ननकाना साहिब की यात्रा की अनुमति नहीं मिलने से शिअद नाराज, एक मार्च को घेरेगी पंजाब विधानसभा

सुखबीर सिंह बादल एक मार्च को सत्र के दौरान विधानसभा घेराव करने का फैसला किया है।
एक मार्च को शुरू होने वाले पंजाब सरकार के बजट सत्र के विरोध में शिअद उतर आई है।

By: Shaitan Prajapat

Published: 23 Feb 2021, 01:23 PM IST

नई दिल्ली। शिरोमणि अकाली दल (शिअद) प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने केन्द्र सरकार पर नाराजगी जताते हुए पूछा है कि उसने कुछ श्रद्धालुओं को पाकिस्तान स्थित ननकाना साहिब की यात्रा की अनुमति क्यों नहीं दी। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार का यह कदम समुदाय पर हमले के समान है। सोमवार को हुई पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में एक मार्च को सत्र के दौरान विधानसभा घेराव करने का फैसला किया है। एक मार्च को शुरू होने वाले पंजाब सरकार के बजट सत्र के विरोध में शिअद उतर आई है। बैठक में केंद्र सरकार द्वारा श्री ननकाना साहिब की यात्रा के लिए सिख जत्थों पर लगाई गई रोक की निंदा की गई। सुखबीर सिंह ने केन्द्र सरकार से स्पष्ट करने को कहा कि यात्रा के ठीक एक दिन पहले उसने जत्थे को अनुमति देने से इनकार क्यों किया।

 

यह भी पढ़े :— क्या होता है मौत के बाद! रहस्य बताने वाले को मिलेगा 7 करोड़ का ईनाम

श्री ननकाना साहिब की तीर्थयात्रा की रोक से आहत
पार्टी मुख्यालय में सोमवार शाम को आयोजित कोर कमेटी की बैठक की अध्यक्षता शिअद अध्यक्ष सुखबीर बादल ने केन्द्र सरकार की निंदा की है। शिअद अध्यक्ष के सलाहकार हरचरन बैंस ने बैठक में लिए गए फैसलों के बारे में बताया कि पार्टी ने केंद्र सरकार के श्री ननकाना साहिब की तीर्थयात्रा को रोक लगाकर धर्मनिष्ठ सिखों की धार्मिक भावनाओं का अपमान किया है। साथ ही पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप घोटाले पर पंजाब के मुख्यमंत्री के रुख पर शिअद अध्यक्ष सुखबीर बादल ने नाराजगी प्रकट की।

कोविड—19 के कारण नहीं थी अनुमति
सुखबीर सिंह बादल ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से भी सवाल किया कि उन्होंने मंजूरी नहीं दिए जाने के मुद्दे को केन्द्र सरकार के समक्ष क्यों नहीं उठाया। दरअसल अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह के नेतृत्व में तीर्थयात्रियों के एक दल को ननकाना साहिब नरसंहार के सौ वर्ष पूरे होने के अवसर पर 18 फरवरी से 25 फरवरी तक पाकिस्तान की यात्रा करनी थी। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के गुरुद्वारों में जाने की इच्छा रखने वाले 600 सिखों को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने वहां सुरक्षा व्यवस्था और कोविड-19 के हालात का हवाला देते हुए जाने की अनुमति नहीं दी थी।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned