिक्षक की नियुक्ति को लेकर पालक एवं ग्रामीणों मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंचे। जनसुनवाई में दिए आवेदन में परिजनों ने बताया कि ग्राम पंचायत चैरामाल के अन्तर्गत ग्राम छिंदगांव माल […]

डिंडोरीJun 26, 2024 / 12:22 pm

Prateek Kohre

अभिभावकों ने जताई चिंता, टीसी एवं अंकसूची के लिए भटक रहे विद्यार्थी
डिंडौरी. विकास खंड डिंडौरी अन्तर्गत छिंदगांव में संचालित माध्यमिक एवं प्राथमिक शाला में नियमित शिक्षक की नियुक्ति को लेकर पालक एवं ग्रामीणों मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंचे। जनसुनवाई में दिए आवेदन में परिजनों ने बताया कि ग्राम पंचायत चैरामाल के अन्तर्गत ग्राम छिंदगांव माल में प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक शाला में नियमित शिक्षक नहीं है। यहां अतिथि शिक्षको के भरोसे विद्यालय संचालित किया जाता है। सभी जगह 18 जून से विद्यालय संचालित हो रहे हैं लेकिन वर्तमान में अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति नहीं होने से स्कूल में ताला लटक रहा है। बताया गया कि यहां एक शिक्षक मुकेश गौतम की पदस्थापना है लेकिन उनके पास जनशिक्षक का प्रभार होने की वजह से विभागीय कार्य में लगे रहते है और विद्यालय बंद रहता है। प्रतिदिन विद्यार्थी स्कूल पहुंचते हैं और टीसी व अंकसूची सहित अन्य कार्यो के लिए भटकते रहते हैं। अभिभावकों ने बताया कि पिछले सत्र में एक शिक्षक दुलीचंद मार्को थे जिनके द्वारा कुर्सी टोला प्राथमिक शाला का संचालन किया जा रहा था, लेकिन उनकी मृत्यु होने के बाद दूसरे शिक्षक को शाला में पदस्थ नहीं किया गया। जनसुनवाई में पुरूषोत्तम मरावी, सोमसिंह धुर्वे, सुरेन्द्र धुर्वे, तितरा सिंह, सोनसिंह मरावी, नारायण सिंह मार्को, दिगम्बर सिंह, हरिषचंद धुर्वे सहित अन्य पालिक पहुंचे थे।
पेसा मोबलाइजरों को नहीं मिल रहा मानदेय
पेसा एक्ट के जमीनी क्रियान्वयन के लिए नियुक्त किए गए पेसा मोबिलाइजर आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। उनको पिछले कई माह से मानदेय नहीं दिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि पंचायत राज संचालनालय ने जिला पंचायत को आवंटन जारी कर दिया है। इसके बाद भी जिले के ग्रामों में कार्यरत मोबलाइजरों को भुगतान नहीं किया गया। इससे परेशान मोबिलाइजर मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंच मानदेय दिलाने की मांग की है। पेसा मोबिलाइजरों ने पंचायत राज संचालनालाय का पत्र भी संग्लन किया है। पत्र में डिंडौरी जिले में नियुक्त 340 पेसा मोबिलाइजर को अप्रैल, मई, जून माह के मानदेय के लिए 40 लाख 80 हजार की राशि जारी की गई है। इसके बाद भी जिला पंचायत द्वारा जनपद पंचायतों को राशि स्थांतरित नहीं की जा रही है। मानदेय से वंचित मोबलाइजरों ने कलेक्टर को आवेदन देकर मानदेय जारी कराने की मांग की है।

Hindi News/ News Bulletin / प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय में शिक्षकों की कमी के कारण लटक रहा ताला

ट्रेंडिंग वीडियो