scriptवैदपुर खदान को लेकर संत और पूर्व विधायक आमने-सामने, मारपीट, संत समर्थकों ने किया हाईवे जाम,दो किमी तक फंसे वाहन | Saint and former MLA face to face over Vaidpur mine, fight, saint supporters jammed the highway, vehicles stuck for two km | Patrika News
समाचार

वैदपुर खदान को लेकर संत और पूर्व विधायक आमने-सामने, मारपीट, संत समर्थकों ने किया हाईवे जाम,दो किमी तक फंसे वाहन

टीकमगढ़. हाल ही में शासन द्वारा वैदपुर में डायस्पोर पायरोफ्लाइट की खदान स्वीकृत की गई है। इस खदान को लेकर महंत सीताराम दास और छतरपुर से कांग्रेस के पूर्व विधायक आलोक चतुर्वेदी आमने-सामने आ गए हैं। महंत ने जहां पूर्व विधायक पर अपने साथियों के साथ मंदिर में घुसकर मारपीट करने के आरोप लगाए हैं […]

सागरJun 22, 2024 / 09:08 pm

प्रवेंद्र तोमर

  • टीकमगढ़-छतरपुर हाईवे पर चार घंटे से लगा जाम, सैकड़ों वाहन भी फंसे, दूसरे रास्ते से निकाले गए
  • संत ने लगाए मारपीट के आरोप, पूर्व विधायक बोले- संत के पीछे दूसरे लोग, सामने आ रहे सबके चेहरे
टीकमगढ़. हाल ही में शासन द्वारा वैदपुर में डायस्पोर पायरोफ्लाइट की खदान स्वीकृत की गई है। इस खदान को लेकर महंत सीताराम दास और छतरपुर से कांग्रेस के पूर्व विधायक आलोक चतुर्वेदी आमने-सामने आ गए हैं। महंत ने जहां पूर्व विधायक पर अपने साथियों के साथ मंदिर में घुसकर मारपीट करने के आरोप लगाए हैं तो पूर्व विधायक ने ऐसा कुछ न होने और संत के द्वारा ही लाठी घुमाने की बात कही है।
चार घंटे से ज्यादा लगा जाम
विवाद के बाद शनिवार शाम 4 बजे के लगभग धजरई धाम के महंत सीतारामदास महाराज ने अपने समर्थकों के साथ टीकमगढ़-छतरपुर हाईवे पर जाम लगा दिया, रात आठ बजे तक जाम लगा हुआ है, इसमें सैकड़ों वाहन जाम में फंसे हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने वाहनों को दूसरे रास्ते से निकालना शुरू कर दिया है। वहीं प्रशासन संत और उनके समर्थकों को मनाने जुटा है।
एक दूसरे पर लगा रहे आरोप
संत का आरोप है कि वह अपने कक्ष में थे और पूर्व विधायक पज्जन चतुर्वेदी ने अपने साथी अनीस खान के साथ मंदिर पहुंच कर उनके साथ मारपीट की है। यह जानकारी मिलते ही टीकमगढ़ के पूर्व विधायक राकेश गिरि, राहुल सिंह लोधी के साथ ही भाजपा जिलाध्यक्ष अमित नुना सहित अन्य लोग धजरई पहुंच गए और वह भी धरने पर बैठ गए। यह लोग पज्जन चतुर्वेदी पर मामला दर्ज कर गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। महंत सीतारामदास का कहना था कि वह पर्यावरण संरक्षण को लेकर वैदपुर खदान का विरोध कर रहे हैं। यहां पर खनन होने पर पेड़ काटे जाएंगे। ऐसे में वह इस क्षेत्र में खदान संचालन न करने की मांग कर रहे है। इसे लेकर वह शनिवार को वैदपुर भी गए थे।
कुछ लोग इसके पीछे है
वहीं इस मामले में छतरपुर के पूर्व विधायक पज्जन चतुर्वेदी का पक्ष सामने आया है। उनका कहना है कि उन्हें सूचना मिली थी कि खदान पर सीतारामदास महाराज आए थे और अपने साथियों के साथ फैंसिंग उखाड़ गए हैं। वहां पर अभी प्राथमिक काम चल रहा है। इस पर उन्होंने फोन पर उनसे बात करने की कोशिश की तो उन्होंने बात नहीं की। इस पर उनसे मिलने के लिए आश्रम पहुंचे तो वह बात करने को राजी नहीं हुए और मोबाइल निकाल कर वीडियो बनाने लगे। ऐसा लगा कि सब कुछ पूर्व रचित है। उनका कहना था कि इसके पीछे कुछ लोग लगे हुए हैं और अब वह सामने आने लगे हैं। उनका कहना था कि प्रशासन को पूरे मामले की जांच करनी चाहिए।
चार थानों की पुलिस रही तैनात
घटना की सूचना मिलते ही टीकमगढ़ एसडीओपी राहुल कटरे के साथ ही जतारा एसडीओपी अभिषेक गौतम के साथ ही कोतवाली, जतारा, बल्देवगढ़ और देहात थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई। यह अधिकारी महंत सीतारामदास महाराज को समझाने का प्रयास करते रहे, लेकिन वह नहीं माने। इस दौरान बड़ी संख्या में लोग सड़क पर बैठे रहे। ऐसे में यह पूरा मार्ग बंद रहा और दर्जनों की संख्या में वाहन दोनों ओर खड़े रहे। वहीं बाद में सूचना मिलने पर वाहन चालक मार्ग बदल कर छतरपुर और टीकमगढ़ के लिए आते रहे।

Hindi News/ News Bulletin / वैदपुर खदान को लेकर संत और पूर्व विधायक आमने-सामने, मारपीट, संत समर्थकों ने किया हाईवे जाम,दो किमी तक फंसे वाहन

ट्रेंडिंग वीडियो