scriptSharadiya Navratri: Goddess will be established between faith, enthus | शारदीय नवरात्रि: आस्था, उत्साह के बीच होगी देवी स्थापना | Patrika News

शारदीय नवरात्रि: आस्था, उत्साह के बीच होगी देवी स्थापना

Published: Sep 26, 2022 12:57:37 am

Submitted by:

Shailendra shirsath

बाजारों में उमड़ी भीड़, कई बार लगा जाम

शारदीय नवरात्रि: आस्था, उत्साह के बीच होगी देवी स्थापना
शारदीय नवरात्रि: आस्था, उत्साह के बीच होगी देवी स्थापना
डॉ. आंबेडकर नगर (महू). आस्था, उत्साह के साथ आज घरों और सार्वजनिक पंडालों देवी स्थापना होगी। इसके साथ ही 9 दिनों तक माता की भक्तिमें श्रद्धालु लीन रहेंगे। जगह-जगह पंडालों में गरबा-डांडिया रास होगा। इधर, धारनाका में सुबह से ही डोल-धमाकों के साथ मुर्तिकारों के यहां से लोग मुर्तियां ले गए। इधर, नवरात्रि की खरीदारी को लेकर दोपहर से ही एमजी रोड सहित सभी मुख्य बाजारों में रोनक छा गई थी। भीड़ इतनी थी कि कई बार जाम की स्थिति बनी। यातायात पुलिस व्यवस्था संभालते रही। शाम को सुरक्षा को देखते हुए शांति समिति की बैठक का आयोजन भी हुआ।
नवरात्रि को लेकर रविवार सुबह से ही बाजारों में भीड़ उमडऩे लगी थी। एमजी रोड पर दोपहर में जाम की स्थिति बनने लगी थी। पूजा की दुकानों पर जमकर खरीददारी हुई। इधर, धारनाके पर सुबह से ही लोगों पहले से आर्डर देने के देवी प्रतिमा लेने पहुंचे। यहां डोल-ताशे के साथ लोग प्रतिमा लेकर अपने शहर के लिए रवाना हुए।
मां आशापूर्णा धाम पर लगेगा भक्तों का मेला
विंध्याचल पर्वत पर स्थित अति प्राचीन मां आशापूर्णा मंदिर बेहद ही चमत्कारिक है। यहां आने वाले श्रद्धालुओं की मनोकामना मां सहज ही पूरी कर देती है। मनोकामना पूर्ण होने के बाद श्रद्धालु यहां माताजी को शृंगार सामग्री और प्रसाद चढ़ाने के लिए साल भर आते हैं। सोमवार सुबह ब्रह्मम मुहूर्त में मां आशापूर्णा का पंचामृत से अभिषेक होगा जिसके बाद हवन-पूजन कर माता का शृंगार किया जाएगा, जिसके बाद महाआरती होगी। पिछले 2 वर्षों से कोरोना के चलते हैं यहां बड़े आयोजन नहीं हो पाए। पंडित विकास गोस्वामी ने बताया, मंदिर पर आकर्षक विद्युत सज्जा की गई है। माताजी का प्रतिदिन अभिषेक कर शृंगार किया जाएगा और प्रसादी का वितरण किया जाएगा इसी के साथ ही नगर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में माताजी की प्रतिमाएं पंडालों में स्थापित कि जाएगी जहां बालक बालिकाओं द्वारा प्रतिदिन डांडिया खेले जाएंगे
मंदिर का इतिहास
मां आशापुरा मंदिर का इतिहास सैकड़ों वर्ष पुराना है। बताया जाता है कि राजस्थान के राजा मानसिंह जब मांडव पर चढ़ाई करने के लिए आए तब उन्होंने अपनी सैनिकों के साथ मानपुर में पड़ाव डाला और युद्ध की योजना तैयार की है। मां आशापूर्णा राजा मानसिंह की कुलदेवी है। राजा मानसिंह ने युद्ध में विजय होने पर माताजी के मंदिर निर्माण की मनोकामना की जिसके बाद राजा मानसिंह युद्ध में मांडू को जीत लिया और फिर विंध्याचल पर्वत मां आशापूर्णा के मंदिर का निर्माण कराया

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

दिल्ली में श्रद्धा मर्डर जैसा एक और केस, शव के टुकड़े कर फ्रिज में रखा, मां-बेटा गिरफ्तारगुजरात चुनाव में 'आप' को झटका, वसंत खेतानी भाजपा में शामिल केजरीवाल निराशागुजरात चुनाव: भाजपा के पूर्व मंत्री जय नारायण व्यास बेटे के साथ कांग्रेस में शामिलFIFA 2022 : मोरक्को से हारने पर बेल्जियम में दंगा, पथराव के दौरान दागे आंसू गैस के गोले, कई गिरफ्तारएनालिसिस: मुुलायम की सीट बचाने में कहीं सपा के हाथ से निकल न जाए आजम का गढ़रूबी आ‌सिफ खान बोलीं- भगवान श्रीराम ही हमारे पैंगबर थे, सबसे श्रेष्ठ है सनातन धर्मGujarat assembly elections 2022: कच्छ-सौराष्ट्र- कौन होगा खुश और कौन फुस्सCG Breaking : बीजेपी प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम को गिरफ्तार करने कांकेर पहुंची झारखंड पुलिस , गुड्डू सोनी और नरेश सोनी के घर दबिश दी, अब चारामा रवाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.